सर्दियों में दार्जिलिंग घूमने जाने का एक अलग ही मज़ा है क्योंकि, इन जगहों की खूबसूरती सर्दियों के मौसम में निखरकर आती है। यहां की प्रकृति आबो-हवा सर्दियों के मौसम में कुछ और ही नज़ारा प्रस्तुत करती है। हिमालय की बाहों में मौजूद ये जगह किसी जन्नत से कम नहीं है। शायद, इसलिए पश्चिम बंगाल की इस प्रसिद्ध जगह सबसे अधिक सैलानी घूमने के लिए पहुंचते हैं।

यहां की हसीन वादियां, ऊंचे-ऊंचे खूबसूरत पहाड़, बर्फीली पहाड़ियां आदि ये सब नज़ारे एक साथ आपको दार्जिलिंग में ही देखने को मिल सकते हैं। दार्जिलिंग के हरे-भरे चाय के बगान और ब्रिटिश काल की इमारतें भी आपका दिल लुभा लेंगी। ऐसे में आप अगर 3 दिन दार्जिलिंग घूमने का ट्रिप प्लान कर रहे हैं, तो फिर आपको भी इन बेहतरीन जगहों को ज़रूर एक्स्प्लोर करना चाहिए।

पहला दिन 

darjeeling  day travel planning inside

वैसे तो दार्जिलिंग में ऐसी कई अद्भुत जगहें हैं, जिन जगहों को आप पहले दिन एक्स्प्लोर कर सकते हैं। लेकिन, दार्जिलिंग अपनी खूबसूरती और प्राकृतिक नजारों के लिए जाना जाता है। इसलिए आप यहां पहले दिन प्रकृति खूबसूरती को देखने के लिए जा सकते हैं। ऐसे में आप सबसे पहले प्रसिद्ध जगह टाइगर हिल घूमने के लिए जा सकते हैं। 

यहां आप दार्जिलिंग हिमालयन रेलवे, दार्जिलिंग में रोपवे, हिमालय पर्वतारोहण संस्थान, नाइटेंगल पार्क, रॉक गार्डन दार्जिलिंग, सिंगालीला राष्ट्रीय उद्यान और संदकफू ट्रेक दार्जिलिंग जैसे एक से एक बेहतरीन जगहों पर घूमने के लिए जा सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: जानें क्यों खास है पश्चिम बंगाल में स्थित खूबसूरत गोसाबा शहर

दूसरा दिन 

darjeeling  day travel planning inside

पहला दिन घूमने के बाद आप दार्जिलिंग की अन्य जगहों पर घूमने के लिए निकल सकते हैं। दूसरे दिन की शुरुआत आप बतासिया लूप से कर सकते हैं। बतासिया लूप में बेजोड़ प्राकृतिक सुंदरता है, जोकि अद्भुत दृश्य प्रस्तुत करती है।

मुख्य शहर से लगभग 5 किलोमीटर की दूरी पर मौजूद इस जगह आज़ादी में शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिए गए स्मारक भी घूमने के लिए जा सकते हैं। कुछ ही दूरी पर मौजूद रोपवे का लुत्फ़ उठाने के लिए आप जा सकते हैं। इसके अलावा आप नाइटेंगल पार्क भी घूमने के लिए जा सकते हैं।

तीसरा दिन 

darjeeling  day travel planning inside

दार्जिलिंग में तीसरे दिन घूमने के लिए आप सबसे पहले चाय बागान का रुख कर सकते हैं। दार्जिलिंग में ऐसी कई जगहें हैं जहां चाय बागान एक बेहतरीन पर्यटक स्थल है। चाय बागान के अलावा भारत-नेपाल बॉर्डर पर स्तिथ एक बेहद ही अद्भुत जगह मिरिक भी घूमने के लिए जा सकते हैं।

इसके अलावा आप कंचनजंघा पर्वत श्रेणियों से घिरा चटकपुर गांव भी घूमने के लिए जा सकते हैं। इसके अलावा ब्रिटिश ज़माने की लालकोठी भी घूमने ज़रूर पहुंचे। इन जगहों पर घूमते-घूमते आप फिर से मुख्य शहर में आ सकते हैं फिर वापसी के लिए ट्रेन ले सकते हैं।

Recommended Video

इसे भी पढ़ें: चंडीगढ़ से करीब 291 किमी की दूरी पर है खूबसूरत मलाणा हिल स्टेशन

दार्जिलिंग में कहां रुके

दार्जिलिंग यात्रा के दौरान अगर आप स्टे के लिए सस्ते होटल की तलाश कर रहे हैं, तो हम आपको कुछ होटल के नाम बताने जा रहे हैं जहां आप स्टे सकते हैं। यहां आप लिटिल तिब्बत रिज़ॉर्ट, लिटिल सिंगामरी होमस्टे, शांगरी-ला रीजेंसी और मैगनोलिया रेजीडेंसी जैसी जगहों पर रुक सकते हैं। एक अनुमान के मुताबिक यहां रुकने के लिए लगभग 1000-1200 रुपये में कमरा आसानी से मिल जाते हैं। 

खाने की जगह

darjeeling  day travel planning inside

जिन होटलों में आप रुके हैं उन होटलों में आपको खाने के लिए सुविधा भी मिल जाएगी। यहां स्थानीय भोजन से लेकर अन्य राज्यों के व्यंजन भी आसानी से मिल जाते हैं। चावल, नूडल्स, बंगाली थाली, स्नैक्स में-पकौड़े, नॉन-वेज मोमोज और गोभी, दम आलू, पनीर और अन्य सब्जियां भी आपको मिल जाएंगी खाने के लिए। 

कैसे पहुंचे?

दार्जिलिंग घूमने के लिए आप हवाई जहाज, ट्रेन या बस से भी जा सकते हैं। दार्जिलिंग का निकटतम एयरपोर्ट बागडोगरा है, जहां से आप टैक्सी या कैब लेकर घूमने के  जा सकते हैं। देश के लगभग हर हिस्से से आप ट्रेन के माध्यम से भी आप यहां पहुंच सकते हैं। न्यू जलपाईगुड़ी यहां का निकटतम रेलवे स्टेशन है, जहां से आप टैक्सी या फिर कैब लेकर दार्जिलिंग घूमने पहुंच सकते हैं।

अगर आपको बस से दार्जिलिंग पहुंचा है तो सबसे पहले आपको सिलीगुड़ी पहुंचना होगा। इसके बाद शेयरिंग कैब या ऑटो से लगभग तीन से साढ़े तीन घंटों में दार्जिलिंग पहुंच सकते हैं।

अगर आपको यह स्टोरी अच्छी लगी हो तो इसे फेसबुक पर जरूर शेयर करें और इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit:(@rapidleaks.com,mouthshut.com)