आजकल टेक्नोलॉजी ने काफी तरक्की कर ली है, जिसके चलते हमारे बहुत सारे काम आसान हो गए हैं। इन कामों के लिए अब हमें भागना नहीं पड़ता बस घर बैठे एक ही क्लिक में झटपट सबकुछ जो जाता है। इसी तरह ऑनलाइन पैसे ट्रांसफर करना भी बेहद आसान काम हो गया है, जिसके लिए अब बैंक जाकर लंबी लाइन नहीं लगानी पड़ती। साथ ही, आप जब चाहे और जैसे चाहे फंड किसी को भी ट्रांसफर कर सकते हैं। वैसे तो फंड ट्रांसफर करने के कई तरीके हैं, लेकिन इस आर्टिकल में हम बात करेंगे इमिडिएट पेमेंट सर्विस यानि की IMPS मनी ट्रांसफर की। इसके जरिए आप चंद सेकंडों में किसी की रुकी हुई पेमेंट दे सकते हैं। 

क्या होता है IMPS?

imps daily transaction limit hindi

नेफ्ट और आरटीजीएस की तरह IMPS से भी आप किसी को भी पैसे भेज सकते हैं। साल 2010 में नेशनल पेमेंट कारपोरेशन ऑफ़ इंडिया (NPCI) और रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया (RBI) ने इसकी शुरुआत की थी। इसे बैंक एकाउंट्स के बीच पैसे ट्रांसफर करने का सबसे विश्वसनीय तरीका माना जाता है। वहीं, अगर आप इसके जरिए पैसे ट्रांसफर करना चाहते हैं तो जरूरी है कि आपका मोबाइल नंबर बैंक अकाउंट से रजिस्टर्ड हो। साथ ही, आपने अपने बैंक से मोबाइल बैंकिंग सर्विसेज एक्टिवेट करवा ली हों। बैंक की ओर से मोबाइल बैंकिंग शुरू करने के लिए आपको मोबाइल मनी आइडेंटिफायर और मोबाइल पिन मिलेगा। आपको पासवर्ड के तौर पर मोबाइल पिन  इस्तेमाल करना होता है। इसके जरिए ही आप अपने बैंक अकाउंट से किसी और अकाउंट को लिंक करके उसे फंड ट्रांसफर कर सकते हैं। 

पहले जानिए IMPS के बारे में

imps limit

  • इसके जरिए आप हर दिन एक लाख रूपए तक का लेन-देन कर सकते हैं।
  • IMPS इस्तेमाल करने पर हर बैंक एक चार्ज लेता है। ये पांच से 15 रुपये के बीच होता है। हर बैंक के IMPS को लेकर अलग-अलग चार्ज होते हैं, जिनके बारे में आप बैंक से पता कर सकते हैं।
  • IMPS का इस्तेमाल करने पर एक अतिरिक्त सेवा कर भी लगा सकता है।
  • इमिडिएट पेमेंट सर्विस एक मजबूत, रीयल-टाइम फंड ट्रांसफर विकल्प है जो 24*7 इंटर-बैंक फंड ट्रांसफर सुविधा प्रदान करता है।
  • IMPS देश भर के बैंकों के भीतर तुरंत फंड ट्रांसफर करता है, जो सभी यूजर्स के लिए सुरक्षित और किफायती है।

इसे जरूर पढ़ें: कैसे बंद करें अपना पुराना SBI बैंक अकाउंट?

क्या हैं IMPS इस्तेमाल करने के फायदे?

Inside

चूंकि, IMPS के जरिए सेफ फंड ट्रांसफर किया जा सकता है, इसलिए जरूरी है कि आप इसके फायदों के बारे में जान लीजिए।

  • IMPS पैसे ट्रांसफर करने का तेज़, सुरक्षित और विश्वसनीय तरीका है।
  • ये सेवा इंटरनेट बैंकिंग और मोबाइल प्लेटफॉर्म दोनों पर काम करती है।
  • इस तत्काल भुगतान सेवा को सार्वजनिक और बैंक की छुट्टियों पर भी एक्सेस किया जा सकता है। इसका मतलब आप इसे हर समय इस्तेमाल कर सकते हैं। 
  • मोबाइल फोन के माध्यम से किए गए IMPS लेनदेन के लिए बैंक अकाउंट नंबर की जरूरत नहीं होती है।
  • IMPS लेनदेन पूरा होने पर, भुगतानकर्ता और प्राप्तकर्ता दोनों को बैंक द्वारा तुरंत मैसेज के जरिए सूचित किया जाता है।
  • एक बैंक खाते से दूसरे बैंक खाते में पैसे ट्रांसफर करने के अलावा, IMPS का उपयोग भुगतान प्राप्त करने, अन्य व्यापारियों को भुगतान करने, मोबाइल बैंकिंग लेनदेन करने आदि के लिए भी किया जा सकता है।

इसे जरूर पढ़ें: 100, 200, 500 और 2000 रुपए के एक नोट को छापने में खर्च होते हैं इतने रुपए

Recommended Video

IMPS से फंड ट्रांसफर कैसे करें?

imps

  • अपने मोबाइल/इंटरनेट बैंकिंग अकाउंट में लॉगिन करें।
  • इसके बाद आपके सामने एक मेन पेज खुलकर आएगा जिसपर 'फंड ट्रांसफर' का ऑप्शन दिखेगा, इसपर क्लिक करिए।
  • फंड ट्रांसफर की अपनी विधि के रूप में 'आईएमपीएस' चुनें।
  • आगे बढ़ने के लिए लाभार्थी का MMID और अपना MPIN यहां डालिए।
  • वह राशि यहां पर दर्ज करिए जिसे ट्रांसफर करने की जरूरत है। 
  • 'कन्फर्म' पर क्लिक करिए।
  • आपको अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर भेजे गए ओटीपी को जमा करके लेनदेन को कन्फर्म करने के लिए कहा जा सकता है।
  • ओटीपी डालकर फंड ट्रांसफर पूरा कीजिये। 

उम्मीद है कि आपको IMPS से फंड ट्रांसफर करने का तरीका समझ में आया होगा। आपको हमारा ये आर्टिकल कैसा लगा हमें इस बारे में जरूर बताएं।

Image Credit: Freepik.com