चेहरे की खूबसूरती में लंबे, काले और घने बाल चार-चांद लगा देते हैं। इसलिए हर महिला अपनी खूबसूरती को बनाए रखने के लिए बालों की अच्‍छी तरह से देखभाल करती है। वह बालों की समस्‍याओं को दूर करने के लिए नेचुरल उपायों की खोज में रहती हैं क्‍योंकि बाजार में मिलने वाले प्रोडक्‍ट में केमिकल्‍स की मौजूदगी के कारण बालों को नुकसान हो सकता है। 

इस बात को ध्‍यान में रखते हुए हम समय-समय पर बालों को खूबसूरत बनाने वाले नेचुरल उपाय आपके साथ शेयर करते रहते हैं। आज हम आपके लिए एक ऐसा जबरदस्‍त उपाय लेकर आए हैं जो लंबे समय से बालों की कई समस्याओं के उपचार के रूप में इस्तेमाल किया जा रहा है। जी हां हम शिकाकाई के बारे में बात कर रहे हैं। यह प्राचीन हेयर क्लींजर है जो बालों की समस्याओं से लड़ने के लिए भारत के बहुत पुराने उपायों में से एक है।

शिकाकाई विटामिन सी, विटामिन डी, और कई अन्य तत्वों से भरपूर है जो आपके बालों को हेल्‍दी और सुंदर बनाने में इस्‍तेमाल की जा सकती है। अगर आप भी अपनी बालों की सभी समस्‍याओं से छुटकारा पाने के लिए नेचुरल उपाय की तलाश में हैं तो आज हम आपको बताएंगे कि शिकाकाई क्यों महत्वपूर्ण है और आप इसका उपयोग कैसे कर सकती हैं। लेकिन सबसे पहले हम आपको इसे इस्‍तेमाल करने के तरीके के बारे में बता देते हैं।

शिकाकाई का उपयोग कैसे करें?

shikakai for hair health

सामग्री 

  • शिकाकाई- 2 बड़े चम्‍मच  
  • आंवला पाउडर- 2 बड़े चम्‍मच 
  • रीठा पाउडर- 1 चम्‍मच 
  • पानी- आवश्‍कतानुसार

बनाने का तरीका

  • इसे बनाने के लिए शिकाकाई में आंवला और रीठा पाउडर मिलाएं। 
  • फिर इन दोनों चीजों को इसे एक गर्म कप पानी में मिलाएं। 
  • अब पेस्ट को अच्छी तरह से अपने बालों में लगाएं। 
  • इसे 1-2 घंटे के लिए ऐसे ही छोड़ दें। 
  • फिर इसे पानी से धो लें। 
  • इससे आपके बाल सुपर शाइनी और पोषित हो जाएंगे।

आप शिकाकाई की मदद से बालों के लिए दूसरी तरह का हेयर पैक भी बना सकती हैं। इसके लिए सबसे पहले शिकाकाई पाउडर में दही मिलाएं और अच्छी तरह मिलाएं। अब इस पेस्ट को बालों और स्कैल्प पर अच्छी तरह लगाएं और फिर 30 मिनट के लिए छोड़ दें। इसके बाद बालों को माइल्ड शैंपू से धो लें।

बालों की ग्रोथ के लिए अच्‍छा

shikakai for hair care inside

चूंकि शिकाकाई एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होता है, यह फ्री-रेडिकल्‍स से लड़ने में मदद करता है जो बालों की ग्रोथ को नुकसान का कारण बनते हैं। इसलिए अगर आप अपने बालों की ग्रोथ को बढ़ाकर उन्‍हें लंबा, मजबूत और तेजी से बढ़ाना चाहती हैं तो शिकाकाई का इस्‍तेमाल जरूर करें। साथ ही शिकाकाई में विटामिन्स होते हैं जो हेयर फॉलिकल्स को पोषण प्रदान करके स्कैल्प के कोलेजन को बूस्ट करने में मदद करता है।

दो-मुंहे बालों का इलाज

अगर आपके बाल दो-मुंहे हो गए हैं तो शिकाकाई का इस्‍तेमाल करने का यह सबसे सही समय है। जी हां अगर प्रदूषण और केमिकल युक्‍त प्रोडक्‍ट्स का इस्‍तेमाल करने के कारण आपके बाल डल, ड्राई और दो-मुंहे हो गए हैं और बालों की क्‍वालिटी बिगड़ गई तो शिकाकाई का इस्‍तेमाल करें। यह स्वास्थ्यवर्धक पोषक तत्वों से भरपूर होता है इसलिए यह बालों को पुनर्जीवित करने और समस्‍याओं को दूर करने में आपकी मदद करता है।

बालों को शाइनी बनाएं

shikakai for damage hair=inside

एंटीऑक्सीडेंट, सैपोनिन और विटामिन से भरपूर शिकाकाई आपके बालों को सॉफ्ट और शाइनी बनाने के लिए बहुत अच्छा होता है। शिकाकाई में मौजूद तत्व बालों को गहराई से पोषण देने और स्कैल्प को साफ़ करने में मदद करते हैं जो बालों को हेल्‍दी शाइन में मदद करता है।

Recommended Video

डैंड्रफ से लड़ता है

शिकाकाई को डैंड्रफ को दूर करने की अद्भुत क्षमता के लिए जाना जाता है। यह हेयर फॉलिकल्स को बंद होने से रोकता है और जिद्दी डैंड्रफ को आसानी से दूर करता है। इसके अलावा यह हर्ब बालों को मजबूत करता है।

स्‍कैल्‍प के लिए अच्‍छा

शिकाकाई में एंटी-फंगल और एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं जो स्कैल्प से जुड़ी समस्याओं को कम करने में मदद करते हैं और स्कैल्प में ब्लड सर्कुलेशन को बेहतर करते हैं।

इसे जरूर पढ़ें:इन 5 घरेलू नुस्खों से मिलेगा असमय होने वाले सफेद बालों से छुटकारा

बालों को असमय सफेद होने से रोकें

बालों का काला रंग मेलानिन नामक पिगमेंट के कारण होता है। ये पिगमेंट बालों की जड़ों की सेल्स में पाए जाते हैं। जब मेलानिन बनना बंद हो जाता है या कम बनने लगता है तो बाल सफेद होने लगते हैं। हेयर केमिकल्स बालों के समय से पहले सफ़ेद होने का कारण बनते हैं जिन्हें शिकाकाई के उपयोग से प्रभावी रूप से कंट्रोल किया जा सकता है। ऐसा इसलिए क्‍योंकि शिकाकाई में मौजूद विटामिन्स और एंटीऑक्सीडेंट बालों को जरूरी पोषण देकर सफेद बालों को काला करने में मदद करते हैं।

आप भी बालों को खूबसूरत बनाने के लिए शिकाकाई का इस्‍तेमाल कर सकती हैं। हालांकि यह पूरी तरह से नेचुरल है लेकिन इसे इस्‍तेमाल करने से पहले एक बार पैच टेस्‍ट जरूर कर लें। इस तरह की और जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें। 

Image Credit: Freepik.com