हिमालय अपनी अलौकिक सुंदरता के कारण सिर्फ भारत में भी नहीं बल्कि विश्व स्तर पर प्रसिद्ध है। हिमालय के खूबसूरत पहाड़ों के बीच बसी पार्वती घाटी ऊंची पहाड़ियों से घिरी है। जन्नत का अहसास करवाती यह घाटी घने जंगलों और स्वच्छ नदियों से सजी है। भगवान शिव की पत्नी और माता पार्वती के नाम से प्रसिद्ध यह घाटी कई अलौकिक कथाओं के लिए भी प्रसिद्ध है। यह घाटी उन लोगों को ज्यादा आकर्षित करती है जिन्हें सिर्फ वादियों से प्यार हो। ऐसे में आप भी हिमालय की गोद में मौजूद पार्वती घाटी के बारे में जानना चाहते हैं, तो आपको इस लेख को ज़रूर पढ़ना चाहिए। क्योंकि, इस लेख में हम आपको पार्वती घाटी के बारे में बताने जा रहे हैं, तो आइए जानते हैं।

पार्वती घाटी के इतिहास के बारे में 

history about parvati valley inside

पार्वती घाटी का इतिहास बेहद ही दिलचस्प है। जी हां, इस घाटी का इतिहास 5-6 सौ साल नहीं बल्कि पूरे 3 हज़ार वर्ष से भी अधिक प्राचीन है। ऐसा माना जाता है कि भगवान शिव ने इस स्थान पर लगभग 3 हज़ार वर्षों तक रहस्मय तरीके से ध्यान किया था। पौराणिक कथा के अनुसार शिव यहां सन्यासी नागा साधू के रूप में ध्यान करते थे। कहा जाता है कि जब वो आंख खोले और इस घाटी की सुन्दरता को देखा तो इसका नाम अपनी पत्नी के नाम पर रख दिया और तब से इसे पार्वती घाटी के रूप में जाना जाता है। एक अन्य कहावत ये है कि प्राचीन समय में यहां भांग या चरस की खेती होती थी।

इसे भी पढ़ें: आखिर अभी तक क्यों कोई माउंट कैलाश पर चढ़ाई नहीं कर सका है, जानें वजह

पार्वती घाटी की खासियत 

know history about parvati valley inside

प्राकृतिक दृश्यों से सजी इस घाटी की खूबसूरती और जमा देने वाली ठंड इसे अनोखा और अद्भुत बनाती है। बर्फ़बारी के दौरान इस जगह की खूबसूरती चरम पर होती है। हैरान कर देने वाले नज़रों से भरी पार्वती घाटी कुल्लू से लगभग 40 किलोमीटर की दूरी पर मौजूद है। आप यहां एक पर्यटक के तौर पर एक अलग संस्कृति का अनुभव करेंगे। अगर आप एडवेंचर प्रेमी है, तो पावर्ती घाटी की गोद में मौजूद घने जंगलों के बीच प्रकृति की छांव में भरपूर आनंद ले सकते हैं।

Recommended Video

घूमने की जगह 

history about parvati valley inside

पार्वती घाटी में घूमने के लिए एक से एक बेहतरीन और अद्भुत जगहें हैं। पार्वती घाटी में मौजूद खीरगंगा स्थान सैलानियों के बीच बेहद ही फेमस है। ये हिल स्टेशन के रूप में प्रसिद्ध है। सर्दियों के मौसम में यहां बर्फ़बारी का आनंद उठाने के लिए हर दिन हजारों सैलानी पहुंचते हैं। कहा जाता है कि ये खूबसूरत जगह के साथ अपने गर्म पानी के लिए भी जानी जाती है। यह जगह हनीमून पॉइंट के रूप में भी प्रसिद्ध है। ऐसे में अगर आप पार्वती घाटी घूमने निकले हैं तो आपको भी खीरगंगा ज़रूर जाना चाहिए।

इसे भी पढ़ें: हरिद्वार से करीब 185 किमी की दूरी पर है खूबसूरत चोपता हिल स्टेशन

इन जगहों पर भी घूमने पहुंचे 

history about parvati valley inside

ऐसा नहीं है कि पार्वती में घूमने के लिए सिर्फ खीरगंगा ही है। यहां ऐसी कई गुमनान जगहें हैं जहां घूमने का एक अलग ही मज़ा है। खासकर बर्फ़बारी के दौरान परिवार, दोस्तों या फिर पार्टनर के साथ घूमने का एक अलग ही मज़ा है। पार्वती घाटी से कुछ ही दूरी पर मौजूद मलाना गांव घूमने के लिए जा सकते हैं। इसके अलावा प्रसिद्ध जगह तोष भी घूमने के लिए जा सकते हैं। पार्वती घाटी के आसपास घूमने के लिए पुल्गा गांव भी एक बेहद ही खूबसूरत जगह है।    

अगर आपको यह स्टोरी अच्छी लगी हो तो इसे फेसबुक पर जरूर शेयर करें और इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit:(@tripsavvy.com,helandofwanderlust.com)