खाने में अगर मिर्च को शामिल ना किया जाए तो खाना बेस्वाद लगता है। हर किसी का अपना अलग स्वाद होता है। कोई बहुत तीखा खाना पसंद करता है तो किसी को कम मिर्च खाना ही पसंद होता है। आपके मुंह का टेस्ट चाहे कैसा भी हो, लेकिन मिर्च तो हम फिर भी खाती ही है। भारतीय किचन मिर्च के बिना अधूरी ही मानी जाती है। वैसे किचन में हम मिर्च को भी कई तरह से इस्तेमाल करती हैं। मसलन, कभी हरी मिर्च को काटकर या पीसकर खाने में डाला जाता है, तो कभी सूखी लाल मिर्च से भोजन का स्वाद बढ़ाना तो कभी लाल मिर्च के पाउडर से खाने को तीखा और कलरफुल बनाना। इस तरह हरी मिर्च कई तरह से खाने का जायका बढ़ाने का काम करती है। लेकिन क्या आप जानती हैं कि हमारे भारत में एक या दो नहीं, बल्कि मिर्च की कई प्रजातियां पाई जाती हैं। इनमें कश्मीरी लाल मिर्च जैसी कम तीखी मिर्च से लेकर भूत जोलकिया जैसी दुनिया की सबसे तीखी मिर्च शामिल है। तो चलिए आज हम आपको भारत में मिलने वाली मिर्च की कई प्रजातियों के बारे में बता रहे हैं, जिन्हें जानने के बाद शायद आपके कान से भी धुआं निकल जाए-

कश्मीरी मिर्च, कश्मीर

 red chilly inside

जैसा कि इसके नाम से पता चलता है, यह मिर्च कश्मीर और हिमाचल प्रदेश के कुछ हिस्सों में उगाई जाती है। यह मिर्च खासतौर से, अपने गहरे लाल रंग के लिए जानी जाती है। कश्मीरी मिर्च की एक विशेषता यह है कि यह स्वाद में ज्यादा गर्म नहीं होती है। इस वजह से, अगर आप बहुत अधिक मसालेदार व्यजंन नहीं बनाना चाहतीं तो ऐसे में कश्मीरी मिर्च का इस्तेमाल किया जा सकता है। यह आपके व्यजंन को काफी कलरफुल नबाती है। यह एक बहुत ही आम घरेलू सामग्री है और बाजार भर में पाउडर के रूप में उपलब्ध है।

इसे जरूर पढ़ें: इंडिया के 10 खास अचार जिन्हें देखते ही आपको मुंह में आ जाएगा पानी

भूत जोलकिया, नार्थ ईस्ट इंडिया

 red chilly inside

भूत जोलकिया की गिनती दुनिया की सबसे तीखी मिर्चों में होती है। इसका नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में भी शामिल है। भूत जोलकिया को लोग घोस्ट पेपर या भूत मिर्च के नाम से भी जानते हैं। इसकी खेती नार्थ ईस्ट इंडिया के कई राज्यों जैसे अरुणाचल प्रदेश, असम, नागालैंड और मणिपुर में की जाती है। इस मिर्च को मुख्य रूप से फरमेंटेड फिश या पोर्क में मुख्य रूप से इस्तेमाल किया जाता है।

ज्वाला मिर्च, गुजरात

 red chilly inside

ज्वाला मिर्च ज्यादातर गुजरात के दक्षिणी हिस्सों जैसे मेहसाणा और खेड़ा में उगाई जाती है। यह स्वाद में बहुत तीखी होती है और समोसे, वड़ा पाव, आदि के साथ परोसी जाती है। भारतीय घरों में ज्वाला मिर्च बहुत लोकप्रिय है और यहां तक कि अचार में भी इसका इस्तेमाल किया जाता है। शुरू में इसका रंग हरा होता है, लेकिन बाद में यह लाल हो जाती है।

इसे जरूर पढ़ें: अदरक का टेस्‍टी अचार घर में 10 मिनट में बनाएं, आसान रेसिपी जानिए

गुंटूर मिर्च, आंध्र प्रदेश

 red chilly inside

आंध्र प्रदेश में मिलने वाले व्यंजन अपने बेहद मसालेदार स्वाद के लिए प्रसिद्ध है और इसके पीछे गुंटूर मिर्च का एक मुख्य कारण है। इसकी कई किस्में हैं जो न केवल आंध्र प्रदेश में बल्कि मध्य प्रदेश में भी उगाई जाती हैं। यह गुंटूर मिर्च अब इतनी लोकप्रिय हो गई है कि भारत में तो इसे इस्तेमाल किया ही जाता है, साथ ही इसे दुनिया भर में भी निर्यात किया जाता है।

मुंडू मिर्च, साउथ इंडिया

 red chilly inside

यह मिर्च मुख्य रूप से तमिलनाडु और आंध्र प्रदेश में उगाई जाती है। यह साइज में छोटी और गोल होती है, और इसकी स्किन पतली होती है। मुंडू में बहुत ही अनोखा स्वाद होता है, जिसकी मदद से आप कई व्यंजनों का स्वाद बढ़ा सकती है।

Recommended Video

ब्यादगी मिर्च, कर्नाटक

 red chilly inside ()

ब्यादगी मिर्च भारत की सबसे लोकप्रिय मिर्चों में से एक है और इसका नाम ब्यादगी शहर के नाम पर रखा गया है, जो कर्नाटक के हावेरी जिले में स्थित है। यह मिर्च उदीपी भोजन का एक अनिवार्य हिस्सा है। यह मिर्च बहुत अधिक मसालेदार नहीं होती है।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit: freepik.com