• ENG
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search

Shardiya Navratri 2022: आप भी कर सकते हैं मां दंतेश्वरी के VIP दर्शन, जानें कैसे

Shardiya Navratri 2022: नवरात्रि के दौरान आप मां दंतेश्वरी के वीआईपी दर्शन कर सकते हैं। आइए जानते हैं कैसे।   
author-profile
Published -19 Sep 2022, 17:55 ISTUpdated -19 Sep 2022, 18:10 IST
Next
Article
danteshwari temple details

Shardiya Navratri 2022: नवरात्रि के दौरान हर कोई माता रानी के रंग में रंगा होता है। ऐसे में लोग घर पर पूजा करने के साथ-साथ देवी के अलग-अलग मंदिरों में जाकर भी पूजा करते हैं। भारत में बना हर मंदिर बहुत खास होता है। ऐसे में हम आज आपके लिए लेकर आए हैं छत्तीसगढ़ के बेहद खास मंदिर से जुड़ी जानकारी। 

शांति से दर्शन करने के लिए आप मां दंतेश्वरी के वीआईपी दर्शन कर सकते हैं। आइए जानते हैं श्रद्धालु वीआईपी दर्शन कैसे कर पाएंगे। 

मां दंतेश्वरी के VIP दर्शन

danteshwari temple facts

दंतेश्वरी मंदिर में दर्शन करने के लिए  श्रद्धालुओं को 2100 रुपए देने होंगे। इसी के बाद कोई वीआईपी दर्शन कर पाएगा। एक बार वीआईपी शुल्क कटवाने पर परिवार के 4 बड़े लोगों और 2 छोटे बच्चों को अलग द्वार से दर्शन करने की अनुमति मिलेगी। (अमरनाथ यात्रा पर जाने से पहले आप भी कर लें इन चीजों की तैयारी)

इसे भी पढ़ेंः Shardiya Navratri 2022: हाथ में नहीं रुकता है पैसा तो ये 10 उपाय आजमाएं, हो जाएंगे मालामाल

ज्यादा लोग होंगे तो क्या होगा?

2100 रुपए का शुल्क दे 4 बड़े लोगों और 2 छोटे बच्चे दर्शन कर पाएंगे। वहीं अगर श्रद्धालु ज्यादा हैं तो 300 रुपए का और शुल्क देना होगा। यह फैसला  मां दंतेश्वरी की टेंपल कमेटी द्वारा लिया गया है। पिछले वर्ष भी वीआईपी दर्शन के लिए 1100 रुपए का शुल्क दिया गया था। 

बहुत मान्यताएं

छत्तीसगढ़ के मां दंतेश्वरी की बहुत मान्यताएं हैं। ऐसे में बहुत से राज्यों के लोग पूजा आराधना के लिए मंदिर में पहुंचते हैं। इसी को देखते हुए वीआईपी दर्शन की सुविधा शुरू की गई है। यह मंदिर 52 शक्तिपीठों में से एक है। 

कैसे पड़ा नाम

दंतेश्वरी को दंतेवाड़ा नाम से भी जाना जाता है। कहा जाता है कि इस जगह पर सती माता का दांत गिरा था इसलिए इस देवी को दंतेश्वरी देवी कहकर पुकारा जाने लगा। 

इसे भी पढ़ेंः Shardiya Navratri 2022 Date: बहुत ही शुभ योग में होगा माता का आगमन, कलश स्थापना का शुभ मुहूर्त और महत्व जानें

इतना ही नहीं एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक इस मंदिर में कोई भी सिले हुए कपड़े पहनकर नहीं जा सकता है।  इस मंदिर के नजारे देखने लायक हैं। फिर चाहे कारीगरी और या पूजा-पाठ करते वक्त फॉलो किए जाने वाले रीति रिवाज। (जानिए गुजरात के अम्बाजी मंदिर से जुड़े कुछ अमेजिंग फैक्ट्स)

तो ये थी दंतेश्वरी मंदिर से जुड़ी सारी जानकारी। इस मंदिर के बारे में जानकर ऐसा लगता है कि भारत के हर हिस्से में देवी-देवता समाए हुए हैं। आपको इस मंदिर के बारे में जानकर आपको कैसा लगा? यह हमें इस आर्टिकल के कमेंट सेक्शन में जरूर बताइएगा।

Recommended Video

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Photo Credit:  Wikipedia

 


बेहतर अनुभव करने के लिए HerZindagi मोबाइल ऐप डाउनलोड करें

Her Zindagi
Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।