• + Install App
  • ENG
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search
author-profile

गर्मियों से पहले अपने लिए कैसे चुनें परफेक्ट सनस्क्रीन

अगर आपको अपने लिए परफेक्ट सनस्क्रीन चुननी है तो 5-6 बातों का ख्याल हमेशा रखना होगा। जानिए क्या हैं वो टिप्स। 
author-profile
Next
Article
how to choose perfect sunscreen

सर्दियों का मौसम अब जाने वाला है और गर्मियां आने में थोड़ा ही समय रह गया है। ये वो समय है जहां आपको सनस्क्रीन की जरूरत ज्यादा पड़ती है और थोड़ी देर धूप में बैठने का मन भी करता है। गुनगुनी धूप का मज़ा लेते समय टैनिंग और सनबर्न की समस्या न हो इसके लिए तो सनस्क्रीन लगानी जरूरी होती है, लेकिन एक बात जो अधिकतर लोग नहीं समझते हैं वो ये कि सनस्क्रीन भी स्किन टाइप और जरूरत के हिसाब से ही लेनी चाहिए। 

अगर आपसे पूछा जाए कि आप किस तरह से अपनी सनस्क्रीन चुनती हैं तो आपका जवाब क्या होगा? 

भले ही आप घूमने जाएं, सामान लेने जाएं, पार्क में टहलने जाएं या फिर घर के आंगन में बैठी हों, सनस्क्रीन की जरूरत को नकारा नहीं जा सकता है। सन डैमेज आगे चलकर स्किन डैमेज बन सकता है और इसलिए आपको सही सनस्क्रीन की जरूरत हमेशा महसूस होगी। पर मार्केट में इतने तरह के ब्रांड्स उपलब्ध हैं तो आखिर उनमें से अपने लिए कौन सा ब्रांड चुना जाए? 

डर्मेटोलॉजिस्ट डॉक्टर जूशिया ने अपने इंस्टाग्राम पर सनस्क्रीन से जुड़े कुछ हैक्स बताए हैं और ये बताया है कि किस तरह से आपको अपने लिए परफेक्ट सनस्क्रीन चुननी चाहिए। 

1. ब्रॉड स्पेक्ट्रम वाली सनस्क्रीन चुनें

ब्रॉड स्पेक्ट्रम का मतलब है ऐसा प्रोडक्ट जो यूवीए और यूवीबी दोनों तरह की रेज से आपको बचाता है। ये न सिर्फ सन डैमेज से बचाता है बल्कि ये एंटी-एजिंग स्किन केयर के लिए भी जरूरी है और साथ ही साथ ये स्किन कैंसर से भी बचा सकती है। 

यूवीए, यूवीबी और आईआर रेडिएशन से बचाने के लिए ब्रॉड स्पेक्ट्रम सनस्क्रीन ही जरूरी होगी। 

selecting perfect sunscreen

इसे जरूर पढ़ें- टैनिंग से बचने के लिए घर पर ये स्‍पेशल सनस्‍क्रीन बनाएं

2. एसपीएफ 30 या उससे ज्यादा चुनें

पहले ये सोचा जाता था कि एसपीएफ 15 काफी होगा, लेकिन आपको एसपीएफ 30 या उससे ज्यादा ही चुनना चाहिए। ऐसी सनस्क्रीन जिसमें ज्यादा एसपीएफ है और वो स्किन में आसानी से एब्जॉर्ब हो जाती है वो आपकी स्किन के लिए अच्छी है। ऑयली स्किन वाले जेल बेस्ट सनस्क्रीन चुन सकते हैं और ड्राई स्किन वाले क्रीम बेस्ड सनस्क्रीन चुनें। 

एसपीएफ 30 का मतलब 1/30 सनरेज स्किन में जाएंगी और एसपीएफ 50 का मतलब 1/50 सनरेज स्किन में जाएंगी। 

आपको PA फैक्टर भी चेक करना चाहिए जो +++ होना चाहिए। ये यूवीए प्रोटेक्शन के लिए जरूरी होता है। 

 

3. अपने स्किन टाइप को बिल्कुल न भूलें 

आपको अपने स्किन टाइप का भी ध्यान रखना चाहिए। जब भी आप सनस्क्रीन चुनना चाहें तो ये ध्यान रखें कि ड्राई स्किन वालों को हमेशा ऐसी सनस्क्रीन चाहिए होगी जो मॉइस्चराइजर का काम भी करे। ऐसे में क्रीम बेस्ड सनस्क्रीन सबसे बेस्ट होगी और ऑयली और कॉम्बिनेशन स्किन वालों को वाटर बेस्ड और जेल बेस्ड सनस्क्रीन अच्छी लगेगी।  

अगर आपकी स्किन सेंसिटिव है और आसानी से इरिटेटेड हो जाती है तो ऐसे प्रोडक्ट्स जिनमें अल्कोहल, फ्रेग्रेंस या फिर प्रिजर्वेटिव्स आदि हों उन्हें न चुनें। सनस्क्रीन हर टाइप की स्किन टोन वालों को चुननी चाहिए।  

sunscreen selection and causes

4. पानी से बचाव 

वाटर रेजिस्टेंस ये बताता है कि आपकी सनस्क्रीन पानी में या पसीना आने के बाद कितनी टिटेगी। ये 40 या 80 मिनट तक बची रह सकती है। इसके बाद आपको सनस्क्रीन दोबारा लगानी पड़ सकती है। वाटर रेजिस्टेंस काफी जरूरी है ताकि आपकी सनस्क्रीन लंबे समय तक आपको प्रोटेक्शन दे सके।  

sunscreen and brands

5. ब्लू लाइट फिल्टर 

अगर आप सनस्क्रीन चुन रही हैं तो आप एक ऐसी सनस्क्रीन भी चुन सकती हैं जिसमें ब्लू लाइट फिल्टर मौजूद हो। ये इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस जैसे लैपटॉप और मोबाइल फोन्स आदि से भी आपके चेहरे को बचाती है। कई प्रोडक्ट्स में अब ब्लू लाइट फिल्टर प्रोटेक्शन भी मिलता है और आपको इस पर भी ध्यान देने की जरूरत है।  

इसे जरूर पढ़ें- सनस्‍क्रीन लगाते वक्‍त न करें ये 5 बड़ी गलतियां 

Recommended Video

6. सनस्क्रीन के इंग्रीडिएंट्स पर ध्यान दें 

सनस्क्रीन चुनते समय आपको उसके इंग्रीडिएंट्स पर भी ध्यान देना चाहिए। केमिकल और फिजिकल दो तरह की सनस्क्रीन होती हैं और नाम से ही समझ आ रहा है कि केमिकल सनस्क्रीन आपकी स्किन के लिए इतनी अच्छी नहीं होगी। comedogenic, PABA जैसे इंग्रीडिएंट्स से दूर रहें।  

ये पोर्स को ब्लॉक भी करते हैं और साथ ही साथ स्किन को गर्म भी कर सकते हैं। जिंक और टाइटेनियम जैसे इंग्रीडिएंट्स को चुनें जो सुरक्षित साबित हो सकते हैं।  

अपनी सनस्क्रीन चुनने से पहले इंग्रीडिएंट्स की लिस्ट को एक बार जरूर देख लें और साथ ही साथ इनपर रिसर्च भी कर लें।  

सनस्क्रीन चुनने से पहले इन बातों का भी रखें ध्यान- 

  • इसे आपको रोज़ाना लगाना होगा। 
  • ज्यादा महंगी सनस्क्रीन का मतलब ये नहीं कि ये अच्छी होगी। 
  • छाता, कार की विंडो आदि आपको सन डैमेज से नहीं बचा सकती है। 
  • सनस्क्रीन की जरूरत हमेशा होती है भले ही मौसम कैसा भी हो। 
  • सनस्क्रीन का एसपीएफ और उसका कवरेज दोनों अलग-अलग होता है इसलिए अपने स्किन टाइप का भी ख्याल रखें।  

एक बार सनस्क्रीन चुनने का प्रोसेस थोड़ा मुश्किल भरा साबित हो सकता है, लेकिन अगर आपको अपनी स्किन के हिसाब से परफेक्ट प्रोडक्ट मिल जाता है तो फिर आपको बार-बार अलग सनस्क्रीन चुनने की जरूरत नहीं होगी। एक परफेक्ट प्रोडक्ट आपके लिए सही साबित हो सकता है। अगर आपको कोई स्किन प्रॉब्लम है तो अपने डॉक्टर से बात करके आप अपने लिए बेस्ट सनस्क्रीन चुन सकते हैं।  

अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी है तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से। 

Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।