भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण भारत में हर साल 19 नवंबर से 25 नवंबर तक विश्व धरोहर सप्ताह या World Heritage Week मनाता है। इस सप्ताह को मनाने का उद्देश्य देश में प्राकृतिक विरासत स्थलों के संरक्षण के महत्व के बारे में आम जनता में जागरूकता पैदा करना है। भारतीय लोग परंपराओं और विरासत को जो महत्व देते हैं, उसे देखते हुए, विश्व विरासत सप्ताह भारतीय गणराज्य के लिए बहुत अधिक महत्व रखता है। विश्व विरासत सप्ताह मुख्य रूप से स्कूलों, कॉलेजों, संग्रहालयों और सार्वजनिक विरासत स्थलों में मनाया जाता है।

यूनेस्को द्वारा मान्यता प्राप्त कुछ लोकप्रिय विश्व धरोहर स्थल हैं ताजमहल ,आगरा का किला, कुतुबमीनार, हम्पी मंदिर, दिल्ली में लाल किला, काशी विश्वनाथ मंदिर आदि। इन सबमें मुख्य ऐतिहासिक इमारत के रूप में ताजमहल को जाना जाता है। यदि आप किसी भी ऐसतिहासिक स्थल, जो भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के अंतर्गत आता है जैसे कि ताजमहल, घूमने की योजना बना रहे हैं तो आपको बता दें कि 19 नवंबर यानी कि गुरूवार के दिन यहां प्रवेश निःशुल्क होगा। 

इसे जरूर पढ़ें: अगर आप भी करने जा रही हैं दिल्ली मेट्रो में सफर, तो इन बातों का रखें ध्यान

क्या होंगे ताजमहल में प्रवेश के नियम 

मिलेगा निःशुल्क प्रवेश

tajmahal entry 

विश्व धरोहर सप्ताह, गुरुवार, 19 नवंबर से शुरू हो रहा है। संस्कृति मंत्रालय ने सभी स्मारकों में निःशुल्क प्रवेश की घोषणा की है। भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के किसी भी स्मारक में गुरुवार पूरे दिन निःशुल्क प्रवेश मिलेगा। ताजमहल इन्हीं स्मारकों में सर्वप्रमुख है इसलिए यहाँ भी प्रवेश निःशुल्क होगा। 

इसे जरूर पढ़ें: साउथ में कहीं घूमने का प्लान कर रहे हैं तो कर्णाटक का बदामी आपके लिए है बेस्ट

Recommended Video


कोरोना प्रोटोकॉल्स को फॉलो करना जरूरी

corona protocols 

प्रवेश के दौरान कोरोना के सभी नियमों का पालन जैसे मास्क लगाना, आपस में उचित दूरी बनाए रखना और सैनिटाइज़र का इस्तेमाल करना जरूरी होगा। कोरोना प्रोटोकॉल को देखते हुए पर्यटकों की संख्या सीमित ही रहेगी। 

लिमिटेड पर्यटक कर सकते हैं एंट्री 

limited people entry

ताजमहल पर अभी भी कोरोना की वजह से एक दिन में पांच हजार पर्यटकों को प्रवेश की इजाजत है। दो अलग-अलग समय पर पर्यटक प्रवेश कर रहे हैं। आम दिनों में प्रवेश के लिए ऑनलाइन टिकट खरीदने की प्रक्रिया पर्यटकों को अपनानी पड़ती है । क्यूआर कोड के जरिए भी टिकट प्राप्त किया जा सकता है। ताजमहल का दीदार करने के लिए दो प्रकार के टिकट होते हैं। भारतीय सैलानियों के लिए 50 रुपए का टिकट ताजमहल में प्रवेश के लिए निर्धारित है। यदि सैलानी मुख्य मकबरे को देखना चाहते हैं तो 200 रुपए का टिकट अलग से लेना पड़ता है। 

आप भी किसी ऐतिहासिक इमारत का दीदार करने की योजना बना रहे हैं, तो ये पूरा सप्ताह आपके लिए अच्छा है। इस हफ्ते खासतौर पर 19 नवम्बर को ताजमहल और अन्य इमारतों में निःशुल्क प्रवेश करके इसकी खूबसूरती को देख सकते हैं। 

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit: freepik