वैसे तो एक छोटे बच्चे के लिए मां का दूध ही सर्वोत्तम माना जाता है। लेकिन कई बार मां का दूध बच्चे के लिए पर्याप्त नहीं होता। ऐसे में उसे बेबी फार्मूला मिल्क देना पड़ता है। यह फार्मूला मिल्क बच्चे के विकास में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। वैसे तो यह मां के दूध का स्थान नहीं ले सकता, लेकिन फिर भी कई बार इसका उपयोग बच्चे के लिए बेहतर ऑप्शन माना जाता है। हालांकि बच्चे को फार्मूला मिल्क देने से पहले आपको कुछ बातों पर खास ध्यान देना होता है। चूंकि, यह ब्रेस्टमिल्क से अलग है, इसलिए आप अपने बच्चे में कुछ बदलाव देख सकती हैं। हालांकि ऐसे में आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है। बस आपको पहले फार्मूला मिल्क से जुड़ी सभी बातों के बारे में जान लेना चाहिए। ताकि बच्चे को इसे डाइजेस्ट करने में कोई परेशानी ना हो और ना ही उसे इस फार्मूला मिल्क से किसी तरह की समस्या हो। तो चलिए जानते हैं इसके बारे में-

चुनें सही फार्मूला मिल्क

right formula milk

जब आपने यह तय कर लिया है कि आप बच्चे को फार्मूला मिल्क देने वाली हैं तो पहले आपको इसके बारे में अच्छी तरह जानना चाहिए। छोटे बच्चों को आमतौर पर तीन तरह के फार्मूला मिल्क दिए जा सकते हैं। पहला है पाउडर, जिसे पानी के साथ मिक्स करके दिया जाता है। दूसरा है concentrates यह लिक्विड होते हैं, लेकिन इन्हें डायलूटेड किया जाना चाहिए। तीसरा, रेडी टू यूज़ लिक्विड होता है, जिन्हें सीधे बोतलों में डाला जा सकता है।

इसे जरूर पढ़ें :जानें क्या है सर्वाइकल कैंसर, लक्षण, निदान और उपचार

हल्का गर्म हो दूध

luke warm formula milk

जब आप बच्चे को शुरूआत में फार्मूला मिल्क दे रही हैं तो कोशिश करें कि वह दूध हल्का गर्म हो या फिर रूम टेंपरेचर पर हो। बच्चे को फार्मूला मिल्क देने से पहले बोतल को गर्म करने की जरूरत नहीं है। शिशु आमतौर पर अपने दूध को गर्म पसंद करते हैं।

Recommended Video

ना करें यह गलती

mistakes in formula milk

कभी भी माइक्रोवेव ओवन में बोतल को गर्म न करें क्योंकि इससे फार्मूला मिल्क असमान रूप से गर्म हो सकता है जो आपके बच्चे की जीभ को जला सकता है। यदि आपका बच्चा गर्म फार्मूले वाले दूध को पसंद करता है, तो बोतल को एक कटोरी गर्म पानी में डालें। इससे भी दूध आसानी से गर्म हो जाएगा।

इसे जरूर पढ़ें : यूटरिन कैंसर हो सकता है खतरनाक, ऐसे करवाएं इसकी स्क्रीनिंग

रखें इसका ध्यान

right formula

अगर आप बच्चे को फार्मूला मिल्क दे रही हैं तो हमेशा प्रॉडक्ट के साथ मिलने वाले स्कूप का ही इस्तेमाल करें। इससे हर बार बच्चे के लिए बनाए जाने वाले दूध का सही अनुपात पता लगाने में मदद मिलती है। इसके अलावा, बच्चे के लिए फार्मूला मिल्क बनाते समय आप हमेशा पहले पानी और फिर उसमें पाउडर को मिक्स करें।

इसे जरूर पढ़ें : कैसे करवाएं ब्रेस्ट कैंसर की स्क्रीनिंग, ये तरीके बताते हैं बीमारी के बारे में

यह है सही तरीका

right way to take formula

अगर आप बच्चे को फार्मूला मिल्क दे रही हैं तो सिर्फ दूध को खत्म करने के लिए बोतल की निप्पल को बच्चे के मुंह में ना डालें। इस दौरान मां का बच्चे के साथ शारीरिक संपर्क बेहद जरूरी है, क्योंकि यह मस्तिष्क के विकास में सहायक है। इसलिए हमेशा अपने बच्चे को फीड कराते समय उसे गोद में लें। फीडिंग सेशन में चैटिंग और सिंगिंग को भी शामिल करें।

अगर आपको यह लेख अच्छा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।