हिंदू धर्म में भगवान श्री कृष्‍ण को बहुत अधिक महत्‍व दिया गया है। केवल देश में ही नहीं विदेश में भी सैकड़ों कृष्‍ण भक्‍त हैं। ऐसा कहा जाता है कि भगवान श्री कृष्‍ण की जो भक्ति करता है श्री कृष्‍ण उसे मिल जाते हैं। मगर भगवान श्री कृष्‍ण को पाना इतना आसान नहीं है। कृष्‍ण भक्ति का एक मार्ग है, जिसका जिक्र श्रीमद्भगवदगीता में मिलता है। कृष्‍ण भक्ति के इस मार्ग को 9 आसान स्‍टेप्‍स में टीवी एवं बॉलीवुड एक्‍ट्रेस मौनी रॉय ने बेहद खूबसूरती से समझाने की कोशिश की है। 

गौरतलब है, मौनी रॉय अकसर ही अपने इंस्‍टाग्राम अकाउंट पर श्रीमद्भगवदगीता में भगवान श्री कृष्‍ण द्वारा दिए उपदेशों को सरल भाषा में समझाते हुए पोस्‍ट शेयर करती रहती हैं। इस बार उन्‍होंने कृष्‍ण भक्ति मार्ग पर चलने के 9 स्‍टेप्‍स बताए हैं। 

इसे जरूर पढ़ें: कृष्ण भक्त हुईं मौनी रॉय, पढ़ रही हैं श्रीमद्भगवदगीता के उपदेश

मौनी ने एक छोटा सा वीडियो शेयर किया है, जिसमें उनकी डायरी, पेन और श्रीमद्भगवदगीता की किताब रखी हुई नजर आ रही है। अपनी डायरी में मौनी ने कृष्‍ण भक्ति के 9 स्‍टेप्‍स को अंग्रेजी भाषा में समझाने की कोशिश की है। 

 
 
 
View this post on Instagram

A post shared by mon (@imouniroy) onAug 29, 2020 at 5:48am PDT

कृष्‍ण भक्ति के 9 स्‍टेप्‍स 

प्रेम - यहां श्री कृष्‍ण प्रेम की बात की जा रही है। मौनी ने अपने कैप्‍शन में लिखा है, 'कृष्‍ण आपको सब कुछ देंगे, मगर प्रेम नहीं देंगे। वो आपको प्राप्‍त करना होगा। '

भाव- आप मन में कैसा भाव रखते हैं, यह जानना भी कृष्‍ण भक्ति मार्ग पर चलने के लिए महत्‍वपूर्ण है।

आस्क्ति- आस्क्ति का अर्थ होता है जुड़ाव। कृष्‍ण भक्ति मार्ग पर चलने के लिए आपको भगवान श्री कृष्‍ण (भगवान श्री कृष्‍ण से जुड़ें रोचक तथ्‍य जानें) से जुड़ाव होना चाहिए। 

रुचि- किसी भी कार्य को करने में जब तक रुचि न हो तब तक उसे नहीं करना चाहिए। कृष्‍ण भक्ति मार्ग पर तब ही चलें जब आपको उसमें रुचि हो। 

निष्‍ठा- आपका स्‍वामीभक्‍त होना भी जरूरी है। अगर आप भगवान श्री कृष्‍ण के प्रति निष्‍ठा रखते हैं तो आप सही मार्ग पर चल रहे हैं। 

अनर्थ निवृत्ति- कृष्‍ण भक्ति मार्ग पर चलना है तो अपने हृदय को शुद्ध रखें। अपने हृदय से सभी नकारात्मक भावों को मिटा दें। 

भजन क्रिया- ज्‍यादा से ज्‍यादा भगवान श्री कृष्‍ण के विषय में पढ़ें और उन्‍हें जानने का प्रयास करें। 

साधू संग- हर व्‍यक्ति को ऐसे लोगों की संगत करनी चाहिए, जो सज्‍जन हों और जिनसे कुछ अच्‍छा सीखने को मिले।  

श्रद्धा- श्री कृष्‍ण भक्ति मार्ग पर चलने का आखिरी स्‍टेप है खुद पर और श्री कृष्‍ण पर विश्‍वास रखना। 

इसे जरूर पढ़ें: Before And After: देखिए पिछले 13 सालों में कितना बदल गया मौनी रॉय का लुक

mouni  roy krishna  bhakti

आपको बता दें कि मौनी रॉय को रीडिंग का काफी शौक है और वह नई-नई किताबों को पढ़ते हुए अपनी तस्‍वीर इंस्‍टाग्राम अकाउंट पर शेयर करती रहती हैं। कोविड-19 संक्रमण की वजह से जब पूरे देश में लॉकडाउन था, उस दौरान मौनी ने श्रीमद्भगवदगीता की किताब (श्रीमद्भगवदगीता में लिखी 5 बातों से सीखें जीवन जीना) पढ़ना शुरू की थी। इस किताब में लिखे भगवान श्री कृष्‍ण के उपदेशों को सरल भाषा में मौनी ने पहले भी अपने इंस्‍टाग्राम अकाउंट पर शेयर किया है। 

Recommended Video

ऐसा लगता है मौनी रॉय पूरी तरह से कृष्‍ण भक्ति में लीन हो चुकी हैं। अगर आप भी भगवान श्री कृष्‍ण (घर में क्‍यों रखनी चाहिए श्री कृष्‍ण की बांसुरी) के भक्‍त हैं और उनके द्वारा बताए गए भक्ति मार्ग पर चलना चाहते हैं तो मौनी रॉय ने आसान भाषा में इस मार्ग पर चलने के जो 9 स्‍टेप्‍स बताए हैं, आप भी उन्‍हें फॉलो कर सकते हैं। 

टीवी और बॉलीवुड इंडस्‍ट्री से जुड़ी सेलिब्रिटीज के बारे में और भी रोचक बातें जानने के लिए पढ़ती रहें हरजिंदगी।