वैसे तो शादी में बहुत सारे रीति रिवाज़ और रस्में होती हैं लेकिन इन रस्मों में सबसे ज्यादा महत्त्वपूर्ण रस्म है मेहंदी की रस्म। ऐसा माना जाता है कि मेहंदी का रंग दूल्हा दुल्हन के बीच प्यार को और ज्यादा गहरा बनाता है साथ ही रिश्ते को मजबूत बनाता है। यही कारण है कि शादी में हाथों और पैरों में मेहंदी लगाई जाती है। मेहंदी लगाते समय हर दुल्हन की यही इच्छा होती है कि उसकी मेहंदी का रंग सबसे गहरा चढ़े। मेहंदी का रंग जितना हाथों में सजता हुआ अच्छा लगता है उतना ही पैरों के लिए भी जरूरी होता है। ऐसी मान्यता है कि मेहंदी का गहरा रंग दुल्हन को उसके नए परिवार के साथ जोड़ता है। ये सभी परम्पराएं सदियों से चली आ रही हैं लेकिन एक और सबसे बड़ी बात ये है कि मेहंदी का रंग इसलिए भी गहरा होना चाहिए जिससे वो ब्राइडल लहंगे के साथ मैच कर सके। यही नहीं मेहंदी का रंग सिर्फ हाथों में ही नहीं बल्कि पैरों में भी अच्छा चढ़ना चाहिए। जब दुल्हन के पैरों में मेहंदी लगाई जाए तो कुछ बातों का ध्यान रखना जरूरी है। आइए जानें क्या हैं वो बातें -

प्राकृतिक रूप से सूखने दें

mehandi in feet design

मेहंदी लगाने के बाद किसी भी तरह की जल्दबाजी मेहंदी का लुक और डिज़ाइन दोनों को खराब कर सकती है। इसलिए मेहंदी को प्राकृतिक तरीके से सूखने दें इसे कभी भी एक बार में सुखाने की कोशिश न करें। इससे मेहंदी की डिज़ाइन टूट कर झड़ने लगती है और इसका रंग कहीं डार्क तो कहीं लाइट चढ़ता है। इसलिए पैरों में मेहंदी लगाकर ज्यादा चलने की बजाय एक ही जगह पर बैठकर या लेटकर इसे अच्छी तरह सूखने दें।

इसे भी पढ़ें: हाथों में मेहंदी लगवा रही हैं तो रखें इन 3 बातों का ध्‍यान, नहीं होगा कोई नुकसान

मेहंदी अप्लाई करने से पहले कराएं पैडीक्योर

mehandi in feet padicure

कभी भी पैरों में मेहंदी लगने के बाद वैक्सिंग या पैडीक्योर नहीं कराना चाहिए इससे मेहंदी का रंग हल्का हो जाएगा और वेडिंग सेरेमनी से पहले ही ये फीकी तो देखेगी ही और आपके पूरे गेटअप को भी खराब कर देगी।

Recommended Video

नींबू और चीनी का मिश्रण अप्लाई करें

जब मेहंदी थोड़ी सूखी हो तब उस पर नींबू का रस और चीनी डालकर कॉटन बॉल से हल्के हाथों से इस पर लगाएं । नींबू और चीनी के मिश्रण से मेहंदी का रंग गहरा हो जाता है और ये काफी देर तक चढ़ा रहता है। याद रखें कि नींबू और चीनी के मिश्रण में पानी नहीं मिला हो। पानी से मेहंदी डिज़ाइन खराब हो सकती है। नींबू और चीनी भी आवश्यकतानुसार ही अप्लाई करें। 

मेहंदी डिज़ाइन का रखें ध्यान 

mehandi in feet apply mehandi

शादी में जब भी आप मेहंदी अपने पैरों पर लगवाती हैं तब आपको चाहिए कि इसके डिज़ाइन का ख़ास ध्यान रखें। अक्सर ऐसा होता है कि हम मेहंदी आर्टिस्ट से हाथों के लिए तो अच्छी मेहंदी डिज़ाइन ढूढ़ कर लगवाते हैं लेकिन जब पैरों की बात आती है तो कोई भी डिज़ाइन अप्लाई करने को कहते हैं। लेकिन पैरों की मेहंदी का अलग ही महत्त्व है क्योंकि जब पैरों पर महावर लगाया जाता है तब मेहंदी डिज़ाइन और ज्यादा अच्छी लगने लगती है। इसके अलावा पाजेब पहनने से भी मेहंदी की खूबसूरती बढ़ जाती है। 

कैसा हो मेहंदी का डिज़ाइन 

mehandi in feet wedding

जब भी पैरों पर मेहंदी अप्लाई कर रही हों तब आप सबसे पहले मेहंदी आर्टिस्ट का डिज़ाइन कलेक्शन देख लें। मेहंदी डिज़ाइन के लिए इंटरनेट से भी हेल्प ले सकती हैं। आजकल बहुत से डिज़ाइन चलन में हैं जैसे प्रिंट स्टाइल डिज़ाइन, टैटू डिज़ाइन, पायल स्टाइल ,राजस्थानी मेहंदी डिज़ाइन, फ्लावर्स और पेटल्स डिज़ाइन ऐसे डिज़ाइन शादी की मेहंदी में खूब चलन में हैं साथ ही ये पैरों की खूबसूरती को भी बढ़ा देते हैं। 

 

इसे भी पढ़ें: मेहंदी का रंग पाना अच्छा है तो लोहे के बर्तन में भिगोएं मेहंदी

धूप में न लगवाएं मेहंदी 

सबसे ज्यादा ध्यान में रखने वाली बात ये है कि आप कभी भी धूप में बैठकर मेहंदी न लगवाएं क्योंकि इससे मेहंदी बहुत जल्दी सूख जाती है और इसका रंग चढ़े बिना ही सूखकर झड़ने लगती है। 

 

क्योंकि दुल्हन के लिए मेहंदी की रस्म है कुछ ख़ास इसलिए ये बातें जरूर ध्यान में रखें और हाथों के साथ अपने पैरों को भी मेहंदी के खूबसूरत रंगों से सजाएं।  

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।