Close
चाहिए कुछ ख़ास?
Search

    14 फरवरी को ही क्यों मनाते हैं वैलेंटाइन डे, जानें पूरी कहानी

    क्या आप वैलेंटाइन डे के पीछे की कहानी को जानती हैं, आईए जानें।
    author-profile
    Updated at - 2023-01-20,16:36 IST
    Next
    Article
    why do we celebrate valentine day on february

    वैलेंटाइन डे कपल के लिए काफी खास होता है। इस दिन को कपल काफी खास तरीके से मनाते है। एक दूसरे से प्यार का इजहार करते हैं। एक- दूसरे को खुश करने के लिए वह सभी कुछ करते हैं जो आपके पार्टनर को पसंद हो। ऐसे में क्या आपने कभी सोचा है कि वैलेंटाइन डे के पीछे का इतिहास क्या है। आज के इस आर्टिकल में हम आपको वैलेंटाइन डे के पीछे का इतिहास विस्तार से बताने वाले हैं। 

    प्यार का सही अर्थ समझें

    14 फरवरी हर एक कपल के लिए खास है। प्रेम करने वाले हर एक व्यक्ति को इस दिन का खास इंतजार होता है। हर एक वक्ति इस दिन को काफी खास तरीके से मनाते हैं। प्यार में कोई शर्त नहीं होती बिना कुछ कहे एक दूसरे की बात को समझ लेना इसी को प्यार कहते हैं। एक- दूसरी की मजबूरी को समझना साथ ही हर एक सुख- दुख में एक- दूसरे का साथ निभाना इसे प्यार कहते हैं।

    क्यों मनाया जाता है वैलेंटाइन डे

    valentine day on february

    बताया जाता है कि 270 ईसवी में रोमन साम्राज्य के दौरान क्लाउडियस गोथिकसं द्वितीय नामक राजा राज्य करता था। उसे प्रेम बिलकुल भी पसंद नहीं था। साथ ही वह शादी के खिलाफ भी था। उसका मानना था कि प्रेम और शादी के चक्कर में योद्धा अपना लक्ष्य भूल जाता है।

    इसे भी पढ़ें: वैलेंटाइन के मौके पर वेस्ट चीजों से इस तरह खूबसूरत बना सकती हैं अपना घर

    सैनिकों के विवाह पर थी रोक

    राजा क्लाउडियस गोथिकस द्वितीय ने सैनिकों के विवाह पर भी रोक लगा दी थी। राजा का मानना था कि सैनिक बिना शादी के भी ताकतवर है। उसी राज्य में संत वैलेंटाइन भी रहते थे। उसे राजा के इस नियम का विरोध किया। साथ ही उन्होंने सैनिकों को भड़काया की वह शादी कर लें। कई सैनिकों ने उनकी बात को मानकर शादी भी कर लीं।

    इसे भी पढ़ें: वैलेंटाइन डे पर अपने साथी को भेजें ये रोमांटिक मैसेज और करें प्यार का इजहार

    संत को मारना चाहते थे राजा

    राजा को संत वैलेंटाइन डे के बारे में जानकारी मिली ऐसे में उन्होंने उनसे मिलने को कहा। मिलने के बाद राजा ने संत से उनका धर्म बदलने को कहा।  राजा ने संत को क्रिश्चियन धर्म छोड़कर रोमन धर्म अपनाने के लिए कहा। संत वैलेंटाइन ने इस बात से साफ इंकार कर दिया साथ ही उन्होने राजा को ही अपना धर्म बदलने को कहा। ऐसे में राजा को काफी गुस्सा आया और उन्होने संत को मारने की बात कह दी।

    14 फरवरी को मार दिया गया था संत को

    आपको बता दें कि राजा ने जिस दिन संत को मारा था उस दिन 14 फरवरी थीं। ऐसा कहा जाता है कि उनके मरने के बाद से ही वैलेंटाइन डे 14 फरवरी को मनाया जाने लगा था।  साल 496 में पहली बार वैलेंटाइन डे मनाया गया था। तब से लेकर आज तक 14 फरवरी को प्रेम का दिन वैलेंटाइन डे काफी धूमधाम से मनाया जाता है।

    अगर आपको यह स्टोरी अच्छी लगी हो तो इसे फेसबुक पर जरूर शेयर करें और इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ। इस आर्टिकल के बारे में अपनी राय आप हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं।

    Pic Credit: Freepik

    बेहतर अनुभव करने के लिए HerZindagi मोबाइल ऐप डाउनलोड करें

    Her Zindagi
    Disclaimer

    आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।