सावन का महीना तीज-त्योहारों से भरा होता है। इस महीने को भगवान शिव का प्रिय महीना कहा गया है, इसलिए इस माह में अधिकांश त्‍योहार भगवान शिव से जुड़े ही होते हैं। मगर नाग पंचमी एक ऐसा पर्व है, जो सावन के कृष्ण पक्ष की पंचमी के दिन मनाया जाता है और इस दिन भगवान शिव का प्रिय गहना कहे जाने वाले सांपों का पूजन किया जाता है। ऐसी मान्यता है कि नाग पंचमी के दिन यदि नाग देवता की पूजा की जाए तो भगवान शिव का विशेष आशीर्वाद मिलता है। 

इस त्योहार के महत्व और इस दिन की जाने वाली विशेष पूजा के बारे में हमने भोपाल के ज्योतिषाचार्य एवं हस्तरेखार्विंद विशेषज्ञ शास्त्री विनोद सोनी पोद्दार से बातचीत की। पंडित जी इस विषय पर कहते हैं, 'नाग पंचमी के दिन जरूरी नहीं है कि आप असल के नाग की पूजा करें। किसी भी जीव को परेशान करने की आवश्यकता नहीं है। आप नाग का प्रतीक घर पर बना कर या फिर नाग देवता की तस्वीर की पूजा कर सकते हैं।'

इसे जरूर पढ़ें: Astro Expert: सावन में जरूर दान करें ये 5 चीजें, होंगे अद्भुत लाभ

nag  panchami  Rashifal

नाग पंचमी शुभ मुहूर्त और पूजा विधि 

इस वर्ष नाग पंचमी 13 अगस्त शुक्रवार के दिन है। यह पर्व 12 अगस्त को दोपहर 3:24 बजे शुरू होगा और 13 अगस्त को दोपहर 1:42 तक रहेगा। 

नाग पंचमी के दिन बासी भोजन करने की भी प्रथा है। इसलिए आप एक दिन पहले ही भोजन तैयार कर लें। इस पर्व पर एक रस्सी में 7 गांठ बांध कर उसे लकड़ी के पाटे पर रखें। इसे सर्प का प्रतीक मानकर हल्दी, रोली, अक्षत, घी और कच्चे दूध (कच्‍चे दूध का इस्‍तेमाल) से पूजा करें। पंडित जी कहते हैं, 'प्रसाद के रूप में आप मीठा दूध और भीगे हुए काले चने नाग देवता को अर्पित कर सकते हैं।'

पंडित जी यह भी बताते हैं कि नाग पंचमी के दिन नाग देवता की पूजा करने पर सर्पदंश जैसी विपत्तियों से छुटकारा मिल जाता है। पंडित जी बताते हैं, 'नाग पंचमी के दिन आपको घर के मुख्यद्वार पर मिट्टी की प्याली में दूध और चना डालकर रखना चाहिए। इससे आपके परिवार पर नाग देवता की कृपा बनी रहती है।'

इसे जरूर पढ़ें: रोज महामृत्युंजय मंत्र पढ़ने से मिलेंगे ये 5 लाभ

nag  panchami  puja  vidhi

नाग पंचमी पर राशि अनुसार करें ये उपाय 

कुंडली में राहु को अनुकूल बनाने के लिए नाग पंचमी के दिन राशि अनुसार ये उपाय जरूर करने चाहिए। 

मेष- राहु की शान्ति के लिए नाग पंचमी के दिन रुद्राष्टाध्यायी का पाठ करें। 

वृष- इस दिन तांबे के टुकड़े का दान करें। 

मिथुन- इस दिन से लेकर 40 दिन तक मूली का दान करना चाहिए। 

कर्क- इस दिन बहते हुए पानी में नारियल (पूजा में नारियल का इस्‍तेमाल) प्रवाहित करें। 

सिंह- इस दिन एक नारियल और 11 साबुत बादाम एक लाल कपड़े में बांधकर मिट्टी में दबाने से राहु दोष शांत होता है।

कन्या- इस दिन से 11 बुधवार तक 10 ग्राम साबुत धनिया किसी गरीब को दान करें। 

तुला- इस दिन रात में सोते समय सिरहाने के पास थोड़ा सा जौ रखें और सुबह पक्षियों को खिला दें। 

वृश्चिक- इस दिन गणेश जी की स्तुति करें। 

धनु- इस दिन चीटियों को आटा और मीठा खिलायें। 

मकर- इस दिन से 11 शनिवार तक तिल और जौ का किसी मंदिर में दान करें। 

कुम्भ- इस दिन 100 ग्राम कोयला बहते जल में प्रवाहित करें। 

मीन- इस दिन अष्टधातु का कड़ा दाहिने हाथ में धारण करें।

यदि आप नाग पंचमी के दिन इन उपायों को करते हैं, तो राहु दोष के कारण आ रही समस्याएं समाप्त हो जाएंगी। यह जानकारी आपको अच्छी लगी हो तो इसे शेयर और लाइक जरूर करें। साथ ही इसी तरह और भी आर्टिकल पढ़ने के लिए जुड़ी रहे हरजिंदगी से। 

Image Credit: Shutterstock, Freepik