मोहिना कुमारी सिंह ये वो नाम है जो काफी फेमस है। मोहिना कुमारी सिंह असल में रीवा की राजकुमारी हैं और साथ ही साथ उन्होंने सीरियल 'ये रिश्ता क्या कहलाता है' में कीर्ति नक्ष सिंघानिया का किरदार भी निभाया था। वो चुलबुली सी दिखने वाली हंसमुख राजकुमारी अपनी अलग पहचान भी बना चुकी है और वो ये भी बता चुकी हैं कि उनके रीति-रिवाज और उनके काम को लेकर कोई भी उनसे गलत बात नहीं कर सकता है।  

हाल ही में मोहिना कुमारी सिंह की शादी हुई है। ये 2019 की सबसे शानदार शादियों में से एक रही है। उस शादी की तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो रही थीं। इसी में से एक तस्वीर में मोहिना कुमारी के घूंघट को लेकर विवाद शुरू हो गया। मोहिना कुमारी सिंह ने अपनी शादी में लाल सब्यसाची लहंगा पहना हुआ था और उस शादी में उनका चेहरा ढंका हुआ था।  

उस तस्वीर में उनके साथ उनके परिवार वाले भी मौजूद हैं। इस तस्वीर में एक इंस्टाग्राम यूजर ने लिखा 'आखिर आपका चेहरा घूंघट में ढंका हुआ क्यों है?'

 
 
 
View this post on Instagram

Bang On Mo 🔥🔥🔥🔥 @mohenakumari

A post shared by Yeh Rishta Kya Kehlata Hai 👑 (@yrkkh.diaries1) onJan 1, 2020 at 4:08am PST

 

सिर्फ इतना ही नहीं कई लोगों ने मोहिना कुमारी के घूंघट को लेकर और भी बहुत कुछ कहा है। ट्रोल ने लिखा 'क्योंकि यहां ऐसे लोग हैं जो पितृसत्ता से बने इस समाज का हिस्सा हैं और साथ ही साथ सभी पुरुषों से जुड़े रिवाजों का पालन करते हैं। यहां तक कि शिक्षा भी उन्हें दिमाग नहीं दे पाती है।'

mohena kumari social media troll

इसपर मोहिना ने जवाब भी काफी रोचक दिया है। ट्रोल को जवाब देते समय मोहिना ने लिखा- 

'ईसाई लोग भी शादी के वक्त अपना चेहरा ढंकते हैं। ऐसा ही मुस्लिम भी करते हैं, मुझे लगता है शायद वो भी शिक्षित नहीं होते हैं? ये पुराना राजपूती रिवाज है जो राजपूती महिलाएं शादी के वक्त निभाती हैं। मुझे ये करने को किसी ने मजबूर नहीं किया था। ये मैंने खुद अपनी मर्जी से किया था।'

Recommended Video

मोहिना ने अपने ही कमेंट के आगे ये भी लिखा कि, 'जब ईसाई, मुस्लिम लोगों को कोई कुछ नहीं बोलता है तो फिर राजपूतों को उनकी प्रथा को निभाने में क्यों कुछ कहा जा रहा है। राजपूतों को इसके लिए अशिक्षित क्यों कहा जा रहा है।'

मोहिना का ये जवाब अब सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है और लोग उनके जवाब की तारीफ भी कर रहे हैं। 

यहां एक बात मैं कहना चाहूंगी मैं भी घूंघट के खिलाफ हूं, किसी भी महिला पर घूंघट को फोर्स करना गलत है, लेकिन अगर किसी ने अपने मन से किसी रिवाज को निभाने के लिए ऐसा किया है तो उसे अशिक्षित कहना तो बिलकुल ही गलत है। सोशल मीडिया ट्रोल्स कई बार ये भूल जाते हैं कि उन्हें लोगों को जज करने की इजाजत नहीं होती, लेकिन फिर भी वो कुछ भी कहते रहते हैं। ऐसे में मोहिना का जवाब सही है और उन्हें पूरा हक है कि वो अपनी शादी में जैसे चाहें वैसे रहें।