हाथों की खूबसूरती में नाखूनों और नाखूनों की खूबसूरती में नेल पेंट अहम होता है। लड़कियों के हाथ सुंदर नेल्स के कारण से ज्यादा अट्रैक्टिव लगते हैं। ज्‍यादातर लड़कियां नेल पेंट लगाने की बेहद शौकीन होती है। वह हफ्ते में एक बार तो इसे लगाती ही हैं। यहां तक कि कुछ लड़कियां तो आजकल जोरों-शोरो से चल रहे perfect नेल art से nails को और भी attractive बना देती हैं। लेकिन नेल पेंट लगाने वाली लड़कियां, एक बात को हमेशा नजरअंदाज कर देती हैं कि नेल पेंट जितना आपकी खूबसूरती में चार चांद लगाता है, उतना ही आपकी हेल्‍थ को नुकसान पहुंचाता है। हद से ज्यादा इस्तेमाल करने से नाखून कमजोर, क्रैक, ड्राई और पीले पड़ने लगते हैं। साथ ही उनकी चमक कम होने लगती हैं।  

Nail paint के लगातार इस्तेमाल से आपके नाखूनों को नुकसान पहुंचता है। लेकिन परेशान न हो हम आपको नेल पेंट लगाने से नहीं रोक रहे हैं, बल्कि Duke University and the Environmental Working Group (EWG) के researchers द्वारा nail paint में इस्तेमाल किए जाने वाले खतरनाक ingredients से आपकी हेल्‍थ पर पड़ने वाले बुरे असर के बारे में बता रहे हैं।

एलर्जी

Formaldehyde एक ऐसा केमिकल है, जिसका इस्‍तेमाल preservative के तौर पर किया जाता है। त्वचा के संपर्क में आने पर इस केमिकल से खुजली की समस्या हो जाती है। इस एलर्जी के बढ़ने पर आपको गंभीर समस्‍याओं का सामना करना पड़ सकता हैं।

सिरदर्द 

Dibutyl Phthalate नामक chemical का इस्‍तेमाल nail paints को लचीला बनाने और nail paint में fragrance डालने के लिए किया जाता है। इसके कारण थकान, सुस्‍ती व सिरदर्द की समस्‍या हो सकती है। साथ ही यह केमिकल महिलाओं के reproductive tract को नुकसान पहुंचाता है।

सेंट्रल नर्वस सिस्टम को नुकसान

Nail paint में स्‍मूथ फिनिशिंग के लिए toluene नाम के केमिकल का इस्‍तेमाल किया जाता है। शोधकर्ताओं के अनुसार ये chemical आमतौर पर car में fuel डालने वाले गैसोलीन में इस्तेमाल किया जाता है। जब यह chemical हमारे नाखून के संपर्क में आता है, तो धीरे-धीरे नाखूनों के सेल्‍स से निकलता हुआ बॉडी के अन्य सेल्‍स से भी अपना संपर्क बना लेता है। जिससे ये सेंट्रल नर्वस सिस्टम को नुकसान पहुंचा सकता है साथ ही प्रजनन से जुड़ी समस्याएं भी हो सकती हैं। यहां तक कि अच्छी कंपनी के नेल पेंट इस्तेमाल न करने से आपको सिरदर्द से लेकर कमजोरी तक हो सकती है।

फेफड़ों की समस्या

अगली जिस चीज का इस्तेमाल नेल पेंट बनाने के लिए किया जाता है, उसे जानकर आप और भी डर जाएंगे। तो आपको बता दें कि नेल पेंट बनाने में spirit का भी इस्तेमाल किया जाता है, जो फेफड़ों को बुरी तरह से प्रभावित करता है। जी हां नेल पेंट से आने वाली तेज महक इसी spirit के कारण होती है। जब हम इसे लगाते हैं तब यह महक सांस द्वारा lungs तक पहुंचती है।

तो अगली बार nail paint खरीदने से पहले जरा सा ध्यान दे, ये आपकी जिन्दगी का सवाल है।

Read more: 'भाभी जी घर पर हैं की अंगूरी भाभी' क्‍यों केवल लगाती हैं कोलकाता का सिंदूर?