• + Install App
  • ENG
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search
author-profile

मदर्स डे के इतिहास के बारे में कितना जानते हैं आप

अगर आप मदर्स डे के इतिहास के बारे में जानना चाहते हैं तो फिर आपको भी इस आर्टिकल को ज़रूर पढ़ना चाहिए।
Published -04 May 2022, 18:10 ISTUpdated -05 May 2022, 11:55 IST
author-profile
  • Sahitya Maurya
  • Editorial
  • Published -04 May 2022, 18:10 ISTUpdated -05 May 2022, 11:55 IST
Next
Article
know mothers day history in hindi

बच्चों से लेकर बड़ों की जिंदगी में मां सबसे अहम महिला होती हैं। मां अपने बच्चों की बात कहे बिना ही आसानी से समझ जाती हैं। अच्छी परवरिश से लेकर सही मार्गदर्शन के रूप में हर वक्त वो साथ देती हैं। वैसे तो एक मां के लिए सभी दिन बराबर ही होते हैं, लेकिन मदर्स डे एक ऐसा दिन है जो सिर्फ मां के लिए समर्पित है। यह खास दिन मई महीने के दूसरे हफ्ते के रविवार को मनाया जाता है। लेकिन अगर आपसे यह सवाल किया जाए कि कब, क्यों और पहली बार मदर्स डे कब सेलिब्रेट किया गया था तो फिर आपका जवाब क्या हो सकता है? अगर आप भी इन्हीं सवालों का जवाब जानना चाहते हैं तो आपको भी इस आर्टिकल को ज़रूर पढ़ना चाहिए।

मदर्स डे का प्राचीन इतिहास 

mothers day history inside

मदर्स डे का प्राचीन इतिहास काफी रोचक है। इस दिन को लेकर कहा जाता है कि प्राचीन काल में मां के प्रति सम्मान यानी मां की पूजा ग्रीस (यूनान के नाम से भी कई लोग जानते हैं) में प्रारंभ हुआ था। कई लोगों का मानना है कि उस समय के लोग ग्रीस देवताओं की मां को ही सम्मान या पूजा करते थें। हालांकि, इसका कोई पुख्ता जानकारी किसी के पास नहीं है।

इसे भी पढ़ें: मदर्स डे पर अपनी मां को दें ये गिफ्ट, हो जाएंगी खुश

मदर्स डे का आधुनिक इतिहास 

mothers day history in hindi inside

मदर्स डे का आधुनिक इतिहास काफी दिलचस्प है। ऐसा मानना जाता है कि आधुनिक युग में मदर्स डे की शुरुआत एक महिला ने शुरू की थी। उस महिला का नाम एना जार्विस बताया जाता है। उनके बारे में कहा जाता है कि एना अपनी मां से बहुत प्यार करती थी और उनके निधन हो जाने के बाद उनके प्रति सम्मान और प्यार दिखाने के लिए इस खास दिन की शुरुआत की थी। (मिलिए 'मदर ऑफ ट्री' से)

Recommended Video

पहली बार कब मनाया गया था?

mothers day history in hindi inside

एना के इस पहल को कई सालों तक लोगों ने फॉलो किया। कहा जाता है कि मदर्स डे मनाने का पहला विचार लगभग साल 1908 के आसपास आया था। लेकिन कई सालों तक उतार-चढ़ाव के बाद लगभग 1914 के आसपास इसे मनाने की घोषणा हुई। तब से मई महीने के दूसरे हफ्ते के रविवार को मनाया जाता रहा है। इस साल मदर्स डे 8 मई दिन रविवार को है। कहा जाता है कि आधुनिक दुनिया में मदर्स डे पहली बार अमेरिका में मनाया गया था।

इसे भी पढ़ें: मदर्स डे पर कार्ड या गिफ्ट नहीं बल्कि इन टिप्स की मदद से बनाएं मां का दिन खास


भारत में मदर्स डे का इतिहास 

mothers day history in hindi inside

भारत में प्राचीन समय में मदर्स डे को लेकर कुछ खास नहीं होता था, लेकिन पिछले कुछ दशकों से भारत में भी यह दिन बेहद ही पॉपुलर हो चुका है। आज छोटे गांव से लेकर बड़े शहर तक इस दिन को बेहद ही प्यार के साथ सेलिब्रेट किया जाता है। इस दिन भारतीय लोग अपनी-आपनी मां को गिफ्ट देना, यात्रा पर साथ जाना, साथ में डिनर पर जाना आदि चीजें करना पसंद करते हैं। (सबसे पावरफुल मां-बेटी की जोड़ियां)

अगर आपको यह स्टोरी अच्छी लगी हो तो इसे फेसबुक पर जरूर शेयर करें और इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit:(@freepik)

Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।