सर्दियों के मौसम में फटी एड़ियों की समस्‍या बेहद आम है। वैसे तो कुछ लोगों को फटी एड़ियों की समस्‍या किसी भी मौसम में हो जाती है, मगर सर्दियों के आते ही यह बढ़ जाती है और एक खराब रूप ले लेती है। बाजार में इस समस्‍या से राहत पाने के लिए बहुत सारी क्रैक क्रीम्‍स आती हैं, मगर इनका प्रभाव स्‍थाई नहीं होता है। जब तक आप इन क्रैक क्रीम्‍स का उपयोग करती रहेंगी तब तक आपको फटी एड़ियों की समस्‍या से राहत मिलती रहेगी, मगर जैसे ही आप इनका प्रयोग बंद करेंगी, यह समस्‍या दोबारा बढ़ जाएगी। 

आप फटी एड़ियों की समस्‍या को दूर करने के लिए कुछ घरेलू नुस्‍खों को भी आजमा सकती हैं। आपको बता दें कि मधुमक्खी के छत्ते से निकला वैक्‍स फटी एड़ियों की समस्‍या को दूर करने का रामबाण उपाय है। यह वैक्‍स आपको बाजार में बी-वैक्‍स के नाम से आसानी से मिल जाएगा। आप बी-वैक्‍स से घर पर ही फुट मास्‍क तैयार कर सकती हैं। इस फुट मास्‍क को बनाना आसान है और बेस्‍ट बात तो यह है कि एक बार इस फुट मास्‍क को यूज करने पर ही आपको अच्‍छे नतीजे देखने को मिलेंगे। 

तो चलिए आज हम आपको घर पर बी-वैक्‍स से बनने वाले फुट मास्‍क के बारे में बताते हैं- 

इसे जरूर पढ़ें: बेसन-चावल से बनाइये अपना foot scrub

home remedies to heal cracked heels

DIY फुट मास्‍क 

इस फुट मास्‍क में पड़ने वाली हर सामग्री आपको आसानी से बाजार में मिल जाएगी। बेस्‍ट बात तो यह है कि इन तीनों ही सामग्रियों से आपके पैर की त्‍वचा को कोई भी नुकसान नहीं पहुंचेगा और एक दिन में ही आपकी फटी एड़ियों की समस्‍या में बहुत राहत मिल जाएगी। 

सामग्री 

  • 2 बड़े चम्‍मच बी-वैक्‍स 
  • 1 बड़ा चम्‍मच ग्लिसरीन 
  • 1 बड़ा चम्‍मच नारियल का तेल 

विधि 

  • सबसे पहले एक पैन में बी-वैक्‍स डालें और उसे गरम कर लें। आपको बता दें कि बी-वैक्‍स बेहद गाढ़ा और स्टिकी होता है। सर्दियों के मौसम में यह जम जाता है और इसे गरम किए बिना आप इसमें कुछ भी नहीं मिला सकती हैं। 
  • इसके बाद बी-वैक्‍स की तरह ही नारियल के तेल को भी गरम कर लें। बेस्‍ट होगा कि आप कोल्‍ड-प्रेस्‍ड नारियल के तेल का इस्‍तेमाल करें। 
  • अब आप नारियल के तेल और पिघले हुए बी-वैक्‍स को एक बाउल में डालें और अच्‍छी तरह से मिक्‍स करें। 
  • अब इस मिश्रण में ग्लिसरीन डालें और फिर से अच्‍छी तरह से मिक्‍स करें। आपको थोड़ी देर तक इस मिश्रण को मिलाना होगा ताकि नारियल का तेल और ग्लिसरीन अच्‍छी तरह से बी-वैक्‍स में मिल जाए। 
  • साथ ही इस बात का ध्‍यान रखें कि बी-वैक्‍स यदि दोबारा जमना शुरू हो गया तो इस मिश्रण को किसी अच्‍छे कंटेनर में रखना आपके लिए मुश्किल हो जाएगा। इसलिए मिश्रण जब गरम हो तो उसे अच्‍छे से मिक्‍स करने के तुरंत बाद ही एयर टाइट कंटेनर में रख लें। 
 
how to treat cracked heels

कैसे करें इस फुट मास्‍क का इस्‍तेमाल 

  • इस होममेड फुट मास्‍क का इस्‍तेमाल करने के लिए बेस्‍ट है कि आप इसे रात के वक्‍त, जब आप सोने जा रही हों तब पैरों में में लगाएं। 
  • इसे लगाने से पहले पहले अपने पैरों को 10 मिनट के लिए गरम पानी में डुबो कर रखें। आप गरम पानी में नमक भी डाल सकती हैं। आपको बता दें कि नमक बहुत अच्‍छा एक्‍सफोलिएटर होता है और त्‍वचा को कोमल भी बनाता है। नमक के पानी में पैर डुबो कर रखने से आपके पैरों में यदि दर्द रहता है तो वह भी दूर हो जाएगा। 
  • 10 मिनट बाद पैरों को गरम पानी से बाहर निकालें और फुट स्‍क्रब से एड़ियों को साफ करें। ध्‍यान रखें कि आपको फुट स्‍क्रब का इस्‍तेमाल ज्‍यादा जोर से नहीं करना है। इससे आपकी फटी एड़ियों को नुकसान भी पहुंच सकता है। 
  • इसके बाद अपने पैरों को साफ पानी से एक बार फिर से धो लें। 
  • अब साफ और सूखी तौलिया से पैरों को पोछें और अच्‍छी तरह से पानी को सुखा लें। 
  • इसके बाद बी-वैक्‍स से बने फुट मास्‍क को थोड़ा सा अलग बाउल में निकाल कर गरम करें। इस मिश्रण को इतना ही गरम करें, जितना की आप उसे टच कर पाएं। फिर इसे एड़ियों की फटी दरारों में लगाएं। 
  • अब कुछ देर के लिए पैरों में मोजे पहन लें और सोने से पहले मोजों को उतार लें। 
  • सुबह उठ कर जब आप अपने पैर देखेंगी तो एड़ियों की फटी दरारें काफी हद तक भर जाएंगी। उनमें से खून निकलना भी बंद हो जाएगा और दर्द में भी राहत मिलेगी। 
  • आप इस होममेड फुट मास्‍क को नियमित रूप से रात में सोने पहले यदि एड़ियों पर लगाएंगी तो वह चिकनी और कोमल हो जाएंगी। 

Recommended Video

बी-वैक्‍स के फायदे 

  • यह त्‍वचा के लिए एक नेचुरल मॉइश्‍चराइजर होता है। 
  • बी-वैक्‍स त्‍वचा को हाइड्रेटेड रखने का भी काम करता है और त्‍वचा को ड्राई नहीं होने देता है।
  • बी-वैक्‍स में एक्‍सफोलिएटिंग प्रॉपर्टीज भी होती हैं। इसे त्‍वचा पर लगाने से त्‍वचा पर चढ़ी डेड स्किन सेल्‍स की परत रिमूव हो जाती है। 

ग्लिसरीन के फायदे 

  • ग्लिसरीन एक बहुत ही अच्‍छा एमोलिएंट होता है। इससे त्‍वचा को डीप मॉइश्‍चराइज किया जा सकता है। 
  • ग्लिसरीन में एंटीप्‍यूरोटिक गुण होते हैं, इससे त्‍वचा में खुजली की समस्‍या दूर हो जाती है। 
  • जख्‍म भरने के लिए भी ग्लिसरीन एक अच्‍छा विकल्‍प है। इसमें मौजूद हुमेक्‍टैंट घाव को जल्‍दी भर देते हैं। 

नारियल के तेल के फायदे 

  • नारियल का तेल बालों के साथ-साथ त्‍वचा के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है। इसमें मौजूद हैल्‍दी फैटी एसिड्स त्‍वचा को ड्राई नहीं होने देते हैं। 
  • नारियल का तेल त्‍वचा पर किसी भी तरह के फंगल इन्‍फेक्‍शन को भी नहीं होने देता है। 
  • त्‍वचा पर यदि किसी भी तरह की जलन या खुजली की समस्‍या है तो वह भी नारियल का तेल लगाने से कम हो जाती है। 

अगर आपको भी एड़ियों के फटने से तकलीफ सहनी पड़ रही है तो इस घरेलू नुस्‍खे को जरूर अपना कर देखें। साथ ही यह आर्टिकल पसंद आया हो तो इसे शेयर और लाइक जरूर करें और इसी तरह और भी ब्‍यूटी आर्टिकल्‍स पढ़ने के लिए जुड़ी रहें हरजिंदगी से। 

Image Credit: Freepik