भले ही भिंडी की सब्जी हमारे देश में काफी लोकप्रिय क्यों न हो लेकिन कई लोग इसे इसके लिसलिसे पन   की वजह से खाना पसंद नहीं करते हैं। सब्जी काटते समय चिपचिपी होने के साथ ये खाना बनाने में भी अपने लिसलिसे पन को बनाए रखती है। इसी वजह से स्वाद में भरपूर होने के बावजूद भी लोग इसे खाना पसंद नहीं करते हैं। दरअसल भिंडी के इस चिपचिपेपन का कारण म्यूसिलेज.या श्लेष्मा है।

यह एक चिपचिपा पदार्थ है जो भिंडी को काटने पर इस सब्जी से निकलता है। इसकी चिपचिपी प्रकृति के कारण, इस सब्जी का उपयोग करके विभिन्न व्यंजन तैयार करना काफी कठिन हो जाता है। कुछ आसान ट्रिक्स और टिप्स को आजमाकर आप भिंडी के लिसलिसेपन को दूर करके कुरकुरी भिंडी की सब्जी बना सकती हैं और इसे काटते समय भी आप इसके चिपचिपेपन से बच सकती हैं। आइए जानें कैसे ?

भिंडी के लिसलिसे पन का कारण

why bhindi is sticky

भिंडी में म्यूसिलेज नाम का एक पदार्थ पाया जाता है जो मुख्य रूप से इसे चिपचिपा बनाता है। यह कई अन्य पौधों जैसे एलोवेरा में भी पाया जाता है। इस पदार्थ की उपस्थिति किसी भी पौधे में मुख्य रूप से चिपचिपेपन का कारण होती है।  एक घिनौने पदार्थ के कारण चिपचिपा हो जाता है। मुख्य रूप से ये पदार्थ पौधे के लिए भोजन और पानी के भंडारण में मदद करता है, जो किसी भी पौधे के विकास के लिए दो आवश्यक तत्व हैं। यह बीजों को अंकुरित करने में भी मदद करता है।

इसे जरूर पढ़ें:खाने का स्वाद बढ़ाना है तो सिर्फ़ 10 मिनट में बनाए 'चिली ऑयल', इस तरह करें इस्तेमाल 

भिंडी के लिसलिसे पन को कैसे दूर करें 

भिंडी काटते समय और इसकी सब्जी बनाते समय आप कुछ आसान टिप्स को आजमाकर इसके लिसलिसे पन को दूर करके कुरकुरी भिंडी की सब्जी तैयार कर सकती हैं। आइए जानें उन टिप्स के बारे में। 

  • भिंडी को धोने के बाद अच्छी तरह से सुखाएं 
  • भिंडी को बड़े टुकड़ों में काटें और स्टिर फ्राई करें
  • नींबू के रस दही या अन्य खट्टे पदार्थों का इस्तेमाल 

भिंडी को धोने के बाद अच्छी तरह से सुखाएं 

bhind stickiness dry

अक्सर हम भिंडी की सब्जी को काटने से पहले धोते हैं और इसकी नमी ठीक से दूर होने से पहले ही काटने लगते हैं। पानी के साथ भिंडी का लिसलिसापन और ज्यादा बढ़ जाता है। इसलिए भिंडी काटने के लिए सबसे अच्छी ट्रिक हो सकती है कि आप जब भी भिंडी को काटने जा रही हैं उसे अच्छी तरह से धोकर पहले किसी टॉवल में डालकर अच्छी तरह से सुखा लें। जब भी आप भिंडी काटें पहले देख लें कि इसका पानी अच्छी तरह से सूखा है या नहीं। भिंडी काटने से कम से कम एक घंटे पहले या फिर एक रात पहले ही इसे धोकर रख दें। भिंडी के लिसलिसे पन को कम करने के लिए फ्रीजिंग भी एक अच्छा ऑप्शन है। यह उन्हें धोकर सुखाने की तुलना में ज्यादा प्रभावी है। जब आप भिंडी को फ्रीज़ करते हैं, तो श्लेष्मा थोड़ा सख्त हो जाता है और कुछ हद तक अपनी चिपचिपाहट खो देता है। इसलिए फ्रीज़ की गई भिंडी को काटते समय यह कम चिपचिपी लगेगी। 

Recommended Video

भिंडी को बड़े टुकड़ों में काटें और स्टिर फ्राई करें

जब भी आप सब्जी के लिए भिंडी काट रही हैं उन्हें छोटे आकार में काटने के बजाय लंबे टुकड़ों में काटें। लंबे टुकड़ों में काटने से ज्यादा श्लेष्मा आपके हाथों और सब्जी में नहीं फैलता है और सब्जी क्रिस्पी बनती है। इसका मतलब ये हुआ कि भिंडी की एक फली को अधिकतम 2-3 टुकड़ों में ही काटना चाहिए। इसके अलावा भिंडी को स्टिर फ्राई करना इसकी चिपचिपाहट दूर करने का सबसे असरदार तरीका है। जब आप कड़ाही में भिंडी के बड़े टुकड़ों को भूनते हैं, तो इस सब्जी से श्लेष्मा गायब होने लगता है। भिंडी की चिपचिपाहट पूरी तरह से गायब होने में लगभग 10-12 मिनट लग सकते हैं।

इसे जरूर पढ़ें:कहीं आपकी सब्जियों में मिलावट तो नहीं, पता करें ऐसे

नींबू के रस दही या अन्य खट्टे पदार्थों का इस्तेमाल 

use lemon

भिंडी के लिसलिसेप्न को दूर करने के लिए जब आप भिंडी की सब्जी बनाएं इसमें थोड़ा नींबू का रस या दही मिला दें। एसिडिक तत्व इस समस्या को दूर करने का सबसे अच्छा समाधान हैं। ये सामग्रियां आम तौर पर चिपचिपे पदार्थ के साथ प्रतिक्रिया करती हैं और आपकी भिंडी की सब्जी को कुरकुरा बनाने में मदद करती हैं। इसके अलावा सब्जी बनाते समय आप इमली के जूस या अमचूर पाउडर का भी इस्तेमाल कर सकती हैं। बस आपको ये बात ध्यान में रखनी है कि अगर आप सूखी सब्जी बना रही हैं तो अमचूर पाउडर या नींबू के रस का इस्तेमाल करें। वहीं तरी वाली सब्जी के लिए आप इमली के जूस या दही का इस्तेमाल कर सकती हैं। 

यहां बताए गए कुछ आसान टिप्स की मदद से आप भिंडी के लिसलिसेपन को कम करके क्रिस्पी भिंडी की सब्जी तैयार कर सकती हैं। तो फिर देर किस बात की, आज ही ट्राई करें ये टिप्स और बनाएं टेस्टी भिंडी की सब्जी। 

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit: Freepik