Close
चाहिए कुछ ख़ास?
Search

    जानिए कौन हैं यूपी की पहली महिला पुलिस कमिश्नर लक्ष्मी सिंह?

    इस लेख में हम आपको बताएंगे कि कौन हैं यूपी की पहली महिला पुलिस कमिश्नर लक्ष्मी सिंह जो हाल ही में नोएडा की पुलिस चीफ नियुक्त की गई हैं। 
    author-profile
    Updated at - 2022-11-29,17:20 IST
    Next
    Article
    who is laxmi singh in hindi

    यूपीएससी की परीक्षा भारत की सबसे मुश्किल परीक्षाओं में से एक होती है। इस परीक्षा को पास करने के लिए कई लोग परिश्रम करते हैं और अपनी लगन से यूपीएससी की परीक्षा को क्लियर करते हैं। यूपीएससी की परीक्षा को क्लियर करना और फिर अपने देश के लिए कार्य करना सभी के सौभाग्य में नहीं होता है लेकिन किसी ने सही कहा है ना कि पंखों से नहीं हौंसलों से उड़ान होती है। ऐसा ही कुछ करके दिखाया है यूपी की पहली महिला पुलिस कमिश्नर लक्ष्मी सिंह ने जो हाल ही में नोएडा की पुलिस चीफ नियुक्त हुई हैं। आइए जानते हैं कौन हैं यूपी की पहली महिला पुलिस कमिश्नर लक्ष्मी सिंह।

    कैसा है आईपीएस लक्ष्मी सिंह का करियर?

    who is ips laxmi singh

    आपको बता दें कि लक्ष्मी सिंह ने अपनी स्कूलिंग के बाद मैकेनिकल इंजीनियरिंग में बीटेक किया है। इसके बाद उन्होंने यूपीएसएसी परीक्षा दी थी और अपनी मेहनत और लगन से उन्होंने 33वीं रैंक हासिल हुई थी। साल 2004 में उनकी पहली पोस्टिंग एसएसपी के रूप में हुई थी। 

    आपको बता दें कि अपनी ट्रेनिंग के समय हैदराबाद के सरदार वल्लभभाई पटेल नेशनल अकेडमी से उन्हें सर्वश्रेष्ठ प्रोबेशनर का पुरस्कार भी मिला था। साल 2014 में वह डेप्युटी आईजी नियुक्त हुई थी और फिर साल 2018 में आईजी के रूप में उन्हें नियुक्त किया गया था। आपको बता दें कि आईपीएस लक्ष्मी सिंह साल 2018 में गौतमबुद्ध नगर में एसटीएफ के आईजी भी रह चुकी हैं।

    इसके बाद वह मेरठ के पुलिस ट्रेनिंग स्कूल में आईजी भी रही थी। इसके बाद उन्हें साल 2020 में लखनऊ ट्रांसफर किया गया था। हाल ही में उन्हें उत्तर प्रदेश सरकार ने नोएडा का पुलिस चीफ नियुक्त किया है और अब वह यूपी की पहली महिला पुलिस कमिश्नर बन चुकी हैं।

    इसे भी पढ़ें-10वीं में आई थी थर्ड डिवीजन फिर भी IAS बने अवनीश शरण

    मिले हैं ये सभी पुरस्कार

    आईपीएस लक्ष्मी सिंह को पीएम की ओर से सिल्वर बटन मिला है। इसके अलावा उन्हें केंद्रीय गृह मंत्रालय की ओर से पुरस्कार स्वरूप 9 एमएम की एक पिस्टल भी दी गई। यही नहीं जब लक्ष्मी डीआईजी थी तब उन्होंने कई इनामी अपराधियों का एनकाउंटर भी किया था जिसके बाद उन्हें कंप्यूटराइजेशन के काम के लिए पीएम मोदी ने सम्मानित किया।

    उन्हें लक्ष्मी सिंह को 2016 में पुलिस मेडल से नवाजा गया था और जब वह  हैदराबाद में ट्रेनिंग कर रही थी तब उन्हें बेस्ट प्रोबेशनर का भी खिताब मिला था। आपको बता दें कि लक्ष्मी को डीजीपी का सिल्वर और गोल्ड मेडल भी प्रदान किया गया है। लक्ष्मी सिंह ने साल 2021 में लखीमपुर खीरी हिंसा के समय भी बहुत अहम भूमिका निभाई थी। 

     इसे भी पढ़ें- IAS, IPS और IFS की रैंक कैसे होती है निर्धारित, कहां और कितना है ट्रेनिंग का समय

    तो यह थी जानकारी यूपी की पहली महिला पुलिस कमिश्नर लक्ष्मी सिंह के बारे में। उम्मीद है कि आपको हमारा ये आर्टिकल पसंद आया होगा। इसी तरह के अन्य आर्टिकल पढ़ने के लिए हमें आर्टिकल के नीचे आ रहे कमेंट सेक्शन में कमेंट करके जरूर बताएं और जुड़े रहें हमारी वेबसाइट हरजिंदगी के साथ।

     

    image credit- twitter 

    बेहतर अनुभव करने के लिए HerZindagi मोबाइल ऐप डाउनलोड करें

    Her Zindagi
    Disclaimer

    आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।