पूर्व मिस इंडिया, सोशल एक्टिविस्ट, फिटनेस आइकन और पॉलिटिशियन रह चुकीं गुल पनाग आज अपना 43वां बर्थडे मना रही हैं। आज का दिन उनके लिए बेहद खास हैं। वह अपने जीवन में इतनी सफलता हासिल कर चुकी हैं कि वह भारत की करोड़ों महिलाओं के लिए एक इंस्पिरेशन हैं। आज हम आपको गुल पनाग से जुड़ी कई बातें बताएंगे। जिन्हें आपको जरूर जानना चाहिए। 

 

गुल पनाग ने 1999 में मिस इंडिया का खिताब जीता था और इसके बाद उन्होंने सिल्वर स्क्रीन की तरफ कदम बढ़ाए। उन्होंने 'धूप', 'मनोरमा सिक्स फीट अंडर', 'डोर' जैसी लीक से हटकर फिल्में की हैं और इन किरदारों में वह काफी इंप्रैसिव नजर आईं। गुल पनाग की जिस तरह की पर्सनेलिटी है और जिस पैशन के साथ वह जीती हैं, उसे देखते हुए कहा जा सकता है कि वह 'ब्यूटी विद ब्रेन्स' की एक बेहतरीन मिसाल हैं।  

gul panag fitness icon pinkathon social worker expert biker women inspiration breast cancer awareness inside

सोशल इशुज पर खुलकर करती हैं बात

गुल पनाग सोशल नेटवर्किंग साइट्सपर काफी एक्टिव रहती हैं। पॉलिटिकल और सोशल इशुज पर वह खुलकर बात करने में यकीन रखती हैं। गुल उन सेलेब्रिटीज में शुमार हैं, जिन्हें सबसे ज्यादा रीट्वीट किया जाता है। गुल पनाग के लिए सोशल वर्क एक पैशन है। गुल कर्नल शमशेर सिंह फाउंडेशन रन करती हैं, यह एक एनजीओ है जो जेंडर इक्वॉलिटी, एजुकेशन और डिजास्टर मैनेजमेंट के लिए काम करता है। गुल ने इंडिया अगेंस्ट करप्शन मूवमेंट में भी बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया था।

इसे जरूर पढ़ें- इन '5 मास्टरशेफ्स' ने बेहतरीन पाक कला से पाई कामयाबी, जानिए इनकी दिलचस्प कहानी

गुल पनाग ने महिलाओं के लिए बने परंपरागत स्टीरियोटाइप्स को तोड़ा है। गुल एक इंडिपेंडेंट लाइफ जीती हैं और अपनी जिंदगी के फैसले खुद लेने में यकीन रखती हैं। उनका मानना है कि महिलाओं पर किसी तरह की बंदिश नहीं होनी चाहिए और उन्हें अपनी तरह से जिंदगी जीने का पूरा हक है। गुल को ऐसी पर्सनेलिटीज अच्छी लगती हैं, जिन्होंने अपनी लाइफ में स्टीरियोटाइप्स को तोड़कर एक नई शुरुआत की। 

gul panag fitness icon pinkathon social worker expert biker women inspiration breast cancer awareness inside

'हर महिला को है अपना metoo मोमेंट बताने का हक'

गुल महिला सशक्तिकरण की दिशा में काम होने की बात करती हैं। गुल कहती हैं, 'मुझे इस बात की खुशी है कि हमारे देश में #MeToo की शुरुआत हो चुकी है। महिलाओं के लिए सुरक्षित और अपनी बात कहने के लिए कंफर्टेबल माहौल मिलना हमारी पहली प्रायोरिटी होना चाहिए। चाहें वह महिला एक दिन बाद बोले, 10 दिन बाद बोले या 10 साल बाद बोले, यह पूरी तरह उसकी इच्छा पर निर्भर करता है। यह बहुत हिम्मत की बात है। किसी को इस बात का अहसास नहीं होता कि पीड़िता किन हालात से गुजरी है और किसी को भी इस बात का हक नहीं है कि वह उसकी चॉइसेस के लिए उस पर सवाल खड़े करे। अगर महिला किसी पर सवाल खड़े करती है, तो अपराधी घोषित करने का फैसला कोर्ट को करना ना कि सोशल मीडिया को या इलेक्ट्रॉनिक मीडिया को, या मुझे और आपको। आपराधिक तत्वों और उन्हें सपोर्ट करने वालों पर अंकुश लगाया जाना चाहिए, लेकिन साथ ही न्यायिक प्रक्रिया पूरी होने तक सभी को अपनी बात रखने का पूरा मौका मिलना चाहिए।'   

इसे जरूर पढ़ें- नेहा धूपिया महिलाओं को देती हैं इंडिपेंडेंट लाइफ जीने का संदेश

Recommended Video

पीड़िता को मिले कानूनी मदद

गुल महिलाओं को उनकी कानूनी लड़ाई के लिए मदद दिलाए जाने के हक में हैं। वह कहती हैं, 'ज्यादती या हिंसा का सामने करने वाली महिलाएं तभी इंसाफ पा सकती हैं, जब अदालती प्रक्रिया पूरी हो जाए, लेकिन ये भी देखने में आता है कि महिलाओं को अपनी लड़ाई लड़ने के लिए सपोर्टिव माहौल नहीं मिल पाता। ऐसे में या तो महिलाएं संघर्ष नहीं करती हैं या फिर वे बीच में ही पीछे हट जाती हैं। हमारी व्यवस्था ऐसी होनी चाहिए कि गलत करने वालों को सजा मिले। साथ ही यह भी देखे जाने की जरूरत है कि निर्दोष को सजा ना मिले। हमारी कानूनी प्रक्रियाएं ऐसी होनी चाहिए, जहां महिलाएं जाकर मदद ले सकें, जहां उन्हें असहज महसूस ना कराया जाए या उनकी हंसी ना की जाए।'  

फिटनेस आइकन हैं गुल

गुल पिछले 20 साल से रनिंग कर रही हैं और वह देश की महिलाओं के लिए एक परफेक्ट फिटनेस आइकन हैं। साल 2013 में गुल पिंकेथॉन की ब्रांड एंबेसेडर भी बनी थीं। पिंकेथॉन ब्रेस्ट कैंसरजैसी बीमारी, महिलाओं की हेल्थ और फिटनेस के लिए जागरूक बनाने को लेकर शुरू किया गया था। इसके अलावा गुल हेल्दी लिविंग में यकीन रखती हैं, वह डाइट लेने के मामले में भी पूरी तरह डिसिप्लिन्ड हैं। 

बाइकिंग से है प्यार

gul panag fitness icon pinkathon social worker expert biker women inspiration breast cancer awareness inside

गुल पनाग फिल्म टर्निंग 30 में बाइक पर सवारी करते नजर आई थीं। अपनी शादी के मौके पर गुल अपने पति ऋषि अत्री के साथ रॉयल एनफील्ड पर बैठी नजर आई थीं। सिर्फ यही नहीं, उनकी बारात में कम से कम 20 रॉयल एनफील्ड आई थीं, जिनमें से कुछ पर महिलाएं भी सवार थीं। 

गुल पनाग की हैप्पी फैमिली

गुल पनाग ने अपने क्लासमेट और लंबे वक्त तक बॉयफ्रेंड रहे ऋषि अत्री से पूरी धूमधाम से शादी की थी। ऋषि जेट एयरवेज में कमर्शियल पायलट हैं। गुल की नन्ही सी बेटी है और अपनी इस प्यारी सी फैमिली के साथ गुल जिंदगी के सबसे खुशगवार लम्हे सेलिब्रेट कर रही हैं।