भारत की अपनी विशेषताएं हैं, जो उसे दुनिया के भी अन्य सभी देशों से अलग बनाती हैं। इन्हीं विशेषताओं में से एक है धर्मनिरपेक्षता। भारत में अलग-अलग धर्मों को मानने वाले लोग एक साथ मिल-जुलकर एक साथ रहते हैं। इन्हीं विभिन्न धर्मों में से एक है जैन धर्म, वास्तव में शांति का प्रचार करने के लिए जाना जाता है। जैन धर्म अहिंसा परमोधर्म अर्थात् अहिंसा की परम धर्म है के सिद्धांत पर आधारित है।

यह सबसे पुराने धर्मों में से एक है जिसकी जड़ें भारत में हैं। भले ही आप जैन धर्म से ताल्लुक ना रखती हों, लेकिन अगर इस धर्म के बारे में अधिक जानना चाहती हैं तो भारत में स्थित कई जैन मंदिरों के दर्शन कर सकती हैं। यह जैन पवित्र स्थान एक या दो स्थानों तक सीमित नहीं हैं, बल्कि पूरे देश में हैं।

तो चलिए आज इस लेख में हम आपको भारत में स्थित कुछ जैन मंदिरों के बारे में बता रहे हैं, जो यकीनन आपको भी आध्यात्मिकता की दुनिया में ले जाएंगे-

रणकपुर जैन मंदिर, रणकपुर (राजस्थान)

rajasthan ranakpur famous jain temples in india

15 वीं शताब्दी का रणकपुर मंदिर जैन समुदाय का एक प्रमुख तीर्थ स्थल है और अक्सर इसे दुनिया भर में एक आर्किटेक्चरल आइकन माना जाता है। यह उदयपुर से 95 किलोमीटर उत्तर में रणकपुर गाँव में स्थापित है।

इसे जरूर पढ़ें: राजस्थान के इन 3 ऑफबीट ट्रेवल डेस्टिनेशन्स को विजिट करना है बेहद एक्साइटिंग

मंदिर उस समय के एक प्रतिष्ठित व्यवसायी, धन्ना शाह द्वारा मेवाड़ शासक की मदद से बनाया गया था। इस परिसर में कई मंदिर हैं जिनमें चतुर्मुख मंदिर, पार्श्वनाथ मंदिर, सूर्य मंदिर और अंबा मंदिर शामिल हैं। इन सबके बीच सबसे महत्वपूर्ण चार तीर्थमुख मंदिर है जो पहले जैन तीर्थंकर आदिनाथ को समर्पित हैं।

शिखरजी मंदिर, पारसनाथ हिल्स (झारखंड)

jharkhand shikharji famous jain temples in india

सभी जैन धार्मिक स्थलों में सबसे पवित्र के रूप में माना जाता है, शिखरजी मंदिर वह स्थान है जहाँ 20 तीर्थंकरों ने मोक्ष प्राप्त किया। यह झारखंड (झारखंड का मैथों शहर) में पारसनाथ पहाड़ियों के ऊपर स्थित है। पहाड़ियों को 23 वें तीर्थंकर पार्श्वनाथ के नाम पर रखा गया है जिन्होंने इस पवित्र स्थल पर निर्वाण प्राप्त किया। यह क्षेत्र न केवल एक प्रमुख तीर्थस्थल है, बल्कि पर्यटक पहाड़ियों पर भी जाते हैं और विभिन्न साहसिक गतिविधियों में संलग्न होते हैं।

Recommended Video

शिखरजी मंदिर तक पहुंचने के लिए, आगंतुकों को मधुवन के छोटे शहर से शुरू करना पड़ता है। यात्रा कठिन है और शीर्ष तक पहुंचने में लगभग 3 घंटे लगते हैं। रास्ते में, कई सुंदर जैन मंदिर हैं। यह मंदिर 18 वीं शताब्दी में बनाया गया था।

श्री दिगंबर जैन लाल मंदिर, चांदनी चौक (दिल्ली)

delhi digambar jain famous jain temples in india

श्री दिगंबर जैन लाल मंदिर लाल किले के पास चांदनी चौक में स्थित है। यह मंदिर एक पशु चिकित्सालय के लिए जाना जाता है, जिसे आमतौर पर जैन पक्षी अस्पताल के रूप में जाना जाता है जो मुख्य मंदिर परिसर के पीछे स्थित है। यह माना जाता है कि मंदिर का निर्माण मुगल काल के दौरान किया गया था जब एक जैन अधिकारी ने अपने तम्बू में एक तीर्थंकर की मूर्ति की पूजा की थी। इसने जैन सेना के अन्य अधिकारियों को आकर्षित किया और आखिरकार, 1656 में साइट पर एक मंदिर बनाया गया। बाद के वर्षों में, मंदिर में कई संशोधन हुए और अब इसे आमतौर पर लाल मंदिर के रूप में जाना जाता है। यह मंदिर 23 वें जैन तीर्थंकर पार्श्वनाथ को समर्पित है और यहां पर उनकी विशाल प्रतिमा स्थित है।

गोमतेश्वर मंदिर, विंध्यगिरि हिल (कर्नाटक)

karnataka gomteshwar famous jain temples in india

गोमतेश्वर मंदिर जिसे आमतौर पर बाहुबली मंदिर के रूप में जाना जाता है, कर्नाटक के छोटे से शहर श्रवणबेलगोला में स्थित है। धार्मिक स्थल होने के अलावा, यह एक प्रसिद्ध विरासत स्थल भी है। बाहुबली स्टैंड की 57 फीट विशाल मूर्ति विंध्यगिरि पहाड़ी पर खड़ी है। इस ऐतिहासिक जैन आकृति को दुनिया भर में सबसे बड़ी अखंड मूर्तियों में से एक माना जाता है।

इसे जरूर पढ़ें: कर्नाटक जाने की हैं तैयारी तो इन चीजों का लुफ्त जरूर उठाएं

मूर्ति के दोनों किनारों पर यक्ष और यक्षी की दो खड़ी आकृतियाँ हैं। महामस्तकाभिषेक के शुभ अवसर पर दुनिया भर के तीर्थयात्री यहां पर आते हैं। यह त्योहार 12 साल में एक बार होता है जब बाहुबली की मूर्ति को दूध, गन्ने के रस, केसर और घी से नहलाया जाता है। वर्ष 2007 में, प्रतिमा को भारत के सात अजूबों में से एक के रूप में भी स्थान दिया गया।

दिलवाड़ा मंदिर, माउंट आबू (राजस्थान)

rajasthan dilwara famous jain temples in india

माउंट आबू से 2.5 किलोमीटर की दूरी पर स्थित, दिलवाड़ा मंदिर एक उत्कृष्ट जैन धार्मिक संरचनाओं में से एक है जो अपनी बेहतरीन वास्तुकला के लिए जाना जाता है। मंदिर का निर्माण 11 वीं और 13 वीं शताब्दी के बीच विमल शाह द्वारा किया गया था और ढोकला जैन मंत्रियों द्वारा इसे बेहद खूबसूरती से डिजाइन किया गया था। वैसे तो पूरे राजस्थान में कई जैन मंदिर हैं, लेकिन दिलवाड़ा मंदिर को वास्तुशिल्प के शानदार उदाहरणों में से एक माना जाता है।

सोनागिरी मंदिर, दतिया (मध्य प्रदेश)

mp sonagiri famous jain temples in india

सोनागिरी दिगंबर जैन समुदाय के लिए एक प्रमुख तीर्थ स्थल है। यह क्षेत्र बहुत अधिक धार्मिक महत्व रखता है। ऐसा माना जाता है कि यही वह जगह है जहाँ नंग अनंग कुमार ने 15 मिलियन भक्तों के साथ मोक्ष प्राप्त किया। 132 एकड़ में फैले इस पवित्र स्थान को लघु सम्मेद शिखर के नाम से जाना जाता है। यह क्षेत्र कई प्राचीन जैन मंदिरों से युक्त है, जो 9 वीं शताब्दी के हैं। कुल मंदिरों में से 77 मंदिर पहाड़ी पर स्थित हैं और शेष गांव में स्थापित हैं। पहाड़ी पर स्थित 57 वां जैन मंदिर सोनागिरी का मुख्य मंदिर है। इस मंदिर में 8 वें तीर्थंकर, चंद्रप्रभु की 11 फीट ऊँची मूर्ति स्थापित है।

तो अब आप सबसे पहले किस जैन मंदिर में दर्शन करना चाहेंगी, यह हमें फेसबुक पेज के कमेंट सेक्शन में जरूर बताइएगा। अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।