देश का तीसरा सबसे छोटा राज्य होने के नाते त्रिपुरा अपने अंदर अद्भुत विरासत समेटे हुए है। यहां कई ऐसे सुंदर और दार्शनिक पर्यटन स्थल मौजूद हैं, जो हिमालय पर्वतों के पास बसे हुए हैं। यह शहर समृद्ध संस्कृति के साथ बेहतरीन प्राकृतिक सौंदर्य का भी सही उदाहरण प्रस्तुत करता है। कहा जाता है कि एक समय में इस शहर पर माणिक्य राजाओं का पूर्ण अधिकार हुआ करता था। इसके अलावा, त्रिपुरा की राजधानी अगरतला को भी ऐतिहासिक, धार्मिक स्मारकों और भवनों के लिए जाना जाता हैं। अगर आप भी त्रिपुरा के पर्यटन स्थलों के बारे में जानना और घूमने के लिए जाना चाहते हैं, तो इस लेख को पूरा ज़रूर पढ़ें।  

कैलाशहर 

kailashahar

कैलाशहर त्रिपुरा राज्य में बसा एक और शहर है, जो बांग्लादेश की सीमाओं के बहुत पास स्थित है। इसे त्रिपुरा में घूमने के लिए सबसे अच्छी जगहों में से एक माना जाता है। ऐसा कहा जाता है कि यह शहर प्राचीन काल में त्रिपुरा की राजधानी हुआ करता था और इसकी जड़ें उनाकोटी से जुड़ी हुई हैं। कैलाशहर का मुख्य त्योहार दुर्गा पूजा है और इस दौरान इसे शहर रोशनी, दीपक और देवी दुर्गा पंडालों से सजाया जाता है। 

इसके अलावा, यह शहर सुंदर परिदृश्य और हरे भरे बगीचों से समृद्ध है। यहां के मुख्य पर्यटक आकर्षण लखी नारायण बारी और चौड्डो देवोतार मंदिर हैं। साथ ही, शहर के आसपास कई चाय बागान हैं। जब भी आप त्रिपुरा आएं, तो यहां घूमने का प्लान ज़रूर बनाएं। 

अगरतला

tripra

अगरतला त्रिपुरा की राजधानी है, उस राज्य के सबसे बड़े शहरों में से एक है। यह त्रिपुरा में घूमने के लिए सबसे लोकप्रिय स्थानों में से एक है। यह स्थान अपने हरे भरे चरागाहों, पहाड़ियों और खूबसूरत घाटियों से भरे इलाकों के लिए प्रसिद्ध है। इस जगह का मुख्य आकर्षण उज्जयंता पैलेस है। अगर आप अगरतला को विस्तार से कवर करना या देखना चाहते हैं, तो आपको इसे घूमने के कम से कम दो दिनों की योजना बनानी होगी। 

आपको बता दें कि उज्जयंता पैलेस 1899 में महाराजा राधा किशोर माणिक्य द्वारा निर्मित एक शाही घर हुआ था। इसके अलावा, यह महल अपनी वास्तुकला के लिए भी जाना जाता है। जिसमें तीन गुंबद, टाइल वाले फर्श, नक्काशीदार लकड़ी की छत और खूबसूरती से तैयार किए गए दरवाजे हैं। साथ ही, इस शाही महल के बाहर मुगल शैली का बगीचा भी मौजूद है।

मेलाघर

मेलाघर भी अगरतला से लगभग 50 किमी की दूर पर बसा हुआ एक शहर है। यह स्थान नीरमहल जैसे खूबसूरत इमारत के लिए प्रसिद्ध है, जो रुद्रसागर झील के बीच में स्थित है। यहां पर्यटकों को को बहुत शांतिपूर्ण वाइब्स मिलते हैं। इसके अलावा, यह दुर्गा पूजा उत्सव के लिए भी बहुत प्रसिद्ध है। पूजा के दौरान जब यह शहर खूबसूरत रोशनी से जगमगाता है, तो पूरा शहर बहुत खूबसूरत लगता है।  

एक और त्योहार, जो मेलाघर में बहुत उत्साह के साथ मनाया जाता है, वह है रथ यात्रा, जो हर साल जुलाई में आयोजित किया जाता है। घूमने के अलावा आपको यहां खरीदारी के लिए भी कई ऑप्शंस मिल जाएंगे। शॉपिंग करने के लिए आप आनंदबाजार आ सकते हैं, जहां पर आपको लगभग सब कुछ आसानी से मिल जाएगा। 

उदयपुर

udaypur in tripura

उदयपुर को पहले रंगमती के नाम से भी जाना जाता था और यह त्रिपुरा में बसा एक खूबसूरत शहर है। यह अपने ऐतिहासिक मंदिर के लिए प्रसिद्ध है, जो त्रिपुरा में घूमने के लिए सबसे लोकप्रिय धार्मिक स्थलों में से एक है। यह स्थान कृत्रिम झीलों के तल पर स्थित है और अगरतला से लगभग 55 किमी की दूर पर स्थित है। इस शहर में स्थित कुछ कृत्रिम झीलों का नजारा किसी जन्नत से कम नहीं है। यहां आप धानी सागर, विजय सागर, जगन्नाथ दिघी, अमर सागर आदि घूमने का लुत्फ उठा सकते हैं।

लेकिन सबसे लोकप्रिय त्रिपुरा सुंदरी मंदिर है, जो 51 शक्तिपीठों का भी हिस्सा है। इस मंदिर के बगल में एक बड़ी झील है, जिसे कल्याण सागर कहा जाता है। यहां का एक और प्रसिद्ध मंदिर भुवनेश्वर मंदिर है। क्योंकि उसके शहर में इतनी सारी झीलें हैं, इसलिए इसे झीलों का शहर भी कहा जाता है। पुस्तक प्रेमी अपना मक्का उदयपुर के नज़रुल ग्रंथागार पुस्तकालय में पा सकते हैं, जिसे नज़रुल इस्लाम के नाम पर रखा गया था।

इसे ज़रूर पढ़ें- पूर्वोत्तर भारत के ये खूबसूरत पहाड़ प्रकृति प्रेमियों के लिए हैं जन्नत

नीरमहल

neermahel

इस महल को 'द लेक पैलेस ऑफ त्रिपुराऔर 'जल महल' के नाम से भी जाना जाता है। शायद, इसलिए इसे तैरता हुआ महल भी कहा जाता है। इस महल का निर्माण राजा बीर बिक्रम किशोर माणिक्य बहादुर ने करवाया था। कहा जाता है कि इस महल का निर्माण उन्होंने ग्रीष्म काल के समय में रहने के लिए करवाया था।  इस महल में आपको इस्लामिक और हिंदू वास्तुशिल्प का मिला-जुला रूप देखने को मिल जायेगा।

Recommended Video

ऐसे पहुंचे त्रिपुरा 

यहां जाने के लिए आप ट्रेन, बस या हवाई सफर से भी जा सकते हैं। यहां रुकने के लिए भी कई सारे होटल और गेस्ट हाउस है। यहां आपको खाने के लिए भी कोई दिक्कत नहीं होगी क्योंकि, यहां वेज से लेकर नॉनवेज तक सभी चीजें आसानी से मिल जाते हैं। 

इसे ज़रूर पढ़ें- ये हैं भारत के पवित्र सरोवर, जहां स्नान करने पहुंचते हैं लाखों श्रद्धालु

त्रिपुरा में घूमने के लिए अन्य लोकप्रिय स्थानों में वीरम्मा काली मंदिर, पगली मासी मंदिर और मेलाघर काली मंदिर भी शामिल हैं। अगर आपको यह स्टोरी अच्छी लगी हो तो इसे फेसबुक पर जरूर शेयर करें और इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit- (@google and app.goo.gl,travel website)