एसेंशियल ऑयल का इस्तेमाल लंबे समय से किया जाता रहा है। अरोमाथेरेपी के दौरान एसेंशियल ऑयल की मदद से सिरदर्द से लेकर थकान तक को दूर किया जाता है। वैसे अब महिलाएं इसे अपने ब्यूटी केयर रूटीन में भी शामिल करने लगी हैं, क्योंकि इन एसेंशियल ऑयल की मदद से एक्ने से लेकर डार्क स्किन तक की समस्याओं से निजात पाई जा सकती है। अलग-अलग पौधों के अर्क से प्राप्त किए जाने वाले इन एसेंशियल ऑयल का इस्तेमाल कई तरह से किया जा सकता है। साथ ही अपनी स्किन प्रॉब्लम के अनुसार एसेंशियल ऑयल को चुना जा सकता है। मसलन, रिलैक्सिंग इफेक्ट के लिए लैवेंडर ऑयल का इस्तेमाल किया जा सकता है, वहीं एक्ने आदि समस्या को दूर करने के लिए टी ट्री ऑयल को यूज करना अच्छा माना जाता है। हालांकि, अभी भी ऐसी कई महिलाएं हैं, जो इनके बेनिफिट्स को जानने के बाद भी इसे इस्तेमाल करने से बचती हैं, क्योंकि वह इससे जुड़े कुछ मिथ्स को सच मान लेती हैं। तो चलिए आज हम आपको एसेंशियल ऑयल से जुड़े कुछ मिथ्स व उनकी सच्चाई के बारे में बता रहे हैं-

मिथ 1- ज्यादा से मिलेगा फायदा

myth of oil

सच्चाई- कुछ महिलाएं मानती हैं कि एसेंशियल ऑयल का अधिक प्रयोग उन्हें लाभ पहुंचाएगा। इतना ही नहीं, एसेंशियल ऑयल बेचने वाली कंपनियां भी यह दावा करती हैं कि उनके एसेंशियल ऑयल को घर की क्लीनिंग से लेकर, ब्यूटी रूटीन यहां तक कि डाइट में भी शामिल किया जा सकता है। यह सच है कि एसेंशियल ऑयल कई तरीके से काम में लाए जा सकते हैं, लेकिन यहां आपको यह भी समझना होगा कि आपकी बॉडी एसेंशियल ऑयल के प्रति तभी रिस्पॉन्स करती हैं, जब इन्हें कम मात्रा में और रूक-रूककर इस्तेमाल किया जाए। एसेंशियल ऑयल का ओवर एक्सपोजर समय के साथ आपकी बॉडी को उसके प्रति सेंसेटिव बना देता है। 

मिथ 2- स्किन पर सीधे करें इस्तेमाल

Essential Oil tips

सच्चाई- नहीं, इस बात में कोई सच्चाई नहीं है। कुछ महिलाएं मार्केट से एसेंशियल ऑयल लेकर आती है और उसे सीधे ही स्किन पर अप्लाई करना शुरू कर देती हैं, जबकि आपको ऐसा नहीं करना चाहिए। अगर आप एसेंशियल ऑयल के विपरीत प्रभाव से बचना चाहती हैं तो उसमें हमेशा पहले कैरियर ऑयल मिक्स करें और फिर डायलूट करने के बाद ही इस्तेमाल करें। एसेंशियल ऑयल काफी स्ट्रांग होते हैं और इन्हें सीधा स्किन पर लगाने से आपकी स्किन में इरिटेशन व रेडनेस सहित अन्य कई समस्याएं हो सकती हैं।

इसे ज़रूर पढ़ें-घर में रखे हुए बादाम से ऐसे पाएं साफ और निखरी त्वचा, जानें आसान स्किन केयर रूटीन

मिथ 3- एसेंशियल ऑयल कभी एक्सपायर नहीं होते।

Essential Oil

सच्चाई-यह सच है कि एसेंशियल ऑयल की शेल्फ लाइफ अन्य तेलों की अपेक्षा अधिक होती है। हालांकि, एक सच यह भी है कि एसेंशियल ऑयल की भी एक्सपायरी डेट होती है। इसलिए, जब भी आप इन्हें इस्तेमाल करें तो एक बार इनकी डेट जरूर चेक करें। एक बार एक्सपायर हो जाने के बाद एसेंशियल ऑयल को ब्यूटी रूटीन या फिर हेल्थ इश्यूज के लिए इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। हालांकि, अगर आप चाहें तो घर की क्लीनिंग आदि में इसे इस्तेमाल कर सकती हैं।

Recommended Video

मिथ 4- किसी भी एसेंशियल ऑयल को कर सकते हैं इस्तेमाल

Essential Oil uses

सच्चाई- यह भी एसेंशियल ऑयल को लेकर एक पॉपुलर मिथ है, जिस पर महिलाएं बिना सोचे-समझे भरोसा कर लेती हैं। जब वह एसेंशियल ऑयल का इस्तेमाल करना शुरू करती हैं तो वह तरह-तरह के एसेंशियल ऑयल को स्टॉक कर लेती हैं या फिर किसी भी एसेंशियल ऑयल का इस्तेमाल करने लग जाती हैं। जबकि यह दोनों ही तरीके गलत हैं। दरअसल, एसेंशियल ऑयल को अलग-अलग पौधों के अर्क से निकाला जाता है। इसलिए उनके गुण भी अलग होते हैं। ऐसे में जरूरी है कि आप अपनी स्किन प्रॉब्लम व स्किन टाइप को ध्यान में रखते हुए एसेंशियल ऑयल का इस्तेमाल करें।

इसे ज़रूर पढ़ें-एसेंशियल ऑयल को खरीदते व इस्तेमाल करते समय इन टिप्स का रखें ख्याल

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit- Freepik