• ENG
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search

कौन हैं भारत माता? आखिर किसने बनाई उनकी पहली तस्वीर

‘भारत माता की जय’ का नारा लाखों दिलों में जोश भर देता है। लेकिन आखिर भारत माता कौन हैं, आइए जानते हैं इनके बारे में।
author-profile
Published -12 Jul 2022, 11:38 ISTUpdated -12 Jul 2022, 11:39 IST
Next
Article
bharat mata first historical painting

साडी़ पहनकर हाथों में तिरंगा लिए आपने किताबों या इंटरनेट पर भारत माता की फोटो देखी होगी या फिर आजादी के इतिहास की किताबों में‘ भारत माता कि जय’ के नारा पढ़ा होगा। यह नारा लाखों लोगों में जोश भर देता है, लेकिन क्या आपने कभी यह सोचा कि आखिर पेंटिंग में नजर आने वाली भारत माता कौन हैं? 

आज के आर्टिकल में हम आपको भारत माता और उनकी तस्वीर से जुडे़ इतिहास के बारे में बताएंगे, कि आखिर तस्विर में नजर आने वाली भारत माता कल्पना कब और कैसे  हुई।

पहली बार यहां पर नजर आई भारत माता

history of bharat mata and her painting

भारत माता(भारत माता मंदिर) के बारे में हमें किसी प्राचीन कहानी में सुनने को नहीं मिलता है। ऐसे में जो तस्वीर आज आप देखते हैं उसे 19वीं सदी के स्वतंत्रता संग्राम के दौरान तैयार किया गया था। सन 1873 के दौरान किरन चंद्र बनर्जी के लिखे नाटक का शीर्षक ‘भारत माता’था। इतिहास की माने इस नाटक में ही पहली बार ‘भारत माता की जय’ के नारे की शुरुआत हुई।

इसे भी पढ़ें- भारत की इन प्रसिद्ध पेंटिंग्स के बारे में कितना जानते हैं आप

इस तरह तैयार हुई भारत माता की पहली तस्वीर

bharat mata first painting

भारत की सबसे पहली तस्वीर बनाने का श्रेय अवनींद्रनाथ टैगोर को जाता है। इस वाटर कलर की तस्वीर में भारत माता भगवा रंग का बंगाली परिधान पहने नजर आईं थीं।  इस तस्वीर में नजर आने वाली देवी को बंग देवी भी कहा गया, जिसके हाथ एक हाथ में किताब, धान की पुली, माला और सफेद वस्त्र था।

कलाकारों की कल्पना से मिले भारत मां के अलग-अलग रूप

इस तस्वीर के बाद तमाम कलाकारों ने अलग-अलग तरीकों से भारत माता की तस्वीर बनाई। कहीं उन्हें मां उन्हें मां दुर्गा का स्वरूप दिखाया गया तो कहीं उन्हें मां गंगा के रूप में चित्रित किया गया। आजादी की लड़ाई के दौरान सुब्रमण्यम भारती जी ने भारत माता की तस्वीर बनाई, जिसमें भारत मां को गंगा की धरती के तौर पर दर्शाया गया है। ज्यादातर तस्वीरों में भारत माता साड़ी पहने, हाथ में भगवा झंडा लिए शेर पर सवार रहतीं।

इसे भी पढ़ें- जानते हैं दुनिया की कुछ मशहूर पेंटिंग्स के बारे में

भारत माता की तस्वीर में हुए बदलाव

evolution of bharat mata painting

देश की आजादी के दौरान कई तरह की तस्वीरें सामने आई। जिसमें भारत माता के साथ देश के राजनीतिक लीडर भी नजर आए। इसके अलावा कई तस्वीरों में भारत माता हाथों में तिरंगा झंडा लिए नजर आईं।

साल 1936 में बना भारत मां का पहला मंदिर

भारत में साल 1936 में वाराणसी के काशी यूनिवर्सिटी में भारत माता के पहले मंदिर की स्थापना हुई। जिसे शिव प्रसाद गुप्ता ने बनवाया। मंदिर का उद्घाटन महात्मा गांधी ने किया। इसके बाद विश्व हिंदू परिषद द्वारा भारत माता मंदिर की स्थापना की गई।तब से लेकर आज तक तस्वीरों में भारत माता को अलग-अलग तरह से दर्शाया गया। 

ये था हमारा आज का आर्टिकल, जिसमें हमने आपको भारत माता की तस्वीर से जुड़े इतिहास के बारे में बताया। आपको हमारा यह आर्टिकल अगर पसंद आया हो तो इसे लाइक और शेयर करें, साथ ही ऐसी जानकारियों के लिए जुड़े रहें हर जिंदगी के साथ।

Image Credit- wikipedia

Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।