अगर आप अपनी फैमली के साथ वैष्णों देवी की यात्रा पर जा रही हैं तो इस बार आपकी वैष्णों देवी की यात्रा काफी आरामदायक हो सकती है। मॉर्डन पालकी में आपको कम थकान महसूस होगी और आपके लिए वैष्णों देवी का सफर बेहद ही आरामदायक बन जाएगा। 

दरअसल, आपकी वैष्णों देवी की यात्रा को आरामदायक बनाने वाली गुड न्यूज़ यह है कि इन दिनों वैष्णों देवी की चढ़ाई करने के लिए बेहद ही आरामदायक पालकी का इस्तेमाल किया जा रहा है। अब आप वैष्णों देवी जाएंगी तो आपको सफर में होने वाली थकान और दर्द से मुक्ति मिल सकेगी। 

वैष्णो देवी के दर्शन के लिए आने वाले बुजुर्ग और दिव्यांग श्रद्धालुओं को अब यात्रा के दौरान ना थकावट होगी और ना ही शरीर में दर्द। साथ ही उन्हें पालकी के झटके भी नहीं सहने पड़ेंगे। 

यहां आपको बता दें कि वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड ने श्रद्धालुओं के लिए विशेष पालकी तैयार करवाई है जो पूरी तरह आरामदायक व सुविधा संपन्न है। फिलहाल 10 पालकी का ट्रायल जारी है जो सफल भी हो रहा है। 

Vaishno Devi Sedan inside

Image Courtesy: Wikimedia

Read more: ये हैं गुजरात के 7 फेमस मंदिर जहां मोदी और राहुल भी टेकते हैं मत्था

जानिए क्या है मॉर्डन पालकी में सुविधाएं 

वैष्णों देवी की यात्रा को आरामदायक बनाने वाली मॉर्डन पालकी बैठने में बेहद आरामदायक है। श्रद्धालु अपने साथ छोटा बैग, पानी की बोतल, लैपटॉप आदि सामग्री भी रख सकती हैं। 

आपको बता दें कि पुरानी लोहे की पालकी के मुकाबले स्टेनलेस स्टील से बनी नई पालकी का वजन आधा है। पुरानी पालकी का वजन 70 किलो से अधिक था जबकि नई पालकी का वजन मात्र 30 से 40 किलो है। 

पालकी हल्की होने से अब 150 किलो वजन के श्रद्धालु भी आराम से माता के भवन तक पहुंच पाएंगे। पालकी की बनावट ऐसी है कि श्रद्धालुओं को झटके नहीं लगेंगे। 

पुरानी पालकी चार से पांच साल तक ही चलती थी जबकि नई पालकी दस से पंद्रह साल तक चलेगी। पुरानी पालकी को तैयार करने में 10 से 12 हजार रुपये का खर्च आता था जबकि नई पालकी 18 से 20 हजार रुपये में तैयार हुई है। 

Read more: इन 5 बातों का रखें खास ख्याल जब निकले आप केदारनाथ की यात्रा करने

Vaishno Devi Sedan inside

Image Courtesy: Wikimedia

वैष्णों देवी ट्रिप प्लान करने वाले यात्रिओं के लिए एक और है खुशखबरी 

गर्मियों की स्पेशल ट्रेनों का रूट जम्मूतवी से बढ़ाकर कटरा तक कर दिया गया है। यहां आपको बता दें कि इन गाड़ियों के लिए ऑनलाइन और रेलवे विंडो से बुकिंग शुरू हो गई है। 

आपको बता दें कि 18 मार्च 2018 से चैत्र नवरात्रि का शुभारंभ होने जा रहा है। 25 मार्च को अष्टमी और नवमी की तिथि दोनो एक साथ है। नवरात्रों के दिनों में वैष्णों देवी में हजारों श्रद्धालुओं की भीड़ लगी रहती हैं, ऐसे में अगर आप वैष्णों देवी जाने का प्लान कर रही हैं तो जल्द ही बुकिंग करा लेने में भलाई है। 

 

  • Kirti Jiturekha Chauhan
  • Her Zindagi Editorial