कभी-कभी हमारा एक फैसला अनजाने में ही हमारी पूरी जिंदगी पर असर डाल देता है। ये सिर्फ आम लोगों के साथ ही नहीं होता है बल्कि ये सेलेब्स के साथ भी होता है। एक छोटी सी चीज़ जिसे हम आम समझते हैं वो असल में कितनी बड़ी मुसीबत साबित होगी ये बाद में पता चलता है। प्रियंका चोपड़ा के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ। प्रियंका चोपड़ा ने एक नॉर्मल नाक की सर्जरी करवाई थी जो इतनी खराब हो गई कि उन्हें फिल्मों से भी निकलना पड़ा। 

ये बात सन 2000 की है जब प्रियंका का क्रेज सिर चढ़कर बोल रहा था। प्रियंका ने मिस वर्ल्ड का खिताब जीता था और अचानक कुछ महीनों बाद उनकी नाक अलग दिखने लगी थी। ये सब कुछ हुआ था एक गलत सर्जरी के कारण जिसने प्रियंका को दुनिया के सामने 'प्लास्टिक चोपड़ा' के नाम से फेमस कर दिया था। असल में प्रियंका को भी नहीं पता था कि क्या होने वाला है और वो खुद प्लास्टिक सर्जरी नहीं करवाना चाहती थीं, लेकिन ये एक गलती से हुआ। 

प्रियंका चोपड़ा ने हाल ही में एक किताब का अनावरण किया है। इस किताब का नाम है 'Unfinished' जिसमें प्रियंका ने अपनी जिंदगी के कुछ अहम पलों के बारे में बताया है और उसमें से एक है ये सर्जरी। 

इसे जरूर पढ़ें- Throwback: गौरी खान ने ऐसे तोड़ी थी प्रियंका चोपड़ा से दोस्ती, शाहरुख खान ने दोबारा कभी नहीं की साथ फिल्म

priyanka chopra surgery issues

सांस लेने में होती थी दिक्कत तो करवाई सर्जरी-

प्रियंका की उस किताब के मुताबिक उस दौरान प्रियंका को सांस लेने में दिक्कत महसूस होती थी। उन्हें पता चला कि उनकी नाक में 'polyp' (पॉलिप- एक टिशू ग्रोथ जो सामान्य नहीं होती है) है और उसके कारण उन्हें सर्जरी करवानी होगी। प्रियंका को लगा कि ये बहुत ही सामान्य तरह की सर्जरी है और इससे कोई नुकसान नहीं होगा। ये 2001 की बात है जब प्रियंका का करियर स्टार्ट ही हुआ था और वो फिल्म इंडस्ट्री में आने के बारे में सोच रही थीं। 

priyanka chopra after surgery

उनकी किताब के अनुसार, 'जब डॉक्टर वो पॉलिप हटा रहे थे तो उन्होंने गलती से मेरी नाक का ब्रिज भी हटा दिया और इसका शेप बदल गया। जब बैंडेज हटाने का समय आया तो नाक का शेप दिखाई दिया। मेरी मां और मैं बहुत डर गए थे। मेरी असली नाक चली गई थी और मेरा चेहरा पूरी तरह से अलग दिख रहा था। मैं अब मैं नहीं रही थी। हर बार आइना देखने पर मुझे बहुत अजीब लगता था और मैं निराशा से भर जाती थी। हर बार आइना देखने पर किसी अन्य इंसान का चेहरा मुझे दिखता था। मुझे लगा था कि मुझे जो झटका लगा है उससे मैं कभी उबर नहीं पाऊंगी।'

इस सर्जरी के बाद ही मिला था प्लास्टिक चोपड़ा का टैग-

सर्जरी के बाद जब प्रियंका चोपड़ा सामने आई थीं तो उन्हें 'प्लास्टिक चोपड़ा' का टैग दे दिया गया था। लोग उनसे उनकी नाक को लेकर सवाल पूछते थे और प्रियंका इसके बारे में कुछ नहीं कहती थीं। प्रियंका ने ये फैसला किया था कि वो इस बारे में पब्लिकली नहीं बोलेंगी। इसी सर्जरी को लेकर प्रियंका चोपड़ा ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर एक ऑडियो क्लिप भी शेयर की है। इसे सुनें-

 
 
 
View this post on Instagram

A post shared by Priyanka Chopra Jonas (@priyankachopra)

 

नाक को ठीक करने के लिए दोबारा करवाई सर्जरी- 

प्रियंका ने इसके बाद दोबारा सर्जरी करवाई जिससे उनकी नाक थोड़ी ठीक दिखे। अभी भी ये पूरी तरह से फिक्स नहीं हुई है, लेकिन फिर भी ये काफी कुछ ठीक है। प्रियंका का कहना है कि वो अब अपने चेहरे को देखने की आदी हो गई हैं। उन्होंने अपनी किताब में लिखा कि उन्हें अब खुद को देखकर सरप्राइज महसूस नहीं होता है।  

नाक की सर्जरी के कारण हाथ से चली गई थीं फिल्में- 

प्रियंका चोपड़ा की नाक की सर्जरी ने सिर्फ उन्हें ये टैग नहीं दिया था बल्कि उनके हाथों से कई फिल्में भी चली गई थीं। 2018 में आई किताब  'Priyanka Chopra: A Dark Horse' में इस बात का जिक्र किया गया है कि कैसे नाक का शेप बदलने पर उन्हें बॉबी देवल के अपोजिट एक फिल्म से हटाने की नौबत आ गई थी। हालांकि, वो फिल्म कभी बन ही नहीं पाई, लेकिन पहले प्रियंका की नाक की सर्जरी उसमें अड़ंगा बन गई थी। 

Recommended Video

इसे जरूर पढ़ें- प्रियंका ने आखिर बता ही दिया कि अपनी उम्र से दस साल छोटे निक जोनस को उन्होंने क्यों किया था डेट 

इतना ही नहीं डायरेक्टर अनिल शर्मा ने भी प्रियंका को अपनी फिल्म 'हीरो: लव स्टोरी ऑफ अ स्पाई' के लिए कास्ट कर लिया था और फिर जब उन्होंने नाक की सर्जरी के बाद प्रियंका को देखा तो वो काफी नाराज़ हुए। किताब के मुताबिक उन्होंने कहा, 'ये प्रियंका नहीं है ये कोई और है। ये लड़की अच्छी नहीं दिख रही जबकि प्रियंका एक खूबसूरत लड़की थी जिसकी हंसी बहुत अच्छी थी।' 

अनिल शर्मा ने प्रियंका से ये सवाल भी किया था कि आखिर ये सब करने की क्या जरूरत थी और उसी मीटिंग में प्रियंका और उनकी मां ने समझाया कि प्रियंका को पहले ही 3-4 फिल्मों से हटा दिया गया है। उस वक्त अनिल शर्मा को प्रियंका की इमानदारी भा गई और वो प्रियंका को अपनी फिल्म में रखने को तैयार हो गए। फिल्म आई और उसमें प्रियंका के रोल की तारीफ भी की गई।  

उसके बाद से प्रियंका ने पीछे पलट कर नहीं देखा और नेशनल अवॉर्ड्स के साथ-साथ देश और विदेश दोनों में प्रियंका ने अपने नाम के झंडे गाड़ दिए। प्रियंका चोपड़ा ने उस वक्त काफी हिम्मत दिखाई और यही उनकी खासियत है।  

अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।