जब भी स्किन केयर की बात होती है तो हम सभी ब्लेमिशेस से लेकर ब्लैकहेड्स आदि को रिमूव करने के बारे में सोचते हैं। लेकिन क्या आपने कभी स्किन टेक्सचर के बारे में सोचा है? शायद नहीं। स्किन टेक्सचर वास्तव में स्किन सरफेस की कंडीशन है। आदर्श रूप से, इसे स्मूद व सॉफ्ट होना चाहिए। लेकिन ड्राई स्किन से लेकर ब्लेमिशेस, उम्र बढ़ने से कोलेजन की हानि, सन डैमेज और एक्सफोलिएशन की कमी के चलते स्किन अनइवन और डल नजर आ सकती है। हो सकता है कि जब आप अपनी स्किन को टच करें तो इससे आपकी स्किन कहीं से ड्राई व रफ तो कहीं से ऑयली नजर आए। ऐसे में अपनी स्किन के टेक्सचर को बेहतर बनाने के लिए आप एक अच्छे स्किनकेयर रूटीन को फॉलो कर सकती हैं। तो चलिए आज इस लेख में हम आपको कुछ ऐसे स्किन केयर टिप्स के बारे में बता रहे हैं, जो स्किन टेक्सचर को इंप्रूव करेंगे-

जरूर करें एक्सफोलिएट

inside    FACE TEXURE

डेड स्किन सेल्स से लेकर गंदगी, तेल और अन्य अशुद्धियों का संचय स्किन टेक्सचर्ड का एक प्रमुख कारण है। ऐसे में स्किन टेक्सचर को बेहतर बनाने के लिए डेड स्किन सेल्स को दूर करना बेहद जरूरी है। ऐसे में एक्सफोलिएशन आपकी स्किन के लिए वरदान से कम नहीं है। हालांकि आपको इस बात का भी ध्यान रखना चाहिए कि ओवर एक्सफोलिएशन आपकी स्किन को नुकसान पहुंचा सकता है और उसे अधिक सेंसेटिव बना सकता है। इसलिए आप सप्ताह में दो बार से अधिक अपने चेहरे को एक्सफोलिएट करने से बचें और हमेशा एक जेंटल एक्सफोलिएटर का उपयोग करें।

विटामिन सी का इस्तेमाल

inside  VITAMIN C

आमतौर पर बढ़ती उम्र में जब स्किन में कोलेजन का नुकसान होता है तो इसका असर स्किन टेक्सचर पर भी पड़ता है। इसलिए यह जरूरी है कि आप अपने स्किन टेक्सचर को बेहतर बनाने के लिए आप एंटी-ऑक्सीडेंट्स को अपने स्किन केयर रूटीन में शामिल करें। विटामिन सी युक्त स्किन केयर प्रॉडक्ट्स से लेकर विटामिन सी कैप्सूल व फेस पैक आदि की मदद से अपनी स्किन टेक्सचर को बेहतर बना सकती हैं। विटामिन सी आपकी स्किन को हील करता है और उसे रिपेयर करके स्किन टेक्सचर को बेहतर बनाता है।

इसे ज़रूर पढ़ें-5 रुपए में घर पर करें 'Mint Facial' और पाएं बेदाग त्‍वचा

अप्लाई करें सनस्क्रीन

inside  SUNSCREEN

सन एक्सपोजर कई स्किन केयर इश्यूज का कारण बन सकता है और अनइवन स्किन टेक्सचर भी इसमें से एक है। इसलिए अगर आप अपने स्किन टेक्सचर को बेहतर बनाना चाहती हैं तो ऐसे में जरूरी है कि आप सनस्क्रीन को हर दिन अप्लाई करें। साथ ही चार से पांच घंटे में इसे रि-अप्लाई करना ना भूलें।

 

Recommended Video

मॉइश्चराइजर को बिल्कुल भी ना भूलें

inside  MOSURIZER

वास्तव में आपका स्किन टेक्सचर ही इस बात का संकेत देता है कि उसे वास्तव में किस चीज की जरूरत है। उदाहरण के तौर पर, अगर आपको स्किन टच करने में सामान्य से अधिक ऑयल महसूस होता है तो यह बताता है कि आपको अपने स्किन केयर रूटीन में मॉइश्चराइजर को शामिल करने की आवश्यकता है। दरअसल, जब आप मॉइश्चराइजर अप्लाई नहीं करतीं तो इससे आपकी स्किन रूखेपन से लड़ने के लिए अतिरिक्त सीबम का उत्पादन करती है, जिससे स्किन ऑयली नजर आती है। वहीं, मॉइश्चराइज़र आपकी त्वचा को अत्यधिक शुष्क होने से रोकता है और जिससे अतिरिक्त तेल उत्पादन नियंत्रण में रहता है।

इसे ज़रूर पढ़ें-DIY: त्वचा की रंगत निखारने के लिए जरूर ट्राई करें आटे का ये होममेड फेस पैक

 

फेशियल ऑयल्स आएंगे काम

inside  OIL

फेशियल ऑयल्स की मदद से भी स्किन टेक्सचर को सुधारा जा सकता है। दरअसल, यह स्किन के नेचुरल ऑयल को रि-बैलेंस करने में मदद करते हैं। यह आपकी त्वचा को अतिरिक्त तेलों के उत्पादन से रोकता है, जो आपकी स्किन को हेल्दी रखता है। साथ ही अगर फेशियल ऑयल्स को स्किन केयर रूटीन में शामिल किया जाए तो इससे ब्लैकहेड्स और व्हाइटहेड्स होने की संभावना को भी काफी हद तक कम किया जा सकता है।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image credit- freepik-com