कभी जिम में वर्कआउट करने के बाद तो कभी पूरा दिन भागदौड़ करने से आपके अंडरआर्म्स पर पसीना आता है। इतना ही नहीं, इस पसीने के कारण एक अजीब सी स्मेल आने लगती है, जो आपको काफी अनकंफर्टेबल कर सकती है। आपने कभी नोटिस किया है कि जब आप छोटी थी, तब आपको इस तरह की शरीर की गंध या ब्रोमहिड्रोसिस की शिकायत नहीं थी, लेकिन युवावस्था में यह समस्या होती है। इसका मुख्य कारण होता है  एण्ड्रोजन हार्मोन का बढ़ना। यह हार्मोन उम्र बढ़ने के साथ ही बढ़ते हैं। हालांकि पसीना स्वयं में गंधरहित होता है, लेकिन उसमें पनपते हुए बैक्टीरिया के कारण ही आपको अजीब सी स्मेल आती है। 

जब आप बाहर काम करती हैं या गर्मी या धूप में घूमती हैं, तो आपका शरीर पसीने का उत्पादन करता है। पसीना शरीर के तापमान को नियंत्रित करने का तरीका है। जब पसीना आपकी त्वचा की सतह पर बैक्टीरिया से मिलता है, तो यह एक गंध पैदा करता है। जिसके कारण आपको अपने शरीर से एक अजीब सी स्मेल आती है। अगर आपको भी इसी समस्या का सामना करना पड़ता है तो आप कुछ आसान तरीके अपनाकर इससे आसानी से छुटकारा पा सकती हैं-

इसे भी पढ़ें: कहीं 'स्ट्रॉबेरी लेग्‍स' के कारण तो नहीं है आपके पैरों में काले धब्‍बे

अंडरआर्म्स को रखें ड्राई 

underarms hygiene you need to know inside four

अंडरआर्म्स में हेयर फॉलिकल्स और  पसीने की ग्रंथियां काफी अधिक होती है, जिसके कारण शरीर के इस भाग में पसीना सबसे पहले आता है। लेकिन अगर आपको पसीने व उसकी गंध से छुटकारा पाना है तो नियमित तौर पर इस अंग की अधिक देखभाल करें। इससे आप बैक्टीरिया को भी पनपने से रोक सकते हैं। इसके लिए आप अपने अंडरआर्म्स को हमेशा ड्राई रखने की कोशिश करें। बैक्टीरिया शरीर के ड्राई एरिया पर नहीं पनप पाते।

नींबू आएगा काम

underarms hygiene you need to know inside three

अंडरआर्म्स से गंध का मुख्य पसीने के साथ शरीर के बैक्टीरिया का मिलना होता है। ऐसे में नींबू का इस्तेमाल करना आपके लिए काफी लाभदायक हो सकता है। दरअसल, साइट्रिक एसिड बैक्टीरिया को मारता है और उनके विकास को सीमित करता है, जिससे आपको शरीर की गंध से छुटकारा मिलता है। बस आप हर रात सोने से पहले अंडरआर्म्स पर नींबू का रस या नींबू का टुकड़ा रगड़ें। अगली सुबह स्नान करें। आपको कुछ ही दिनों में काफी बदलाव नजर आएगा।

इसे भी पढ़ें: Skin Care Tips: एक्‍ने को कुछ ही दिनों में छूमंतर कर देगा ये होममेड टोनर

करें एक्सफोलिएट 

underarms hygiene you need to know inside two

शरीर के अन्य अंगों की भांति ही आपके अंडरआर्म्स को भी उचित देखभाल की आवश्यकता होती है। अंडरआर्म्स की त्वचा स्किन से भी कहीं अधिक सेंसेटिव होती है। इसलिए इस एरिया से डेड स्किन सेल्स निकालने के लिए आप जेंटल एक्सफोलिएशन की मदद लें। वैसे तो आपको मार्केट में भी कई तरह के स्क्रब मिल जाएंगे, लेकिन अगर आप चाहें तो शुगर और ऑलिव ऑयल की मदद से घर पर भी एक स्क्रब तैयार कर सकती हैं। इसे हल्के हाथों से अप्लाई करें या फिर आप लूफा या सॉफ्ट बॉडी ब्रश की मदद से भी नहाते समय स्क्रब कर सकती हैं।

कपड़ों का ख्याल

underarms hygiene you need to know inside one

आपको शायद जानकर हैरानी हो लेकिन आपके कपड़े भी अधिक पसीने का कारण बन सकते हैं। दरअसल, जब आपकी स्किन और फैब्रिक के बीच फ्रिक्शन होता है तो आपको अधिक पसीना आता है। इसके अलावा ढीले, आरामदायक और हल्के रंग के कपड़े गर्मी में आपके शरीर से कम चिपकते हैं, जिससे आपकी स्किन को सांस लेने का मौका मिलता है और पसीना भी कम आता है। इतना ही नहीं, कपड़ों का रंग भी काफी महत्वपूर्ण होता है। अगर आप लाइट कलर्स या पेस्टल शेड्स पहनते हैं तो इससे हीट अब्जार्ब होने की जगह रिफलेक्ट होती है, जिससे आपको काफी ठंडक मिलती है और जल्दी से पसीना नहीं आता।