• ENG
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search

PM Modi Live: कोरोना वायरस संक्रमण रोकने को लेकर बड़ा फैसला, 3 मई तक लॉकडाउन बढ़ाने के साथ-साथ उठाए जाएंगे ये कदम

 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के नाम एक और संदेश दिया है। कोरोना वायरस और लॉकडाउन से जुड़ी अहम जानकारी सामने आई है।
author-profile
Published -14 Apr 2020, 09:59 ISTUpdated -14 Apr 2020, 10:36 IST
Next
Article
best updates of coronavirus pm modi

कोरोना वायरस के चलते भारत में लॉकडाउन चल रहा है। 25 मार्च को 21 दिन का लॉकडाउन शुरू हुआ था जो अभी तक खत्म नहीं हुआ है। 13 अप्रैल की सुबह 10 बजे पीएम मोदी ने राष्ट्र के नाम संदेश दिया है जो हर भारतीय के लिए बहुत जरूरी है। जिस तरह से कोरोना वायरस का प्रकोप भारत में आया है उस तरह से बहुत ही बड़ी समस्या हमारे सामने खड़ी है और इस कारण देशवासियों को कड़े फैसले लेने पड़े हैं। यही कारण है कि पीएम मोदी ने लॉकडाउन की घोषणा की थी। लेकिन अब 'जान है तो जहान है' नहीं, बल्कि 'जान भी और जहान भी' वाले मोटो के साथ पीएम मोदी ने लॉकडाउन को लेकर नए फैसले लिए हैं।

अपनी स्पीच में कही ये बड़ी बातें-

पीएम मोदी ने सबसे पहले लॉकडाउन और उससे जुड़ी समस्याओं के बारे में बताया। किसी को खाने की परेशानी, किसी को आने-जाने की परेशानी, कोई घर बार से दूर है, लेकिन सभी अपना कर्तव्य निभा रहे हैं। पीएम मोदी ने इसके लिए देशवासियों को नमन किया। उन्होंने कहा कि, 'हमारे संविधान में जो 'Just Be the People' मोटो दिया है वो यही तो है। बाबा साहिब अंबेडकर द्वारा दिया गया ये संकल्प ही हमें हर मुश्किल से आगे बढ़ने का साहस देता है।'

इसे जरूर पढ़ें- Coronavirus से बचने के लिए इम्यूनिटी बढ़ाने के तरीके, PM Modi ने खुद किए शेयर

कई राज्यों को दी नए साल की बधाई-

पीएम मोदी ने देश भर के त्योहारों की बात की और कहा कि इस वक्त देश में बहुत से त्योहारों को मनाया जा रहा है,  'बैसाखी, बोहेला वैशाख, बीहू, विषु के साथ अनेक राज्यों में नए साल की शुरुआत हुई है। लॉकडाउन के इन बंधनों के बीच देश के लोग जिस तरह नियम का पालन कर रहे हैं। जितने संयम से अपने घरों में रहकर त्योहार सादगी से मना रहे हैं। ये सारी बातें बहुत ही प्रेरक और प्रसंशनीय है। मैं नए साल पर आपके और आपके परिवार के उत्तम स्वास्थ्य की कामना करता हूं'

 

कोरोना को लेकर कही ये बात-

पीएम मोदी ने कहा कि, 'जब हमारे यहां कोरोना का एक भी केस नहीं था तब भारत ने दूसरे देशों में आने वाले लोगों की स्क्रीनिंग सुविधा शुरू कर दी थी। कोरोना के मरीज 100 तक पहुंचे उससे पहले ही भारत ने कोरोना के लिए क्वारेंटाइन सुविधा उपलब्ध करवा दी थी। जब हमारे यहां 550 केस थे तभी भारत ने 21 दिन के लॉकडाउन का महत्वपूर्ण कदम उठा ली। भारत ने समस्या बढ़ने का इंतज़ार नहीं किया बल्कि जैसे ही समस्या दिखी वैसे ही फैसले लेकर उसे रोकने का प्रयास किया।'

'अगर दुनिया के बहुत बड़े-बड़े देशों में कोरोना वायरस से जुड़े आंकड़े देखें तो भारत बहुत संभली हुई स्तिथि में हैं। महीने-डेढ़ महीने पहले कई देश कोरोना संक्रमण के मामले में भारत के साथ खड़े थे और आज उन देशों में कोरोना संक्रमण के केस भारत की तुलना में 25-30 प्रतिशत बढ़ गए हैं। भारत ने ये अप्रोच न अपनाई होती और समय पर तेज़ फैसले न लिए होते तो आज भारत की स्तिथि क्या होती इसकी कल्पना करते ही रोएं खड़े हो जाते हैं, लेकिन बीते दिनों के अनुभवों से ये साफ है कि हमने जो रास्ता चुना है। आज की स्तिथि में वही हमारे लिए सही है।'

इसे जरूर पढ़ें- PM Modi ने Coronavirus को लेकर लिया बड़ा फैसला, इस दिन लगाया 'जनता कर्फ्यू'

सोशल डिस्टेंसिंग को दिया महत्व-

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, 'सोशल डिस्टेंसिंग और लॉडाउन का बहुत बड़ा लाभ देश को मिला है। अगर सिर्फ आर्थिक नजर से देखें तो ये बड़ा लगता है बहुत बड़ी कीमत चुकानी पड़ी है। लेकिन भारतवासियों की जिंदगी के आगे ये कुछ भी नहीं। भारत जिस मार्ग पर चला है। उस मार्ग की चर्चा दुनिया भर में होना वाजिब है। स्थानीय संस्थाओं और राज्यों ने भी इसमें बहुत जिम्मोदारी का काम किया है। लेकिन इन सब प्रयासों के बीच कोरोना जिस तरह फैल रहा है उसने विश्व भर में हेल्थ एक्सपर्ट्स और सरकारों को और सतर्क कर दिया है। '

लॉकडाउन बढ़ाने को लेकर लिया ये फैसला-

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, 'सारे सुझावों को ध्यान में रखते हुए ये तय किया गया है कि भारत में लॉकडाउन को अब 3 मई तक और बढ़ाना पड़ेगा। यानी 3 मई तक हम सभी को-हर देश वासी को लॉकडाउन में ही रहना होगा। इस दौरान हमें अनुसाशन का वैसे ही पालन करना होगा जैसे हम करते आ रहे हैं। '

एक भी मरीज चिंता का विषय-

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, 'अगर देश भर में कहीं भी किसी भी मरीज की दुखद मृत्यु होती है, या फिर एक भी कोरोना केस बढ़ता है तो ये चिंता का विषय है और हॉटस्पॉट के लिए कड़े कदम उठाने होंगे। नए हॉटस्पॉट का बढ़ना और आगे जाना बहुत बड़ा मुद्दा होगा।'

20 अप्रैल तक सख्त निगरानी-

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा,  20 अप्रैल तक हर जिले, हर कस्बे, हर राज्य को करीबी से परखा जाएगा, वहां लॉकडाउन का कितना पालन हो रहा है, कितना खुद को उसने बचाया है ये देखा जाएगा। जो क्षेत्र इस परीक्षा में सफल होंगे और जो अपने यहां हॉटस्पॉट नहीं बनने देंगे और जिनके हॉटस्पॉट में बदलने की संभावना नहीं है वहां कुछ अनुमतियां दी जा सकती है। लेकिन ये अनुमति बहुत सख्त होगी और लॉकडाउन के नियम अगर टूटते हैं और कोरोना का पैर अगर हमारे इलाके में पड़ता है तो सारी अनुमति वापस ले ली जाएगी। इसलिए न ही खुद लापरवाही करनी है और न ही किसी और को लापरवाही करने देना है।

Recommended Video

कल जारी होगी गाइडलाइन-

20 अप्रैल से चिन्हित क्षेत्रों में इस छूट का प्रवाधान गरीबों की आजीविका को ध्यान में रखते हुए किया गया है। जो रोज़ कमाते हैं जो रोज़ की जरूरतें पूरी करते हैं वो ध्यान में रखना जरूरी है। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के माध्यम से सरकार ने उनकी मदद करने की कोशिश की है। नई गाइडलाइन्स उनके हिसाब से हैं। इस समय फसल की कटाई का समय है और सरकार ये प्रयास कर रही है कि किसानों को कम से कम दिक्कत हो।

कोरोना के 10 हज़ार मरीज़ों पर ये आंकड़े-

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने  कहा, 'कोरोना के 10 हज़ार मरीज होने पर कम बेड्स की जरूरत होती है, लेकिन हम 1 लाख बेड्स की व्यवस्था कर चुके हैं और हेल्थ सेक्टर में और चीज़ें बढ़ा रहे हैं। कोरोना की वैक्सीन बनाने के लिए भारत के वैज्ञानिकों का आह्वाहन किया।'

7 बातों में साथ-

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशवासियों से 7 बातों में साथ मांगा है।

1. अपने घर के बुजुर्गों का विषेश ध्यान रखें। खास तौर पर उन्हें जिन्हें पुरानी बीमारी हो।
2. लॉकडाउन और सोशल  डिस्टेंसिंग का पूरी तरह से पालन करें। घर में बने मास्क का अनिवार्य प्रयोग करें।
3. अपनी इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए आयुष मंत्रालय द्वारा जो निर्देश दिए गए हैं उनका निरंतर सेवन करें।
4. कोरोना संक्रमण रोकने के लिए आरोग्य सेतु मोबाइल एप जरूर डाउनलोड करें।
5. जितना हो सके, उतने गरीब परिवार की देखरेख करें।
6. आप अपने व्यवसाय और अपने उद्योग में अपने साथ काम कर रहे लोगों के प्रति संवेदना रखें। किसी को नौकरी से न निकालें।
7. देश के कोरोना योद्धाओं का सम्मान करें।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इन 7 बातों में साथ मांगा है और ये हमें करना ही है। कोरोना वायरस लॉकडाउन 3 मई तक बढ़ेगा और जहां हैं वहीं रहें। सुरक्षित रहें।

बेहतर अनुभव करने के लिए HerZindagi मोबाइल ऐप डाउनलोड करें

Her Zindagi
Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।