अगर आप चाहती हैं कि हर कोई आपको ‘गुलाबी कली’ के नाम से बुलाए तो आपको अपने रूटीन में गुलाब को शामिल करना होगा। गुलाब जल हो या फिर गुलाब का फूल आप किसी को भी अपने रूटीन का हिस्सा बना सकती हैं। 

गुलाब का फूल दिखने में जितना सुंदर होता है, उतनी ही मनमोहक होती है इस फूल की खुशबू लेकिन यदि आप इस फूल को खाना शुरू कर दें तो होगा सोने पर सुहागा। गुलाब का फूल सिर्फ एक फूल नहीं है बल्कि यह एक बहुत ही उम्दाा किस्म  की दवाई भी है। 

गुलाब की पत्तियों से आपको हेल्थ और ब्यूटी दोनों तरह से फायदा मिलता है। तो चलिए आपको बताते हैं कि आपको कैसे गुलाब को अपने रूटीन में शामिल करना है। 

rose petals eating benefits

दिन की शुरुआत गुलाब के साथ 

अगर आप अपने दिन की शुरुआत ताजगी के साथ करना चाहती हैं तो आप सुबह गुलाब की पंखुरियों की चाय पी सकती हैं और आप इसे बनाते टाइम इसमें शहद भी मिला सकती हैं। 

गुलाब से कीजिए स्नान 

अगर आपको टेंशन ज्यादा होती है तो आप पानी में गुलाब की पंखुरियां डालकर इस पानी से नहा सकती हैं। ऐसा करने से आपका तनाव कम हो जाएगा। गुलाब के पानी से नहाने से आपकी ब्यूटी में भी चारचांद लगेंगे। पुराने समय में राजाओं की रानिया गुलाब जल से नहाया करती थीं जिससे उनकी त्व चा हरदम दमकती रहती थी।

rose petals eating benefits

गुलाब से बनाए चेहरे को ग्लोइंग 

आप गुलाब के इस्तेमाल से अपने चेहरे को ग्लोइंग बना सकती हैं। देसी गुलाब की पंखुरियां खाने से चेहरे के साथ-साथ पूरी बॉडी ग्लो करती है। मतलब यह हुआ कि पूरी बॉडी को ग्लोइंग बनाने के लिए किसी पार्लर में जाकर हजारों रुपये खर्च करने की जरूरत नहीं है। 

rose petals eating benefits

गुलाब की खासियत 

गुलाब का फूल दिखने में जितना सुंदर होता है, उतनी ही मनमोहक होती है इस फूल की खुशबू लेकिन यदि आप इस फूल को खाना शुरू कर दें तो होगा सोने पर सुहागा। गुलाब का फूल सिर्फ एक फूल नहीं है बल्कि यह एक बहुत ही उम्दाा किस्म  की दवाई भी है।

गुलाब के औषधीय गुण पेट के विकार मिटाते हैं। गुलाब के फूल का रस, सौंफ का रस और पुदीने का रस मिलाकर रख लीजिए। इसकी 4 बूंद पानी में मिलाकर पीने से पेट के रोग खत्म होते हैं। खाना खाने के बाद 2 चम्मच गुलकंद की खाएं इससे आप पेट के रोग से बची रहेंगी।