अगर महिला ये ठान लें की हमें ये कम करना है तो दुनिया में ऐसी कोई भी काम नहीं जिसे वो नहीं कर सकती हैं। हाल में ही हम सबने एक खबर देखी और सुनी थी कि एयर इण्डिया की 4 महिला पायलटों की एक टीम ने विश्व के सबसे लंबे हवाई मार्ग पर उड़ान भरकर दुनिया के लिए एक नया इतिहास रच दिया था। एक अन्य खबर में 'भारत में पहली बार मालगाड़ी ट्रेन चलाने वाली पायलट से लेकर गार्ड तक सभी महिलाएं' ही थी। ऐसे कई इतिहास के लिए आज भारतीय महिलाएं एक मिसाल के तौर पर देखी जा सकती हैं।

कुछ इसी तरह का एक नया कीर्तिमान मूल रूप से जम्मू कश्मीर की रहने वाली आयशा अजीज ने देश के सामने प्रस्तुत किया है। महज 25 साल के उम्र में आयशा ने महिला पायलट बनकर देश के लिए एक नया इतिहास रच दिया है। आज वो लाखों महिलाओं के लिए सशक्तिकरण का प्रतीक भी है। 

इसे भी पढ़ें: एयर इंडिया की फ्लाइट जिसमें सभी क्रू मेंबर्स महिलाएं हैं ने सबसे लंबे रूट की दूरी तय करके रचा इतिहास


न्यू एजेंसी  ANI के अनुसार आयशा अजीज सबसे क्रम उम्र में देश की महिला पायलट बन गई हैं। ANI ने ट्विट करते हुए लिखा है कि जम्मू-कश्मीर की आयशा अजीज ने अपने बारे में बताया कि उन्हें यात्रा के दौरान लोगों से मिलना अच्छा लगता है इसलिए पायलट बनाने के निर्णय लिया। (कश्मीर की पहली महिला पावर लिफ्टिंग)

16 साल की उम्र में पायलट 

ayesha aziz youngest indian female pilot story INSIDE

आयशा अजीज के बारे में कहा जा रहा है कि साल 2011 में महज 11 साल की उम्र में ही लाइसेंस लेने के बाद आयशा स्‍टूडेंट पायलट बन गई थीं। आगे कहा जाता है कि 2011 के अगले साल ही उन्होंने रूस के एक जेट को उड़ाने का भी प्रशिक्षण प्राप्त किया। महज 16 साल की उम्र में ही ट्रेनिंग लिया और फिर साल 2017 में आयशा को बॉम्बे फ्लाइंग क्लब से उन्हें कमर्शियल लाइसेंस मिल गया था। 

Recommended Video

न्यू एजेंसी  ANI से बात करते हुए आयशा ने जिक्र किया कि 'इस पेशे में मानसिक स्थिति बहुत मजबूत होनी चाहिए और मुझे बचपन से ही यात्रियों को एक जगह से दूसरे जगह ले जाना बहुत पसंद था। यही कारण है कि मैं एक पायलट बनाना चाहती थी।

ayesha aziz youngest indian female pilot INSIDE

इसे भी पढ़ें: भारतीय मूल की रश्मि सामंत ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी स्टूडेंट यूनियन की पहली महिला अध्यक्ष बनीं


जम्मू-कश्मीर की इन महिलाओं ने भी रचा इतिहास 

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि पिछले कुछ दिनों में जम्मू-कश्मीर की अन्य कई महिलाओं ने भी इतिहास रचकर अपना नाम दर्ज किया है। जैसे-कश्मीर की साइमा उबैद पावर लिफ्टिंग में करियर बनाने वाली कश्मीर की पहली महिला हाल में ही बनी है। जम्मू-कश्मीर से ही पूजा देवी पहली महिला बस ड्राइवर बनकर सबसे सामने मिसाल प्रस्तुत किया। 

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें, और इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़े रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit:(@twitter)