दीवाली का त्‍योहार बीतते ही लोग तुलसी विवाह यानी देव उठानी ग्‍यारस का इंतजार करने लगते हैं। हिंदुओं में इस त्‍योहार को बहुत महत्‍व दिया गया है। इस दिन देवी तुलसी का विवाह शालिग्राम से होता है। इस विवाह के साथ ही हिंदुओं में शुभ कार्य और विवाह होना शुरू हो जाते हैं। अगर आप भी इस सहालग में शादी करना चाहते हैं और अब तक आपने शुभ मुहूर्त नहीं निकलवाया है तो आप ज्‍योतिषाचार्य एवं पंडित दयानंद शास्‍त्री के बताए इन शुभ विवाह मुहूर्त और तारीख पर विवाह कर सकते हैं। इसके साथ ही अगर आप घर में कोई शुभ काम करना चाहते हैं तो आप इन तारीखों को जरूर देखें। 

इससे जरूर पढ़ें: Celeb Mehndi Designs: नीता अंबानी से लेकर दीपिका पादुकोण तक की मेहंदी डिजाइंस से आप ले सकती हैं आइडिया

Marriage Dates In  Hindu Calendar

क्‍या कहते हैं पंडित जी

पंडित दयानंद शास्‍त्री बताते हैं, ‘इस वर्ष 2019 के अंत के दो महीनों नवंबर एवं दिसंबर में विवाह संस्कार के लिए कुल 10 दिन ही शुभ मुहूर्त है।वैसे देवउठनी एकादशी के बाद हर शुभ कार्य के लिए शुभ मुहूर्त होते हैं।’ गौरतलब है, इस बार 8 नवम्बर को देवउठनी एकादशी है। इस के बाद हर दिन शुभ है। ज्योतिषाचार्य पण्डित दयानन्द शास्त्री कहते हैं, ‘दो तरह के शुभ मुहूर्त होते हैं। एक मुहूर्त में किसी को कुछ भी पूछने की जरूरत नहीं होती है और दूसरे में आपको ग्रह नक्षत्रों के शुभ और अशुभ होने का इंतजार करना होता है।’

इससे जरूर पढ़ें: Wedding Lehenga Designs 2019: मौनी रॉय के ये 3 डिजाइनर लेहंगों को आप भी करा सकती हैं रिक्रिएट

मुहूर्त का महत्‍व 

आपको बता दें कि हिन्दू धर्म में शुभ मुहूर्त का बहुत महत्‍व है। खासतौर पर विवाह या शुभ कार्यों के मामले में शुभ मुहूर्त दिन और समय के बिना कोई कार्य नहीं किया जाता है।  आपको बता दें कि विवाह की तिथि वर-वधु की जन्मराशी के आधार पर निकालने का प्रचलन है। इसलिए विवाह से जुड़े प्रत्येक कार्य को शुभ मुहूर्त और सही समय में किया जाता है। ज्योतिषाचार्य पण्डित दयानन्द शास्त्री बताते हैं, ‘विवाह एक ऐसी परंपरा है, जिससे मानव प्रजाति व परिवार का विस्तार होता है। इसलिए विवाह के लिए कुंडली मिलान से लेकर सात फेरे लेने तक के लिए शुभ मुहूर्त निकलवाया जाता है। हिंदू धर्म में यह बहुत जरूरी भी है।’ ये हैं नई नवेली दुल्हन के लिए पायल के 5 लेटेस्ट डिजाइन, पहनते ही बढ़ेगा कॉन्फिडेंस

Marriage Muhurat  As Per Kundli

शुभ मुहूर्त और तिथियां 

जानिए नवंबर एवं दिसंबर 2019 में विवाह संस्कार के लिए सबसे शुभ मुहूर्त ज्योतिषाचार्य पण्डित दयानन्द शास्त्री जी से...

नवंबर 2019 विवाह के शुभ मुहूर्त की तिथिया-

  • 19 नवंबर मंगलवार, मार्गशीर्ष कृष्ण सप्तमी
  • 20 नवंबर बुधवार, मार्गशीर्ष कृष्ण अष्टमी
  • 21 नवंबर गुरुवार, मार्गशीर्ष कृष्ण नवमी
  • 22 नवंबर शुक्रवार, मार्गशीर्ष कृष्ण दशमी
  • 23 नवंबर शनिवार, मार्गशीर्ष कृष्ण एकादशी
  • 28 नवंबर गुरुवार, मार्गशीर्ष शुक्ल द्वितीया
  • 30 नवंबर शनिवार, मार्गशीर्ष शुक्ल चतुर्थी

दिसंबर 2019 विवाह के शुभ मुहूर्त की तिथिया-

  • 7 दिसंबर शनिवार, मार्गशीर्ष शुक्ल एकादशी
  • 11 दिसंबर बुधवार, मार्गशीर्ष शुक्ल चतुर्दशी
  • 12 दिसंबर गुरुवार, मार्गशीर्ष शुक्ल पूर्णिमा

इन विवाह मुहूर्तों के बाद सीधे बसंत पंचमी के बाद ही अच्‍छे विवाह मुहूर्त निकलेंगे। फिलहाल विवाह के साथ-साथ अन्‍य मांगलिक कार्यों के लि शुभ मुहूर्त भी हैं। यह इस प्रकार हैं। इन छोटे-छोटे टिप्स को अपनाकर वेडिंग को बनाएं ईको-फ्रेंडली

नवंबर माह में शुभ तिथि और शुभ समय

  • 8 नवंबर - दिन - शुक्रवार - 12:24 से 3:42 तक
  • 9 नवंबर - दिन - शनिवार - 06:42 से 3:43 तक
  • 10 नवंबर - दिन - रविवार - 06:43 से 10:43 तक
  • 14 नवंबर - दिन - गुरुवार - 09:14 से 3:47 तक
  • 22 नवंबर - दिन - शुक्रवार - 09:01 से 3:53 तक
  • 23 नवंबर - दिन - शनिवार - 06:53 से 14:45 तक
  • 24 नवंबर - दिन - रविवार - 12:48 से 23:05 तक
  • 30 नवंबर - दिन - शनिवार - 18:04 से 3:00 तक

दिसंबर माह की शुभ तिथि और शुभ समय 

  • 5 दिसंबर - दिन - गुरुवार - 20:08 से 3:04 तक
  • 6 दिसंबर - दिन - शुक्रवार - 07:04 से 16:32 तक
  • 11 दिसंबर - दिन - बुधवार - 22:54 से 3:08 तक
  • 12 दिसंबर - दिन - गुरुवार - 07:08 से 3:19 तक