• ENG
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search

साइंस स्ट्रीम के स्टूडेंट्स चुन सकते हैं ये करियर ऑप्शन भी

साइन स्ट्रीम के स्टूडेंट्स ज्यादातर इंजीनियर या डॉक्टर ही बनने का ख्वाब देखते हैं लेकिन आज इस लेख में हम आपको 5 अलग करियर ऑप्शन बताएंगे।  
author-profile
Published -10 Aug 2022, 10:59 ISTUpdated -27 Aug 2022, 15:02 IST
Next
Article
career options for students

साइंस स्ट्रीम यानी फिजिक्स (भौतिक विज्ञान), केमिस्ट्री (रसायन विज्ञान) के साथ गणित या बायोलॉजी (जीव विज्ञान)सब्जेक्ट्स से क्लास 12वीं में पढ़ाई करने के बाद स्टूडेंट्स अक्सर इंजीनियर या डॉक्टर ही बनना चाहते हैं लेकिन अगर आप उन स्टूडेंट्स में से है जो इन सबसे हटकर कोई अलग कोर्स में पढ़ाई कंप्लीट करके अपना कैरियर बनाना चाहते हैं तो आपके पास कई सारे ऑप्शन्स हैं।  

college education

1. डेयरी टेक्नोलॉजी 

12वीं में साइंस सब्जेक्ट से पढ़ाई करने के बाद स्टूडेंट्स 4 साल के ग्रेजुएशन डेयरी टेक्नोलॉजी कोर्स में एडमिशन ले सकते हैं। इस कोर्स में एडमिशन लेने के लिए ऑल इंडिया लेवल पर एंट्रेंस एग्जाम होते हैं। इसके अलावा भी कई ऐसे यूनिवर्सिटी और कॉलेज हैं जो डेयरी टेक्नोलॉजी में दो वर्ष का डिप्लोमा कोर्स भी कराते हैं।

इसे जरूर पढ़ें-7000 रुपए महीने में भी पढ़ सकते हैं विदेश में, इस देश में मिलती है स्टूडेंट्स को आसानी से स्कॉलरशिप

2. अंतरिक्ष विज्ञान   

SCIENCE STUDENTS DIFFERENT COURSES

अंतरिक्ष विज्ञान एक ऐसी फील्ड है जिससे आपके लिए कई करियर ऑप्शन खुल सकते हैं। इस फील्ड में प्लैनेटरी यानी ग्रह सम्बन्धी विज्ञान, एस्ट्रो यानि अंतरिक्ष विज्ञान और कॉस्मोलॉजी (ब्रह्माण्डविद्या) जैसी भी कई फील्ड्स शामिल हैं। इस में कई कोर्स शामिल हैं और यह कोर्स इसरो यानी भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन और आईआईएससी(भारतीय विज्ञान संस्थान) में कराएं जाते हैं। इसमें आपके लिए तीन साल की बीएससी या चार साल के बीटेक और पीएचडी कोर्स भी शामिल होते हैं। 

इसे जरूर पढ़ें-NIRF Ranking 2022: जानें अपने देश की टॉप यूनिवर्सिटीज के बारे में

3. खगोल भौतिकी 

आपको सितारों और ब्रह्माण्ड के बारे में पढ़ना पसंद है, तो आप 12वीं के बाद खगोल भौतिकी (एस्ट्रो फिजिक्स) में आसानी से करियर बना सकते हैं। आप चार या तीन साल के ग्रेजुएशन कोर्स यानी बीएससी फिजिक्स में एडमिशन ले सकते हैं। और फिर आप एमएससी विज्ञान के ही क्षेत्र में मास्टर की डिग्री कर सकते हैं। एस्ट्रो फिजिक्स में डॉक्टरेट करने के बाद आप किसी अच्छे संस्थान में साइंटिस्ट की पोस्ट पर जॉब भी कर सकते हैं।

4.माइक्रोबायोलॉजी 

इस कोर्स में बैक्टीरिया, वायरस, प्रोटोजोआ जैसे माइक्रो ऑर्गेनिज्म यानी सूक्ष्म जीवाणुओं का अध्ययन किया जाता है। 12वी साइंस सब्जेक्ट्स से करने वाले छात्रों के पास माइक्रोबायोलॉजी कोर्स में करियर करने का भी विकल्प है। इसकी पढ़ाई देश में बहुत ही कम संस्थानों में होती है। 

science career options

लेकिन इस कोर्स में पढ़ाई करने के बाद सरकारी नौकरियों के दरवाजे भी खुल जाते हैं। इस कोर्स के लिए कुछ संस्थानों में एडमिशन लेने के लिए एंट्रेंस टेस्ट क्लीयर करना पड़ सकता है। 

5. बायोटेक्नोलॉजी 

बायोटेक्नोलॉजी की पढ़ाई कई सारे बड़े कॉलेज, यूनिवर्सिटी में ही कराई जाती है। इस कोर्स में तकनीक के इस्तेमाल से संबंधित पढ़ाई होती है। इसके अंतर्गत कई क्षेत्र शामिल हैं जैसे स्वास्थ्य, चिकित्सा,पशुपालन और पर्यावरण आदि इस कोर्स को करने के बाद आपके फार्मा, रिसर्च, एग्रीकल्चर और केमिकल इंडस्ट्री में भी अपना करियर बना सकते हैं। इस कोर्स में आपको डीएनए से सबंधित पाठ्यक्रम पढ़ाये जाते हैं।  

इन सभी कोर्स में आप कई कॉलेज और यूनिवर्सिटी में एडमिशन ले सकते हैं।

उम्मीद है कि आपको ये जानकारी पसंद आई होगी। अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर करना ना भूलें। इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

 

Image credit-freepik

बेहतर अनुभव करने के लिए HerZindagi मोबाइल ऐप डाउनलोड करें

Her Zindagi
Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।