प्रधानमंत्री का आवास राजधानी दिल्‍ली के लुटियंस जोन के लोक जननायक मार्ग पर स्थित 7 नंबर बंगला है। इस आवास को आधिकारिक तौर पर पंचवटी कहा जाता है। वर्तमान में देश के 14वें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस आवास में रह रहे हैं। यह जगह देश की राजनीति की प्रमुख धुरी भी है। लेकिन क्या आपने कभी यह जानने की कोशिश की है कि प्रधानमंत्री आवास में क्या-क्या चीजें मौजूद हैं और ऐसी कौन-सी चीजें हैं जो इससे सबसे अलग बनाती हैं। आइए जानते हैं प्रधानमंत्री आवास और सुरक्षा से जुड़े कुछ रोचक तथ्यों के बारे में। 

आवास में एक नहीं पांच हैं बंगले

know about prime minister residence and protocol

भले ही प्रधानमंत्री के निवास को सात कल्याण मार्ग के नाम से जाना जाता है, लेकिन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पांच नंबर के बंगले में रहते हैं और उनका कार्यलय 7 नंबर बगंले में है। बंगला नंबर 9 में एसपीजी यानि स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप रहता है , जो प्रधानमंत्री की सुरक्षा के लिए जिम्मेदार है। साथ ही इसमें एक बड़ा टेनिस कोर्ट भी है। इसके अलावा बंगला नंबर 3 में मेहमानों के लिए गेस्ट हाउस बनाया गया है। साथ ही बंगला नंबर 1 में हेलीपैड भी है, जिसका इस्तेमाल 2003 से अब तक किया जा रहा है। 

ब्रिटिश आर्किटेक्चर ने बनाया था नक्शा 

प्रधानमंत्री आवास में रहने वाले सबसे पहले व्यक्ति राजीव गांधी थे। हालांकि, तब इस बंगले को सेवन आरसीआर यानी सेवन रेसकोर्स के नाम से पुकारा जाता था। लेकिन क्या आप जानते हैं कि इस आवास का नक्शा किसने तैयार किया था। 1920 और 1930 के दशक के दौरान जब दिल्ली का नक्शा तैयार किया जा रहा था, तब ब्रिटिश आर्किटेक्ट एडविन लुटियन की टीम में रॉबर्ट टॉर रसेल शामिल थे।

बता दें कि यह पूरी टीम दिल्ली का नक्शा तैयार कर रही थी। इस टीम के मेंबर रॉबर्ट टॉर रसेल ने ही प्रधानमंत्री आवास का नक्शा तैयार किया था। लेकिन वीपी सिंह के प्रधानमंत्री बनने के बाद ही उन्होनें इसे प्रधानमत्रिंयो के लिए सरकारी आवास घोषित किया था। इसी के बाद से सारे प्रधानमंत्री इस निवास में रहने लगे थे। 

इसे भी पढ़ें: क्या आप पहली महिला प्रधानमंत्री से जुड़ी ये 5 खास बातें जानते हैं

खुफिया सुंरग भी है

know about prime minister residence

आप लोग शायद इस बात से वाकिफ नहीं होंगे कि पीएम आवास में 2 किलोमीटर लंबी सुरंग भी है। यह सुरंग पीएम आवास को सफदरजंग हवाई अड्डे से जोड़ती है। यह सुरंग इसलिए बनवाई गई है ताकि प्रधानमंत्री के कहीं आने-जाने में किसी प्रकार की यातायात समस्या न आए और सुरक्षा भी बनी रहे। बता दें कि इस सुरंग का निर्माण साल 2010 में शुरू हुआ था और करीब 4 साल बाद जुलाई 2014 में यह बनकर पूरा हुआ। इसके अलावा इस सुरंग का इस्तेमाल करने वाले पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हैं। 

इसे भी पढ़ें: पीएम नरेंद्र मोदी के बारे में कितना जानती हैं आप?

Recommended Video

प्रधानमंत्री की सुरक्षा

know about prime minister residence in hindi

चूंकि प्रधानमंत्री की सुरक्षा के लिए कई तरह के प्रोटोकॉल बनाएं जाते हैं, जिनका उपयोग किसी औपचारिक समारोहों या विशेष स्थिती में किया जाता है। इसके लिए स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप बनाया गया है, जिसका प्रमुख सचिव होता है। यह व्यक्ति प्रधानमंत्री से संबंधित सभी गतिविधियों के लिए प्रोटोकॉल सेट करता है। साथ ही सुरक्षा से जुड़े विभिन्न पहलुओं में शामिल एजेंसियों को उनकी जिम्मेदारी भी बताता है। यह सभी चीजें ब्लू बुक में पहले से ही लिखी गई हैं। साथ ही इस बुक में प्रधानमंत्री से जुड़े हर तरह के सुरक्षा निर्देश दिए गए हैं। 

प्रधानमंत्री आवास में प्रवेश नहीं है आसान

प्रधानमंत्री के आवास की सुरक्षा इतनी कड़ी होती है कि यहां पर प्रवेश पाना बेहद ही मुश्किल है। हर व्यक्ति को एसपीजी की सिक्योरिटी प्रोसेस से गुजरना पड़ता है। आवास में जाने के लिए आपको 9 नंबर बंगले से जाना होगा। क्योंकि वहां जाने के लिए यह केवल एक ही रास्ता है। इसके बाद पार्किंग है और वेलकम रूम आता है। पूरी सुरक्षा जांच के बाद बंगला नंबर 7, 5, 3 और फिर 1 लोक कल्याण मार्ग जाते हैं।  इसके साथ ही प्रधानमंत्री के निजी सचिव एसपीजी को पहले से ही आवास में प्रवेश करने वाले लोगों के नाम की सूची भी दी जाती है। 

 

अगर आपको ये स्टोरी पसंद आई है तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही लेटेस्ट अपडेट जानने के लिए हमें कमेंट कर जरूर बताएं और जुड़े रहें हमारी वेबसाइट हरजिंदगी के साथ।

Image Credit: google.com