आप में से कितने लोगों के साथ ये समस्या रही है कि खराब पानी के कारण हेयर फॉल बढ़ गया है। कई लोगों के घरों में खारे पानी की समस्या होती है और पानी को फिल्टर करने के लिए काफी कुछ किया जाता है। खारा पानी स्किन और बालों के लिए अच्छा नहीं माना जाता है। भले ही ये सीधे तौर पर आपको नुकसान ना पहुंचाए, लेकिन लगातार इस्तेमाल से स्किन और बालों में कुछ ना कुछ असर जरूर पड़ता है।

अगर आपको भी लगता है कि खारे पानी की वजह से आप परेशान हो सकती हैं तो इसके लिए क्या करना चाहिए? डर्मेटोलॉजिस्ट डॉक्टर जूशिया ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर इससे जुड़ी जानकारी शेयर की है। डॉक्टर जूशिया के मुताबिक अगर आप लंबे समय तक इस तरह के पानी का इस्तेमाल करते हैं तो इससे बालों की समस्या बढ़ सकती है।

क्या होता है खारा पानी?

खारा पानी या हार्ड वाटर वो पानी होता है जिसमें बहुत ही ज्यादा मिनरल कंटेंट होता है। सॉफ्ट वाटर के उलट इस पानी में लाइमस्टोन, क्लोरीन, चॉक या जिप्सम, कैल्शियम और मैग्नीशियम के साथ सल्फेट्स और बाइकार्बोनेट्स भी होते हैं। इस पानी को उबाल कर पीने की सलाह भी दी जाती है। ये पानी मिनरल कंटेंट में इतना ज्यादा होता है कि इससे स्कैल्प से जुड़ी समस्याएं और हेयर फॉल भी होने लगता है।

hard water problem hair

इसे जरूर पढ़ें- फ्रिज़ी बालों के लिए सबसे आसानी से बन सकते हैं ये 3 हेयरस्टाइल

हार्ड वाटर में कई तरह के सॉल्ट मौजूद होते हैं जो शैम्पू की क्लींजिंग प्रॉपर्टीज पर असर करते हैं और इसी कारण स्कैल्प ठीक से साफ नहीं हो पाता है और हेयर फॉल बढ़ता है। इसके कारण शैम्पू गंदगी और एक्स्ट्रा ऑयल नहीं निकाल पाते हैं और लगातार इसका इस्तेमाल बालों के पतले होने से जोड़ा जा सकता है।

1. पानी को फिल्टर करने की कोशिश करें-

या तो आप वॉटर सॉफ्टनर को इंस्टॉल कर सकती हैं या फिर सिर्फ हेड वॉश के लिए अलग से पानी मंगवा सकती हैं। पूरी तरह से हार्ड वाटर का इस्तेमाल बालों में करने से बचें ये समस्या को बढ़ा सकता है। पानी उबालकर इस्तेमाल करना भी काम नहीं करेगा क्योंकि आपको इस पानी के मिनरल कंटेंट को कम करना होगा।

2. क्लेरिफाइंग शैम्पू का इस्तेमाल-

क्लेरिफाइंग शैम्पू असल में हार्ड वाटर के लिए ही इस्तेमाल किया जाता है। इसे हेयर डिटॉक्स कहा जा सकता है जो स्कैल्प से गंदगी, मिनरल्स और ऑयल्स को निकालता है। इनमें अधिकतर सिंथेटिक इंग्रीडिएंट्स होते हैं जो ज्यादा इस्तेमाल करने पर आपके बालों को ड्राई कर सकता है। इसलिए इसे हफ्ते में सिर्फ एक ही बार इस्तेमाल करें। अगर आप इसे ज्यादा बार इस्तेमाल करेंगे तो बालों की क्वालिटी भी खराब हो सकती है।

 

3. कंडीशनर का इस्तेमाल जरूर करें- 

अगर आप हार्ड वाटर की बात कर रहे हैं तो ये बालों को डिहाइड्रेट जरूर कर सकता है। इसलिए ये जरूरी है कि आप शैम्पू और कंडीशनर का इस्तेमाल करें। शैम्पू हमेशा माइल्ड होना चाहिए और साथ ही साथ कंडीशनर की कंसिस्टेंसी थोड़ा क्रीमी होनी चाहिए। 

4.  लीव इन कंडीशनर का इस्तेमाल- 

अगर आपके बाल ज्यादा ड्राई हो रहे हैं तो लीव इन कंडीशनर का इस्तेमाल जरूर करें। ये बालों को ज्यादा सॉफ्ट करेंगे और उन्हें मजबूती भी देंगे। हार्ड वाटर से बाल धोते समय ये ज्यादा बेहतर ऑप्शन साबित हो सकता है। 

इसे जरूर पढ़ें- सर्दियों में घर पर बनाएं ये आयुर्वेदिक तेल, झड़ते और सफेद होते बालों की समस्या से मिलेगा आराम 

5. पूल का इस्तेमाल करते समय रखें ध्यान- 

स्विमिंग पूल का पानी हमेशा क्लोरीन से भरा हुआ होता है और इससे बचने के लिए आप स्विमिंग कैप का इस्तेमाल कर सकते हैं। क्लोरीन के पानी से बालों के ड्राई होने और स्कैल्प के इन्फेक्शन होने की समस्या काफी बढ़ जाती है। 

6. बारिश के पानी से दूर रहें- 

ध्यान रखें कि बारिश के पानी के साथ-साथ हवा में मौजूद पोल्यूटेंट्स भी जमीन पर गिरते हैं और आप जितनी बार बारिश के पानी से नहाने की कोशिश करेंगे उतनी ही बार बालों में ड्राइनेस बढ़ेगी। इसलिए कोशिश करें कि आप बारिश के पानी से कम नहाएं। 

ये सारे टिप्स हार्ड वाटर की समस्या में आपकी मदद कर सकते हैं। अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी है तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।