किसी भी लड़की के लिए उसके बाल काफी अहम् होते हैं और हो भी क्यों ना, आखिरकार बालों से उसकी पर्सनैलिटी में एक अलग निखार आता है। अपने हेयर कट से लेकर हेयरस्टाइलिंग के जरिए वह हर बार एक न्यू लुक क्रिएट कर सकती हैं। इतना ही नहीं, बालों की केयर में भी लड़की कोई कोर-कसर नहीं छोड़ना चाहती। बालों की सही तरह से केयर के कारण ही उनमंे मजबूती, स्मूदनेस व नेचुरली शाइन आती है। पर अक्सर देखने में आता है कि बालों की देख-रेख के चक्कर में लड़कियां लोगों की कही-सुनी बातों पर यकीन कर लेती हैं और बालों से जुड़े कुछ मिथ पर यकीन कर लेती हैं। 

इसे भी पढ़ें- सफेद बालों के बारे में क्या इन Myths पर आप भी करती हैं यकीन?

ऐसा ही एक मिथ मैंने भी सुना था और लंबे समय तक मैं उस पर विश्वास करती रही। कुछ वक्त पहले मेरी एक सहेली ने मुझे कहा था कि अगर बालों को जल्दी-जल्दी ट्रिम करवाया जाए तो उनकी ग्रोथ काफी अच्छी होती है। उसके बाद मैंने काफी समय तक थोड़े-थोड़े अंतराल पर बालों को ट्रिम करवाया। लेकिन बाद में मुझे समझ आया कि बाल तो वास्तव में स्कैल्प से उगते हैं या बढ़ते हैं। बाकी बाल तो वास्तव में डेड होते हैं। तो चलिए आज मैं आपको कुछ ऐसे ही हेयर मिथ्स के बारे में बता रही हूं, जिन्हें आपने भी कभी ना कभी सुना होगा। हो सकता है कि आप आज भी उन पर यकीन करती हों-

मिथ-1

incorrect popular hair myths

बालों को जल्दी-जल्दी ट्रिम करवाने से उनकी लेंथ बढ़ती है।

सच्चाई

जैसा कि मैंने पहले भी कहा कि इस मिथ पर मैंने भी काफी लंबे वक्त तक यकीन किया था। जबकि सच्चाई यह है कि बाल वास्तव में आपके स्कैल्प से उगते हैं और बालों की जो लेंथ होती है, वह तो डेड है। इसलिए उन्हें काटने या ना काटने से बालों की ग्रोथ पर कोई फर्क नहीं पड़ता। हालांकि छह से आठ सप्ताह में बालों को एक बार ट्रिम करवाना चाहिए। इससे आपको दोमुंहे बालों से छुटकारा मिलता है और आपके बाल देखने में भी थिक व खूबसूरत लगते हैं।

मिथ-2

incorrect popular hair myths ()

बालों में तेल जितनी देर तक रहता है, बाल उतने ही हेल्दी होते हैं।

सच्चाई

यकीनन आपमें से कई महिलाएं रात में बालों की ऑइलिंग करती होंगी, लेकिन ऐसा करके आप सिर्फ अपने बिस्तर को ही तेल से भरती हैं। साथ ही तकिए की गंदगी आपके बालों में जाती हैं। सच्चाई तो यह है कि ऑइलिंग के बाद बालों को जितना पोषण चाहिए होता है, वह उसे दो घंटे में ही मिल जाता है। उसके बाद आप चाहे जितनी देर तेल बालों में रखें, उससे कोई फर्क नहीं पड़ता। इसलिए ऑइलिंग के बाद आप दो घंटे में शैम्पू कर सकती हैं।

मिथ-3

incorrect popular hair myths ()

पतले बालों में कंडीशनर नहीं करना चाहिए।

सच्चाई

जिन लड़कियों के बाल पतले होते हैं, वह अपने बालों को लेकर काफी कॉन्शियस होती हैं। इसलिए वह ऐसी कोई गलती नहीं करना चाहतीं, जिनसे उनसे बालों को नुकसान पहुंचे। लेकिन क्या आप जानती हैं कि उनका ध्यान रखने के चक्कर में उन्हें नुकसान पहुंचा रही हैं। बाल चाहे कैसे भी हो, शैम्पू के बाद कंडीशनर लगाना बेहद जरूरी होता है। शैम्पू के बाद बालों को मॉइस्चराइज, नरिश और हाइड्रेट करने के लिए उन्हें कंडीशन करना बेहद जरूरी होता है। 

इसे भी पढ़ें- सर्दियों में डैंड्रफ की समस्या से हैं परेशान तो आजमाएं ये 5 DIY हेयर पैक

मिथ-4

incorrect popular hair myths ()

बालों में कंडीशनर ज्यादा देर रखने से वह अधिक सॉफ्ट बनते हैं।

सच्चाई

यह भी एक मिथ है। कंडीशनर लगाने का एक तरीका होता है। अगर आप बाजार में मिलने वाले कंडीशनर का इस्तेमाल कर रही हैं तो उसे एक-दो मिनट के बाद क्लीन करें। आप घर में बने कंडीशनर को लंबे समय तक रख सकती हैं। वहीं दूसरी ओर कंडीशनर को कभी भी स्कैल्प पर नहीं लगाना चाहिए। इससे आपके बाल कमजोर होकर टूटने लगते हैं।