Close
चाहिए कुछ ख़ास?
Search

    एक्सप्रेस, मेल-एक्सप्रेस और सुपरफास्ट ट्रेन में क्या होता है अंतर? आप भी जानें

    अगर आप भी एक्सप्रेस, मेल-एक्सप्रेस और सुपरफास्ट ट्रेन के बीच का अंतर जानना चाहते हैं तो फिर आपको इस आर्टिकल को ज़रूर पढ़ना चाहिए।  
    author-profile
    Updated at - 2022-12-20,19:15 IST
    Next
    Article
    difference between express mail express and superfast train

    मौजूदा दौर में किसी एक शहर से दूसरे शहर या फिर किसी एक राज्य से दूसरे राज्य में जाना हो तो ट्रेन से यात्रा करना बेस्ट माना जाता है। ट्रेन से यात्रा करने पर यात्री सुरक्षित भी रहता और पैसा भी बहुत कम लगता है। इसलिए कई बार भारतीय रेलवे को देश का लाइफ लाइन भी कहा जाता है।

    आप भी ट्रेन से ज़रूर यात्रा करते होंगे। लेकिन अगर आपसे यह सवाल किया जाए कि एक्सप्रेस, मेल-एक्सप्रेस या सुपरफ़ास्ट ट्रेन के बीज में क्या अंतर होता है तो फिर आपका जवाब क्या होगा। शायद इस सवाल का जवाब बहुत से लोग को मालूम भी नहीं होता है। इसलिए कई बार गलत ट्रेन में भी चढ़ जाते हैं।

    ऐसे में अगर आप भी एक्सप्रेस, मेल-एक्सप्रेस या सुपरफ़ास्ट ट्रेन के बीच के अंतर के बारे में जानना चाहते हैं तो फिर आपको इस लेख को ज़रूर पढ़ना चाहिए। आइए जानते हैं।

    मेल-एक्सप्रेस ट्रेन (Mail Express Train)

    Mail Express Train

    इस लेख में सबसे पहले मेल-एक्सप्रेस ट्रेन के बारे जानते हैं। भारतीय रेलवे में एक सिमित प्रति घंटे की औसत से चलने वाली विभिन्न प्रकार की ट्रेन हैं। इन्हीं में से एक है मेल ट्रेन-एक्सप्रेस ट्रेन। मेल-एक्सप्रेस मुख्य रूप से प्रमुख शहरों के साथ-साथ लंबी दूर के स्टेशनों को जोड़ती है। (भारत की 4 सबसे लंबी ट्रेन)

    मेल-एक्सप्रेस ट्रेन की स्पीड सुपरफ़ास्ट के मुकाबले कम होती है। यह ट्रेन लगभग 50 किमी प्रति घंटे की स्पीड से चलती है। यह जगह-जगह रुक-रुक कर चलती है। कई बार यह हाल्ट (स्टेशन) पर भी रूकती रहती है। अमूमन मेल-एक्सप्रेस का नंबर 123 ___ आदि से शुरू होता है। जैसे-पंजाब मेल, मुंबई मेल, कालका मेल।   

    इसे भी पढ़ें: कुछ ऐसी दिखती है भारत की पहली प्राइवेट ट्रेन, जानें टिकट और सफर से जुड़ी खास बातें

    एक्सप्रेस ट्रेन (Express Train)

    Express Train

    कहा जाता है कि भारत में एक्सप्रेस ट्रेन सेमी प्रायोरिटी वाली रेल सेवा होती है। कहा जाता है कि एक्सप्रेस ट्रेन लगभग 55 किलोमीटर प्रति घंटे से अधिक स्पीड में चलती है। एक्सप्रेस ट्रेन की स्पीड मेल-ट्रेन से अधिक होती है। हालांकि, सुपरफ़ास्ट ट्रेन से इसकी स्पीड कम होती है।   

    एक्सप्रेस ट्रेन किसी-किसी स्टेशन और हाल्ट पर नहीं रूकती है। एक्सप्रेस ट्रेन का नाम किसी शहर, जगह या फिर किसी व्यक्ति के नाम से भी हो सकती है। इसमें जनरल ,स्लीपर और एसी डिब्बे होते हैं। 

    Recommended Video

    सुपरफास्ट ट्रेन (Superfast Train)

    Superfast Train

    सुपरफ़ास्ट एक ऐसी ट्रेन है जो एक्सप्रेस या मेल-एक्सप्रेस से बहुत तेज चलती है। सुपरफ़ास्ट ट्रेन की स्पीड लगभग 110 किलोमीटर प्रति घंटे से भी अधिक होती है। सुपरफास्ट ट्रेन में आमतौर पर कम स्टॉपपेज होते हैं।

    मेल-एक्सप्रेस या एक्सप्रेस ट्रेन के मुकाबले सुपरफ़ास्ट ट्रेन में कुछ एक्स्ट्रा किराया लगता है। ये ट्रेन जिस रूट पर पर चलती है उस रूट पर इन ट्रेनों को पायोरिटी दी जाती है। यह एक राज्य से दूसरे राज्यों के बीच चलती है।  इसमें जनरल , स्लीपर और एसी डिब्बे होते हैं। 

    इसे भी पढ़ें: Ac से लेकर स्लीपर तक, जानें भारतीय रेलवे में कितनी तरह की होती है सीट

    पैसेंजर ट्रेन (Passenger Train) 

    Passenger Train

    पैसेंजर ट्रेन एक ऐसी ट्रेन है जो कम दूरी तय करती है। एक तरह से यह एक लोकल ट्रेन है जो एक शहर से दूसरे शहर तक ही चलती है। इसमें लगे सभी डिब्बे जनरल डिब्बे होते है। (ये है भारत की सबसे धीमी ट्रेन)

    अगर आपको यह स्टोरी अच्छी लगी हो तो इसे फेसबुक पर जरूर शेयर करें और इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ। लेख के अंत में कमेंट सेक्शन में आप भी ज़रूर कमेंट करें।

    Image Credit:(freepik,sutterstocks)

    बेहतर अनुभव करने के लिए HerZindagi मोबाइल ऐप डाउनलोड करें

    Her Zindagi
    Disclaimer

    आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।