घूमने का नाम सुनते ही अक्सर आप हिल्स स्टेशन की वादियों में खो जाते होंगे जहां बर्फ से ढके हुए पहाड़ हों, खूबसूरत वातावरण हो और चारो तरफ हरियाली, झरनों से भरा नज़ारा हो। वाह! एक परफेक्ट वेन्यू जो किसी जन्नत से कम नहीं है। लेकिन कभी आपने, अपने ट्रैवल वेन्यू में किसी गांव को एड किया है? आप सोच रहे होंगे गांव भी कोई घूमने की जगह है। तो आपको बता दें कि भारत में ऐसे कई गांव मौजूद हैं जो बेहद खूबसूरत और देखने लायक है। यहां की खूबसूरती बिल्कुल ऐसी है जैसे हिल्स स्टेशन की होती हैं। तो चलिए, आज हम आपको ऐसे गांव के बारे में बताते हैं जो घूमने के लिए एकदम परफेक्ट है। यहां आकर आपको बहुत अच्छा लगेगा। साथ ही, कई खूबसूरत चीज़ें देखने को भी मिलेंगी।

मलाणा, हिमाचल प्रदेश 

inside  malada gao

यह गांव हिमाचल प्रदेश में स्थित है। सबसे रोचक बात यह है कि इस गांव में भारत का संविधान नहीं माना जाता है। मलाण के लोग गांव के बनाए गए नियम और कायदे का ही पालन करते हैं। यह कुल्लू घाटी के उत्तर-पूर्व इलाके में स्थित है। इसकी खूबसूरती और हिमालय पर्वत देख कर आप दीवाने हो जाएंगे। यहां घूमने के कई फायदे हैं, पहला यह कि आपको यहां बहुत-सी नई और रोचक जानकारियां मिलेंगी। दूसरा यहां के रास्ते बहुत पथरीले हैं आपको आने-जाने में थोड़ी दिक्कत भी हो सकती है। लेकिन फिर भी आप जब भी हिमाचल प्रदेश जाए तो मलाणा गांव ज़रूर घूमें। 

स्मित गांव, मेघालय

inside  smit village

स्मित गांव शिलॉन्ग से लगभग 11 कि.मी. की दूरी पर बसा हुआ है। यहां आपको कुदरत के  कई नजारे देखने को मिलेंगे क्योंकि यह गांव पहाड़ों के बीच में बसा हुआ है। इसकी खासियत है कि यह गांव प्रदूषण मुक्त है। साथ ही, इस गांव का नाम एशिया के सबसे साफ और खूबसूरत गांवों में शुमार है। यहां के रिहाइशी  लोग सब्जियों और मसालों की खेती करते हैं और उसी से जीवन का निर्वाह करते हैं। आप भी इस गांव में जाकर शांति का आनंद उठा सकते हैं।

मावलिनॉन्ग, मेघालय

inside  village

यह गांव भी शिलॉन्ग के पास ही स्थित है। जो वहां से लगभग 90 कि.मी. की दूरी पर है। यह गांव बहुत साफ और चारों ओर से हरियाली से ढका हुआ है। यहां के प्राकृतिक नजारे देखकर आपका गांव से जाने का मन नहीं करेगा। आप अपने परिवार के साथ यहां घूमने का प्लान बना सकते हैं। इसके अलावा आपको यहां एशिया का सबसे मशहूर रूट ब्रिज भी देखने को मिलेगा और भी कई एडवेंचर चीज़ें करने को भी मिलेंगी। आपको बता दें कि रूट ब्रिज को देखने के लिए दूर-दूर से लोग यहां आते हैं। 

इसे ज़रूर पढ़ें-कुमाऊं क्षेत्र में घूमने के लिए हैं एक से बढ़कर एक बेहतरीन जगहें

खोनोमा गांव

inside  khonoma village

यह गांव भारत के कोहिमा शहर से करीब  20 किलोमीटर दूरी पर बसा हुआ है। इस गांव में भारी मात्रा में जीव-जंतु पाए जाते हैं। साथ ही यहां पौधों की बहुत-सी प्रजातियां भी मौजूद है। आपको और भी कई रोचक चीज़े यहां देखने को मिलेंगी। आप यहां आकर आराम से रह भी सकते हैं साथ ही, आपको बता दें कि इस गांव में खेती भी की जाती है और कई चीज़ों को हाथ से बनाने का काम भी किया जाता है। आप यहां घूमने के साथ-साथ अच्छे व्यंजन और शॉपिंग का भी मज़ा ले सकते हैं और आदिवासी समुदाय के लोगों से मिलने का भी मौका मिलेगा। 

Recommended Video

दिस्कित, लद्दाख 

inside  distikit

यह गांव लद्दाख के लेह ज़िले में स्थित है। यहां का शांत वातावरण और विशाल पहाड़ इसकी खूबसूरती को बखूबी बयां करते हैं। वैसे तो ये भारत में ज़्यादा प्रसिद्ध नहीं है क्योंकि इसके बारे में बहुत कम लोग जानते हैं। अगर आपको शांति पसंद है तो ये गांव आपके लिए बेस्ट ऑप्शन है क्योंकि यहां की जनसंख्या बहुत कम है। साथ ही इसकी यह भी खासियत है कि यहां ज़्यादातर लोग अध्ययन के सिलसिले में आते हैं। आप भी अगर कभी लद्दाख जाए तो इस गांव को ज़रूर देखने जाएं। 

इसे ज़रूर पढ़ें- शादी के लिए बेस्ट वेन्यू हैं ये खूबसूरत टेम्पल

 

लेख पसंद आया हो तो इसे शेयर और लाइक ज़रूर करें, साथ ही ऐसी अन्य जानकारी पाने के लिए जुड़े रहें हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit- Freepik,Holiday.in, assets