• ENG
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search

भानगढ़ फोर्ट: भूतों का गढ़ बोले जाने वाले इस फोर्ट का क्या है इतिहास, जानें

अगर आप भी भूतों का गढ़ बोले जाने वाले भानगढ़ फोर्ट का इतिहास जानना चाहते हैं तो इस लेख को ज़रूर पढ़ें।
author-profile
Published -30 Jul 2022, 13:11 ISTUpdated -30 Jul 2022, 13:34 IST
Next
Article
bhangarh fort history

राजस्थान के अलवर जिले की अरावली पर्वतमाला के एक गांव में स्थित भानगढ़ किला एक नहीं बल्कि कई दिलचस्प कहानियों के लिए फेमस है। इस फोर्ट को राजस्थान के साथ-साथ भारत के सबसे डरावनी जगहों में भी शामिल किया जाता है। पहाड़ों से घिरा यह फोर्ट भूतों जा गढ़ माना जाता है। लेकिन ऐसे बहुत कम लोग ही है जो इस फोर्ट के इतिहास के बारे में जानते हैं। अगर आप भी भूतों का गढ़ बोले जाने वाले भानगढ़ फोर्ट का इतिहास जानना चाहते हैं, तो फिर आपको इस लेख को ज़रूर पढ़ना चाहिए। आइए जानते हैं।

भानगढ़ फोर्ट का इतिहास 

know History Of Bhangarh Fort

इस फोर्ट का इतिहास काफी प्राचीन है। लगभग 17 वीं शताब्दी में बना हुआ यह किला प्राचीन और मध्य कालीन काला का एक नमूना माना जाता है। इस भुतहा फोर्ट को लेकर यह बोला जाता है कि आमेर के राजा ने अपने छोटे भाई के लिए बनवाया था। भानगढ़ का किला चारों ओर से पहाड़ों से घिरा है इसलिए इसकी चर्च बहुत होती है। कहा जाता है कि सूर्य उदय होने से पहले और सूर्य अस्त के बाद किसी को इस किले में रुकने की इजाजत किसी को नहीं है।

इसे भी पढ़ें: दिल्ली-NCR की ये डरावनी जगहें हैं कई दिलचस्प कहानियों के लिए फेमस

भानगढ़ फोर्ट की कहानी

bhangarh fort ghost stories

इस किले की कहानी बेहद ही दिलचस्प है। कहा जाता यहां किला बनवाने से पहले यहां रहने वाले एक साधू से अनुमति मांगी। साधू ने एक राजा के सामने एक शर्त रखा कि जब आप फोर्ट का निर्माण करें तो किले की छाया मेरे घर पर नहीं पड़ना चाहिए। लेकिन ऐसा नहीं हुआ और किले की छाया साधू के घर पर पहुंच गई। इस बात से साधू नज़ारा हो गया है और उसने श्राप दिया जिसके बाद भानगढ़ किला पूरी तरह से बर्बाद हो गया और भूतिया किला बन गया। (भारत में स्थित हैं कई रहस्यमयी फोर्ट्स)

Recommended Video

भानगढ़ से जुड़ी भूतिया कहानी

bhangarh fort incidents

अधिकांश लोगों का मानना है कि भानगढ़ किला भारत की सबसे डरावनी जगह है। कई लोगों का मानना है कि यहां दिन के उजाले में भी अकेले जाने की हिम्मत नहीं करता है। इस फोर्ट के बारे में कहा जाता है कि कुछ लोग शाम के समय यहां घूमने के लिए गए थे, लेकिन वापस लौटकर नहीं आए। 

वहीं कुछ लोगों मानना है कि इस फोर्ट से औरत के चिल्लाने, चूड़ियां तोड़ने और रोने की आवाजें सुनी हैं। कुछ लोगों माना है कि ऐसा लगता है जैसे को साया पीछा कर रहा हो।

इसे भी पढ़ें: क्या सच में दिल्ली में 1 नहीं बल्कि 2 कुतुब मीनार है? पढ़ें पूरी खबर

कैसे पहुंचें

how to reach bhangarh fort

आपको बता दें कि भानगढ़ किला दिल्ली से लगभग 283 किलोमीटर दूर है। ऐसे में अगर अपनी कार से भी घूमने के लिए जा सकते हैं। देश के किसी भी हिस्से से आप अलवर रेलवे स्टेशन पर पहुंचकर आप भानगढ़ फोर्ट घूमने के लिए जा सकते हैं। अलवर रेलवे स्टेशन से टैक्सी या कैब लेकर आप आसानी से जा सकते हैं। (भारत के 10 सबसे प्राचीन और प्रसिद्ध फोर्ट्स)

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे लाइक, शेयर और कमेंट्स ज़रूर करें। इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit:(@thomascook,tripoto)

Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।