कहते हैं हमारी संस्कृति और रीति-रिवाज ही हमें अपनी जड़ों से जोड़कर रखते हैं। दुनिया में इतने देश, जनजाति और धर्म हैं, और सभी की अपने अलग ट्रेडिशन्स हैं। इन परंपराओं में कुछ तो बेहद अजीब हैं, जिन्हें सुनकर ही आप दंग रह जाएंगी। हालांकि हर किसी के लिए सब कुछ पसंद करना असंभव है। सिविलाइजेशन के बाद हम सभी ने एक लंबा सफर तय किया, मगर फिर भी कुछ ऐसे लोग है, कुछ समुदाय हैं जो सदियों पुरानी परंपराओं से आज भी चिपके हुए हैं। इनमें से कुछ परंपराओं को सुनकर अजीब लगता है, तो किसी का मतलब समझ में आ पाना नामुमकिन है। आइए आप भी जानें ऐसी कुछ परंपराओं के बारे में।

पोल्ट्राबेंड, जर्मन

polterabend, germany

आपको गुड लक कहने के लिए कोई अगर आपके घर में तोड़फोड़ कर दे तो आपको कैसा लगेगा? आम आदमी, खासकर की महिलाएं तो एकदम गुस्से में आ जाएंगी। लेकिन जर्मनी में यह एक बरसों पुरानी प्रथा है, तो चली आ रही है। यह खासकर की शादीशुदा जोड़े के साथ की जाती है। शादी से एक दिन पहले सभी मेहमान क्रॉकरीज, बर्तन आदि तोड़ते हैं और शादी के बाद दुल्हा-दुल्हन को यह मिलकर साफ करना होता है। इसे यूं देखें कि यह प्रथा दोनों को शादी के बाद आने वाली तमाम समस्याओं को मिलकर सामना करने के लिए प्रेरित करती है। 

नो सॉल्ट शेकर, इजिप्ट

no salt shaker in egypt

अगर आपक कभी घूमने इजिप्ट जाएं और वहां किसी के घर मेहमान के रूप में जाना पड़ जाए, तो टेबल पर रखा खाना चुपचाप खा लें। खाने में नमक कम लगे तो गलती से भी किसी इजिप्शन फैमिली से नमक की मांग न करें। ऐसा करना वहां होस्ट का अपमान करना होता है। अगर टेबल पर सॉल्ट या पेपर शेकर्स न हों, तो उसकी मांग न करें। आपको होस्ट को यह बहुत खराब लग सकता है। वहीं अगर आपका पानी का ग्लास खाली हो गया है, तो उसके लिए भी न कहें। इजिप्ट में खुद ही पानी का ग्लास रिफिल कर दिया जाता है।

इसे भी पढ़ें :अपने वेकेशन के हिसाब से ही चुनें अपने जूते

नूडल स्लरपिंग, जापान/चीन

noodle slurping japan

अगर आप जापान या चीन के किसी रेस्तरां जाएं और वहां नूडल्स खा रही हैं, तो एक बाद का ध्यान रखें कि नूडल खाते समय आवाज जरूर निकालें। यह थोड़ा अजीब लग सकता है, क्योंकि दूसरे देशों जैसे अमेरिका आदि में खाना खाते समय आवाज करना रूड माना जाता है, मगर जापान या चीन में इसे अच्छा माना जाता है। जापान या चीन के लोग मानते हैं कि ऐसा करने से खाने का स्वाद बेहतर तरीके से आता है और आपके होस्ट को इससे पता चलता है कि खाना स्वादिष्ट है। यह उनके लिए सेटिसफाइंग होता है,इसलिए अगर कभी जापान में किसी रेस्तरां में बैठें तो सुड़ुप-सुड़ुप कर नूडल्स जरूर खाएं।

इसे भी पढ़ें :Travel Tips: विदेश में नहीं बल्कि भारत में मौजूद है दुनिया का सबसे बड़ा द्वीप

Recommended Video

नो टिप्पिंग, साउथ कोरिया

no tipping, south korea

अगर मैं किसी रेस्तरां या कैफे में जाऊं तो खाना खाने के बाद वेटर या सर्व करने वाले को टिप जरूर देती हूं। उन्हें धन्यवाद कहने के लिए ऐसा तरीका कई सारे लोग अपनाते होंगे। मगर कहते हैं कि साउथ कोरिया में टिप देना इंसल्टिंग होता है। फूड इंडस्ट्री से जुड़े लोगों को उचित वेतन मिलता है और उन्हें अपने काम पर बहुत गर्व होता है, इसलिए यह उनके लिए अपमानजनक हो सकता है। जापान, चीन और इटली सहित कई अन्य देश ऐसे हैं जहां टिप देने की मनाही है। अपना खाना खाइए, वेटर को शुक्रिया कहिए, बस!

वाइफ कैरीइंग कॉन्टेस्ट, फिनलैंड

wife carrying contest finland

आपने 'दम लगा के हईशा' तो देखी होगी, जिसमें एक प्रतियोगिता होती है। पति को अपनी पीठ पर पत्नी को बैठाकर दौड़ना होता है। ठीक ऐसा ही एक कॉन्टेस्ट फिनलैंड में बरसों से चला आ रहा है। इसमें भी पति, पत्नी को पीठ पर लेकर दौड़ता है। इस चैंपियनशिप का उद्देश्य यह होता है कि दोनों को एक-दूसरे का महत्व सिखाया जा सके। दोनों ही एक-दूसरे के बिना अधूरे हैं और दोनों किस तरह साथ मिलकर हर कठिनाई को पार कर सकते हैं, यह चैंपियनशिप इसलिए की जाती है।

अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया हो तो इसे लाइक और शेयर जरूर करें। ऐसे अन्य आर्टिकल्स पढ़ने के लिए जुड़ी रहें हरजिंदगी के साथ।

Image credit : freepik images