भारत में त्वचा संबंधी सबसे आम समस्याओं में से एक त्वचा की झाइयां हैं। इसमें त्‍वचा पर काले पैचेज जैसे दिखाई देने लगते हैं जो चेहरे की खूबसूरती को कम कर देते हैं। हालांकि झाइयों के कारण रोगी की चिकित्सा स्थिति, इम्‍यूनिटी और पर्यावरण के आधार पर अलग हो सकते हैं। लेकिन सूरज के बहुत ज्‍यादा संपर्क में आने, ब्‍यूटी प्रोडक्‍ट्स से एलर्जी, इत्र से एलर्जी, ड्रग्स, ओरल कॉन्ट्रसेप्टिव पिल्स, हॉर्मोन की गोलियां, चोट लगने से त्वचा को नुकसान, प्रेग्‍नेंसी के दौरान, अनियमित मेनोपॉज, मोटापा या वजन का बहुत ज्‍यादा बढ़ना, तनाव, स्‍मोकिंग, विटामिन बी 3, बी 12 या डी की कमी, थायरायड विकार, इंसुलिन प्रतिरोध आदि के कारण समस्या बढ़ सकती है।

आयुर्वेद के अनुसार, त्वचा वाया वात और भृजक पित्त द्वारा और त्वचा का रंग भ्राजक पित्त द्वारा शासित है, जो पित्त का एक उप-दोष है। जब यह उप-दोष कंट्रोल से बाहर हो जाता है तब हम त्वचा की समस्‍याओं को देखते हैं, जिसमें झाइयां भी शामिल हैं। इस उत्तेजित पित्त को शांत करना के लिए आंतरिक और बाहरी तरीकों का कॉम्बिनेशन जरूरी होता है। कुछ चीजों को त्‍वचा पर लगाने और हर्बल चीजों को लेने से इसे आंतरिक और बाहरी दोनों तरह से समाप्त किया जा सकता है। शरीर में टॉक्सिन जमा होने से भी झाइयों की समस्‍या हो सकती है। 

आज हम आपके लिए कुछ आयुर्वेदिक घरेलू नुस्‍खे लेकर आए हैं जिन्‍हें इस्‍तेमाल करके आप प्रभावी रूप से झाइयों की समस्या को कंट्रोल कर सकती हैं। सबसे पहले कुछ जड़ी-बूटियों जैसे नीम, बबूल, त्रिफला, मुलेठी, भृंगराज, अमलतास आदि को अपने रूटीन में शामिल करें। यह त्वचा से संबंधित समस्‍याओं जैसे झाइयों, मेलास्मा, डार्क स्पॉट्स आदि में मदद करती हैं। इसके अलावा झाइयों वाली त्‍वचा पर नीचे दिए आयुर्वेदिक नुस्‍खों को लगाएं।

हल्दी

turmeric for pigmentaiton iinside

हर भारतीय घर में स्किन केयर में हल्दी का इस्तेमाल किया जाता है। झाइयों से बचने के लिए भी आप इसका इस्‍तेमाल कर सकती हैं। इसके लिए 1/2 चम्मच हल्दी को दही और बेसन के साथ मिलाकर गाढ़ा पेस्ट बनाएं। इसे फेस पैक के रूप में त्वचा पर लगाएं और गुनगुने पानी से साफ कर लें।

इसे जरूर पढ़ें:झाइयों को दूर भगाने के लिए ये 2 टिप्‍स अपनाएं, कुछ ही दिनों में दिखता है असर

मंजिष्ठा

Manjistha for pigmentaiton inside

मंजिष्ठा एक आयुर्वेदिक जड़ी बूटी है जिसके त्‍वचा से जुड़े कई फायदे हैं। यह ब्‍लड प्‍यूरीफायर है और त्वचा का इलाज अंदर से करता है। इसका मीठा, कड़वा और अम्लीय स्वाद पित्त को प्रभावी रूप से शांत करने वाला है। इसके इस्‍तेमाल से त्‍वचा हेल्‍दी और जवां दिखाई देती है। झाइयों के इलाज के लिए मंजिष्ठा कैप्सूल का सेवन रोजाना एक या दो बार किया जा सकता है। आप मंजिष्ठा पाउडर को शहद के साथ मिलाकर इसे चेहरे पर भी लगा सकती हैं। चेहरे पर इसे लगाकर 15-20 मिनट के लिए छोड़ दें। फिर अपनी त्‍वचा को साफ कर लें।

टमाटर का पेस्ट

टमाटर का पेस्ट लाइकोपीन में समृद्ध है जो त्वचा को सन डैमेज से बचाता है। टमाटर के रस को 20 मिनट के लिए त्वचा पर लगाएं और फिर हल्के धब्बों और त्वचा के रंग को हल्का करने के लिए गुनगुने पानी से धो लें।

मसूर दाल

masor dal  for pigmentaiton iinside

मसूर दाल एक ऐसी चीज है जो हर भारतीय किचन में आसानी से मिल जाती है। मसूर दाल का फेस मास्क झाइयों का बहुत अच्‍छा और फेमस इलाज है। एक कटोरी पानी में 50 ग्राम लाल मसूर को रात भर भिगो दें। फिर सुबह ब्लेंडर का उपयोग करके पेस्ट बनाएं। 20 मिनट के लिए पेस्ट को अपने चेहरे पर लगाएं और इसे ठंडे पानी से धो लें।

ग्रीन टी 

त्वचा पर इसे लगाने से ग्रीन टी का प्रभाव कम हो सकता है। कुछ मिनटों के लिए उबले हुए पानी में एक ग्रीन टी बैग को रखें। इसे निकालें और इसे अपनी त्वचा के गहरे पैच पर रगड़ें। ग्रीन टी बैग्स को अपनी आंखों के नीचे रखने से भी डार्क सर्कल्‍स को दूर किया जा सकता है।

केसर

saffron for face pigmentation inside

केसर झाइयों और काले धब्बे को कम करने के लिए एक उत्कृष्ट आयुर्वेदिक प्राकृतिक घटक है। थोड़ी मात्रा में केसर के कुछ टुकड़ों को पानी में भिगोएं और एक पेस्ट तैयार करने के लिए इसमें दो चम्मच हल्दी पाउडर मिलाएं। झाइयों और काले धब्बों को कम करने के लिए इस पेस्ट को अपने चेहरे पर लगाएं।

चंदन

गाढ़ा पेस्ट बनाने के लिए 1 चम्मच चंदन पाउडर में एक चम्मच संतरे का रस मिलाएं। डार्क स्पॉट वाले त्‍वचा पर फोकस करते हुए इसे फेस मास्क के रूप में लगाएं। इसे धोने से पहले 20 मिनट के लिए छोड़ दें। इसे हफ्ते में दो या तीन बार दोहराएं।

Recommended Video

एप्पल साइडर विनेगर

apple cider vinegarr for face pigmentation inside

एक कटोरी में पानी और एप्पल साइडर विनेगर की समान मात्रा मिलाएं और इसे काले धब्बों और झाइयों के निशान पर लगाएं। गुनगुने पानी से साफ करें और अपने पसंद के सीरम और मॉइश्‍चराइजर का उपयोग करें। अगर मिश्रण त्‍वचा पर तेज लग रहा हो तो इसमें ज्‍यादा पानी मिलाएं।

एलोवेरा जैल

आपकी त्‍वचा से जुड़ी लगभग सभी समस्याओं के लिए एलोवेरा एक चमत्कारिक घटक है। आपको बस इतना करना है कि आपके चेहरे पर काले धब्बे को हल्का करने के लिए एलोवेरा जूसया जैल को सीधे काले धब्बों पर लगाएं और इसे धोने से पहले 30 मिनट के लिए छोड़ दें। आप इसे रात भर अपने चेहरे पर भी छोड़ सकती हैं। गुनगुने पानी से साफ करने के बाद टोनर और मॉइश्चराइजर जरूर लगाएं।

इसे जरूर पढ़ें:चेहरे की झाइयों से छुटकारा पाने के लिए ये 7 आसान टिप्‍स अपनाएं

आप भी इन आयुर्वेदिक घरेलू नुस्‍खों को अपनाकर झाइयों की समस्‍या से निजात पा सकती हैं। हालांकि यह पूरी तरह से नेचुरल चीजों से बने हैं और इनके कोई साइड इफेक्‍ट्स नहीं हैं लेकिन फिर भी इन्‍हें इस्‍तेमाल करने से पहले एक बार पैच टेस्‍ट जरूर कर लें। ऐसा इसलिए क्‍योंकि हर किसी की त्‍वचा अलग तरह की होती है। ब्‍यूटी से जुड़े और आर्टिकल पढ़ने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें।  

Image Credit: Freepik.com