गुलाब जामुन ऐसी मिठाई है, जिसका नाम सुनते ही मुंह में पानी आने लगता है। घर की पार्टी हो, फंक्शन हो या फिर कोई सोशल गैदरिंग, गुलाब जामुन हर जगह बड़े चाव से खाया जाता है। खोए का बना गुलाब-जामुन का स्वाद इतना बेहतरीन होता है कि मुंह में इसकी मिठास महसूस होते ही लगता है कि जैसे आत्मा तृप्त हो गई। इसीलिए तो गुलाब-जामुन देश की बेस्ट मिठाइयों में शुमार किया जाता है। अब गुलाब-जामुन का नाम एक बार फिर से लोगों की जुबान पर है और इस बार वजह बेहद खास है। दरअसल गुलाब जामुन हमारे पड़ोसी देश पाकिस्तान की नेशनल मिठाई बन गया है। मजेदार बात ये है कि पाकिस्तान ने गुलाब जामुन को कौमी मिठाई घोषित किया है।

Read more: शाहजहां ने ऐसी मिठाई बनाने का हुक्म सुनाया था, जो दिखे ताजमहल जितनी सफेद, जानिए उस फेमस मिठाई का नाम

दरअसल पाकिस्तान की सरकार ने देश के नागरिकों से ट्विटर पर राष्ट्रीय मिठाई की खोज में यह पूछने का फैसला किया कि गुलाब जामुन, बर्फी और जलेबी में से वो किसे देश की राष्ट्रीय मिठाई के तौर पर चुनेंगे। इसी दौरान पड़े वोटों में गुलाब जामुन ने जलेबी और बर्फी को हरा दिया और पाकिस्तान की राष्ट्रीय मिठाई का दर्जा हासिल कर लिया। यह भारत, बांग्लादेश और नेपाल में काफी फेमस मिठाई है। अगर आपको लगता है कि इस मिठाई का नाम इंडियन हैं तो ऐसा बिल्कुल भी नहीं है। गुलाब जामुन शब्द फारसी भाषा से आया है। मैदा, खोया और चीनी इसमें पड़ने वाले खास आइटम हैं। 

 

gulab jamun best indian sweet voted as national sweet of pakistan inside

रेस में गुलाब जामुन से ये हारे

गुलाब जामुन के पक्ष में ट्विटर पर सबसे ज्यादा वोट मिले और यह मिठाई पाकिस्तान की राष्ट्रीय मिठाई के तौर पर विजेता बन गई। वहीं जलेबी दूसरे नंबर पर रही। लगभग 15,000 लोगों ने इस वोटिंग में हिस्सा लिया। इसमें गुलाब जामुन को 47%, जलेबी को 34% और बर्फी को 19% वोट मिले। सबसे ज्यादा वोट मिलने के बाद गुलाब जामुन को 'कौमी मिठाई' घोषित कर दिया गया।

Read more: गुड़ वाला मीठा चीला बनाने की ये रेसिपी आपको सर्दियों में एक बार जरुर ट्राई करनी चाहिए

हालांकि इस मामले में भारत अपने पड़ोसी देश से एक कदम पीछे है, क्योंकि यहां किसी को राष्ट्रीय मिठाई का आधिकारिक दर्जा नहीं मिला है। इंटरनेट सर्च में कई जगह जलेबी को राष्ट्रीय मिठाई कहा जाता है, लेकिन औपचारिक तौर पर कभी इस तरह की घोषणा नहीं हुई है। भारत में भले ही राष्ट्रीय मिठाई पर इस तरह की वोटिंग ना हुई हो, लेकिन इतना जरूर है कि गुलाब जामुन की दीवानगी अपने देश में भी लोगों के सिर चढ़कर बोलती है। अगर भारत में इसके लिए वोटिंग कराई जाए तो निश्चित तौर पर इसके लिए करोड़ों की संख्या में वोट पड़ेंगे।

gulab jamun best indian sweet voted as national sweet of pakistan inside

इस तरह पड़ा था गुलाब जामुन का नाम 

एक्सपर्ट्स का मानना है कि गुलाब जामुन दो शब्दों से मिलकर बना है 'गुल' और 'आब'। गुल मतलब गुलाब और आब मतलब पानी। जिस समय यह मिठाई भारत आई, उस समय में कुछ लोग चीनी की चाशनी को खुशबू देने के लिए उसमें गुलाब की पंखुड़ियां डाला करते थे। वहीं जामुन जैसा आकार होने की वजह से यह व्यंजन कहलाने लगा 'गुलाब जामुन'। यह डिश ताजमहल बनवाने वाले मुगल शासक शाहजहां की पसंदीदा मिठाई हुआ करती थी। 

बहरहाल गुलाब जामुन की इतनी बातें करने के बाद अगर आपको भी यह मिठाई खाने की इच्छा हो गई है तो फटाफट घर का रुख करिए और घर के सभी लोगों के साथ इसका लुत्फ उठाइए।