बिहार की रहने वाली रजिया सुल्ताना की कहानी हर किसी को प्रेरणा दे रही है। रजिया ने बीपीएससी की परीक्षा को पहली बार में ही क्रैक कर लिया है, अपनी सफलता से उन्होंने परिवार का ही नहीं बल्कि अपने राज्य का भी नाम रौशन किया है। बीपीएससी की 64वीं परीक्षा में रजिया का चयन डीएसपी पद के लिए हुआ है। रजिया बिहार की पहली मुस्लिम महिला हैं जो बीपीएससी की परीक्षा में सफलता हासिल करने के बाद डायरेक्ट डीएसपी बनी हैं। उनकी इस सफलता को देखते हुए लोग सोशल मीडिया पर रजिया की सराहना कर रहे हैं।

रजिया बिहार में गोपालगंज के हथुआ के रतनचक की रहने वाली हैं। वहीं बताया जाता है कि इससे पहले बिहार में कोई मुस्लिम महिला इतने बड़े पद के लिए चयनित नहीं हुई है। ऐसे में रजिया उन तमाम महिलाओं के लिए प्रेरणास्त्रोत हैं, जो डीएसपी बनने का सपना देखती हैं।

रजिया ने पहली बार में ही क्रैक की बीपीएससी की परीक्षा

bpsc exam age

रजिया ने पहली बार में ही बीपीएससी की परीक्षा में सफलता हासिल की है। इस परीक्षा में सफलता पाने के लिए छात्र काफी सालों तक मेहनत करते हैं, लेकिन पहली बार में इसे क्रैक करना वाकई क़ाबिल ए तारीफ है। प्राथमिक शिक्षा की बात करें तो रजिया ने झारखंड के बोकारो से 10वीं और 12वीं की पढ़ाई पूरी की है। इसके बाद वह जोधपुर चली गईं, जहां से उन्होंने इलेक्ट्रिक इंजीनियरिंग में स्नातक किया। बता दें कि इस बार 14,454 सफल कैंडिडेट्स में से राज्य की प्रशासनिक सेवा के लिए कुल 98 मुस्लिम उम्मीदवारों ने बीपीएससी परीक्षा उत्तीर्ण की है। बीपीएससी की परीक्षा में इन कैंडिडेट्स को मिली सफलता सराहनीय है। वहीं बीपीएससी की 64वीं परीक्षा का रिजल्ट 6 जून को घोषित कर दिया गया था। जिसमें बिहार फतुहां के ओम प्रकाश टॉपर बने हैं। इसके अलावा दूसरे और तीसरे स्थान पर विद्यासागर और अनुराग आनंद हैं।

इसे भी पढ़ें: Sonali Mehndi Artist: मुंबई के जुहू बीच से इंस्‍टाग्राम तक का सफर, कुछ यूं किया तय

नौकरी के दौरान सेल्फ स्टडी कर पाई सफलता

bpsc exam about

इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी करने के बाद रजिया 2017 से बिजली विभाग में सहायक अभियंता के पद पर कार्यरत हैं। उन्होंने मीडिया को बताया कि काम के साथ ही उन्होंने बीपीएससी की भी तैयारी की। इसके लिए पटना में कोचिंग करना चाहती थीं, लेकिन वहां कोचिंग हिंदी में होती है, जिसके लिए वह सहज नहीं थीं। इसलिए उन्होंने सेल्फ स्टडी शुरू कर दी और अंग्रेज़ी मीडियम में सभी पेपर दिए। रजिया का सब्जेक्ट श्रम एवं समाज कल्याण था। फिलहाल उनकी यूपीएससी की तैयारी करने की कोई प्लानिंग नहीं है। वहीं डीएसपी बनने के बाद उनकी पहली प्राथमिकता क्राइम कंट्रोल होगी। इसके अलावा वह महिलाओं से जुड़ी वारदात और घरेलू हिंसा पर रोक लगाने का प्रयास करेंगी।

इसे भी पढ़ें: बारामुला की सबसे बुजुर्ग महिला को लगी वैक्सीन, राशन कार्ड में 124 साल दर्ज है उम्र

Recommended Video

सात भाई-बहनों में सबसे छोटी हैं रजिया सुल्ताना

रजिया के पिता बोकारो स्टील प्लांट में स्टेनोग्राफर के पद पर कार्यरत थे, लेकिन कुछ समय पहले उनका इंतकाल हो चुका है। सात भाई-बहनों में रजिया सबसे छोटी हैं। उनका एक ही भाई है जो एमबीए की पढ़ाई पूरी करने के बाद झांसी की एक निजी कंपनी में काम करता है।

अगर आपको यह आर्टिकल अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य आर्टिकल पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।