चावल खाना हर किसी को पसंद होता है। लेकिन ये वजन बढ़ाता है इस कारण कई लोग इसे खाने में अवॉयड करते हैं। खासकर लड़कियां वजन बढ़ने के डर से इसे नहीं खाती हैं। जबकि एक कटोरी चावल खाने से पेट भर जाता है। लेकिन इस एक कटोरी चावल में ही काफी मात्रा में फैट और कार्बोहाईड्रेट होता है जिसके कारण लड़कियां एक कटोरी चावल भी नहीं खाती हैं। अगर आपके साथ भी ऐसा है तो चावल बनाने का नया तरीका आज जानिए और वजन बढ़ने की चिंता से मुक्ति पाइए। 

कुुकर में चावल बनाना

how to cook rice without cooker inside

कुुकर में बने हुए चावल खाने से वजन बढ़ने की समस्या होती है। दरअसल कुुकर में बने चावल में फैट और कार्बोहाइड्रेट की मात्रा अधिक होती है। हर किसी को मालूम है कि कुुकर में चावल जल्दी बन जाते हैँ। ऐसा भाप के एक साथ इकट्ठा होने से होता है। कुकर में भाप इकट्ठी होती है और इस इकट्ठी हुई भाप से ही चावल जल्दी बनते हैं। जबकि अन्य बर्तनों में भाप हमेशा निकलते रहता है इसलिए उनमें चावल जल्दी नहीं पकते हैं। (Read More: पुलाव नहीं काबुली चना पुलाव बनाने की ये खास रेसिपी जानिए)

लेकिन इस जल्दी पके हुए चावल के नुकसान भी हैं। इसमें फैट और कार्बोहाइड्रेट की मात्रा अधिक होती है। इसलिए डॉक्टर भी कुकर में चावल ना बनाने की सलाह देते हैं। वैसे भी चावल तो कुकर में कभी बनते भी नहीं हैं। यह तो लोगों ने आजकल जल्दी बनाने के कारण कुकर में चावल बनाना शुरू कर दिया है। जबकि कुकर में बने चावल हेल्थ के लिए नुकसानदायक होते हैं और एक-दूसरे से चिपक भी जाते हैं। 

ऐसे बनाएं चावल

how to cook rice without cooker inside

तो अब कुकर में चावल बनाना बंद कीजिए और भगोने में इस तरह से चावल बनाइए जिससे कि चावल खिले-खिले और हेल्दी बनें। 

  • इसके लिए चावल बनाने से पहले उन्हें कम से कम आधे घंटे तक पानी में भिगो कर रख दें। 
  • अब एक भगोने में दो ग्लास पानी लेकर गैस में गर्म करने के लिए रख दें। 
  • जब पानी गर्म हो जाए तो भीगे चावलों में से पानी निकालें और उन्हें भगोने में गर्म हो रहे पानी में डाल दें। 
  • ऊपर से एक चम्मच घी भी डाल दें। 
  • अब भगोने को एक थाली से ढक दें। 
  • 5 मिनट बाद पलटे से चावल को पलट कर देखें। अगर चावल पक गए हैं तो गैस बंद कर दें। 

नहीं बढ़ाते मोटापा

इस तरीके से बनाए गए चावल को खाने से मोटापा नहीं बढ़ता है और यह डायबिटीज के मरीजों के लिए भी पायदेमंद होते हैं। दरअसल इसमें फैट और कार्बोहाइड्रेट की मात्रा नहीं होती है। इसी कारण यह डायबिटीज और दिल के मरीजों के लिए फायदेमंद होता है।

Recommended Video