रोजेशिया एक लॉन्ग टर्म स्किन डिसऑर्डर है जो स्किन और चेहरे पर इन्फ्लेमेटरी रैशेज पैदा करता है और चेहरे के अंदर के कनेक्टिव टिशू को भी मोटा बनाता है। ऐसी महिलाएं जिनके स्किन का रंग हल्का होता है, उनकी स्किन पर यह रेडनेस और फाइन लाइन्‍स का कारण बनता है। लेकिन जिन महिलाओं की स्किन का रंग थोड़ा डार्क है, उनके स्किन पर यह डिसकलरेशन का कारण बनता है। रोजेशिया के कारण स्किन ड्राई, सूजी हुई, मोटी और खुरदरी दिखने लगती है। लेकन आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है क्‍योंकि रोजेशिया को कम करने के लिए आप अनेक तरह के स्किन केयर टिप्स को फ़ॉलो कर सकती हैं। इन टिप्‍स के बारे में हमें डर्मेटोलॉजिस्ट और एस्थेटिक फिजिशियन आईएलएएमईडी के संस्थापक और निदेशक, डॉक्‍टर अजय राणा जी बता रहे हैं। आइए एक्‍सपर्ट से इन नुस्‍खों के बारे में विस्‍तार से जानें।

स्किन को साफ रखें

washing face inside

स्किन को दिन में कम से कम दो बार जरूर धोएं। इसके लिए आप किसी हल्के रोजेशिया फ्रेंडली क्लींजर का इस्‍तेमाल कर सकती हैं। इस क्लींजर को हल्के हाथों से स्किन पर सर्कुलर मोशन में घुमाएं।

स्किन को मॉइश्चराइज करें

रोजेशिया की समस्‍या से स्किन ड्राई और ऑयली बन सकती है। इसलिए जरुरी है आप रेगुलर इंटरवल में अपनी स्किन को मॉइश्चराइज करें। मॉश्चराइजिंग स्किन वॉटर को अंदर बंद करके इसे हाइड्रेट करने में मदद करती है। जिसके कारण स्किन में इरीटेशन कम होती है और यह स्किन को आरामदायक बनाती है।

इसे जरूर पढ़ें:त्वचा के हर रोग को दूर कर देगा यह तेल

सनस्क्रीन लगाएं

rosacea remedies by expert inside

सूरज की हानिकारक किरणें रोजेशिया को और भी ज्यादा बढ़ा सकती है। यह एक सबसे कॉमन कारक है जो रोजेशिया को बढ़ाने में मदद करता है। इसके लिए अपने स्किन को सूरज की हानिकारक किरणों से बचाएं। इसके लिए अपने स्किन पर रेगुलर इंटरवल में सनस्क्रीन लगाएं

मेकअप की जांच करें

स्किन पर किसी भी तरह के स्किन केयर प्रोडक्ट्स और मेकअप को अप्लाई करने से पहले उसे अपने स्किन टाइप पर यूज कर लें ताकि वो आपके रोजेशिया वाली स्किन को और नुकसान ना पहुंचा दें।

एक्सफोलिएट न करें

रोजेशिया वाले स्किन पर किसी भी तरह की खुजली और स्क्रबिंग करने से बचें। इसके अलावा चेहरे को एक्सफोलिएट भी न करें। इससे आपकी त्‍वचा को नुकसान हो सकता है।

अच्‍छे स्किन केयर प्रोडक्‍ट्स का इस्‍तेमाल

skin care products inside

अगर आप रोजेशिया की प्रॉब्लम से जूझ रही हैं तो अनेक तरह के स्किन केयर प्रोडक्ट्स और कॉस्मेटिक्स स्किन को इरिटेट कर सकते हैं। इसलिए हमेशा ऐसे प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करें जो आपके स्किन के अनुरूप हो। आप ऐसे सभी प्रोडक्ट्स के इस्तेमाल करने से बचें जिसमें अल्कोहल, कैंफर, खुशबू, ग्लाइकोलिक एसिड और लैक्टिक एसिड की मात्रा हो।

मेकअप का इस्‍तेमाल कम करें

रोजेशिया वाले स्किन पर फ्रेगरेंस फ्री और मिनरल युक्त मेकअप का ही इस्तेमाल करें। जी हां हमेशा बहुत ज्‍यादा जरूरत महसूस होने पर ही मेकअप करना चाहिए। वर्ना स्किन को हमेशा फ्री रखना चाहिए।

Recommended Video

ग्रीन टी भी है फायदेमंद

green tea inside

ग्रीन टी में एंटी-इंफ्लेमेटरी प्रॉपर्टीज होती है जो स्किन में होने वाले किसी भी प्रकार के रेडनेस और इनफ्लेमेशन को कम करती है। इसके लिए ग्रीन टी को बना कर 40-45 मिनट के लिए फ्रिज में छोड़ दें। इसके बाद एक साफ कपड़े को ग्रीन टी में निचोड़ कर स्किन पर मसाज करें।

इसे जरूर पढ़ें:त्वचा की cleansing के लिए 5 घरेलू नुस्खे

एलोवेरा भी करता है जादू

एलोवेरा एक ऐसा इंग्रीडिएंट है जो हर तरह के स्किन प्रॉब्लम्स के लिए सही होता है। इसमें मौजूद हीलिंग प्रॉपर्टीज बहुत फायदेमंद होती है। इसके लिए एलोवेरा एक्सट्रेक्ट को निकाल लें। फिर एलोवेरा एक्सट्रैक्ट को रोजेशिया वाले स्किन पर लगाएं। फिर कुछ देर के बाद स्किन को ठंडे पानी से धो लें।

एसेंशियल ऑयल का इस्‍तेमाल

essential oils  inside

रोजेशिया को ठीक करने के लिए आप एसेंशियल ऑयल का भी इस्तेमाल कर सकती हैं। अनेक तरह के एसेंशियल ऑयल जैसे लैवेंडर, जैस्मीन, रोज़, टी ट्री ऑयल में एंटी-इंफ्लेमेटरी और हीलिंग प्रॉपर्टीज होती है, जो रोजेशिया स्किन के लिए बहुत लाभदायक होती है। इसके लिए एसेंशियल ऑयल की दो तीन बूंदें आलमंड ऑयल या नारियल तेल में मिलाएं और इसे सोने से पहले अपने रोजेशिया वाले स्किन पर लगाएं।

इन नुस्‍खों को अपनाने के कुछ दिनों बाद ही आपको अपनी त्‍वचा में फर्क महसूस होगा। इस तरह की और जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें। 

Image Credit: Freepik.com