एक बच्चा चाहे कितना भी बड़ा क्यों ना हो जाए, लेकिन मां की नज़रों में वह हमेशा छोटा ही रहता है। ऐसे में मां हमेशा की तरह उसकी हर छोटी-छोटी चीजों का ख्याल रखती है और उसकी हर जरूरत को पूरा करने का प्रयास करती है। हालांकि वास्तविकता इससे काफी अलग होती है। मां के लिए भले ही उसका बच्चा अबोध रहे लेकिन वास्तविकता में वह जैसे-जैसे बड़ा होता है, उसका अपना एक व्यक्तित्व बनने लगता है और इसलिए उसे अपने एक पर्सनल स्पेस की जरूरत होती है। हो सकता है कि एक मां के लिए इसे समझ पाना या फिर स्वीकार करना कठिन हो कि अब उसका बच्चा बड़ा हो गया है और अब उसे उनकी उतनी जरूरत नहीं है, जितना कि पहले थी। हालांकि अगर आप सच में बच्चे का भला चाहती हैं तो यह बेहद जरूरी है कि आप इस बात को समझें और समय के साथ उसे अपना एक पर्सनल स्पेस दें ताकि वह खुद को एक्सप्लोर कर सके। तो चलिए आज हम आपको कुछ ऐसे ही संकेतों के बारे में बता रहे हैं, जो यह बताते हैं कि आपके बच्चे को अब एक पर्सनल स्पेस की जरूरत है-

अकेले समय बिताना

 personal space inside

जैसे-जैसे बच्चे बड़े होते हैं, उनके व्यवहार में भी परिवर्तन आने लगता है। हो सकता है कि अब वह अकेले समय बिताना ज्यादा पसंद करते हों। जब बच्चा छोटा होता है तो वह अक्सर अपने पैरेंट्स का साथ ढूंढता है, लेकिन उम्र बढ़ने के बाद वह अपना पर्सनल स्पेस चाहते हैं। ऐसे में वह लंबे समय तक अपने कमरे में रहते हैं और अपना दरवाजा बंद रखते हैं। यह संकेत है कि उन्हें अकेले समय चाहिए और कुछ प्राइवेसी चाहिए।

इसे जरूर पढ़ें: ऐश्‍वर्या राय बच्‍चन सहित इन 6 एक्‍ट्रेसेस ने बीच में छोड़ी थी अपनी पढ़ाई, जानें कारण

बेस्ट फ्रेंड बनाना और उनके साथ समय बिताना 

 personal space inside

जब बच्चा छोटा होता है तो वे अपना सारा समय परिवार के सदस्यों या फिर किसी जानकार के पास ही बिताते हैं। लेकिन जब बच्चे बड़े होते हैं तो बाहरी दुनिया में भी वे अपना बॉन्ड बनाते हैं। अपनी उम्र के बच्चों के साथ उनकी दोस्ती होती हैं और वे उनके साथ समय बिताना पसंद करते हैं। यह एक संकेत है कि अब बच्चे को अपना एक पर्सनल स्पेस चाहिए।

इसे जरूर पढ़ें: एक्ट्रेस दिव्या भटनागर के निधन से फूटा देवोलीना भट्टाचार्जी गुस्सा, पति पर लगाए गंभीर आरोप

अपनी बातों को बेहद कम शेयर करना

 personal space inside

जब बच्चे अपना पर्सनल स्पेस चाहते हैं तो ऐसे में अपने पैरेंट्स से सबकुछ शेयर नहीं करते। हो सकता है कि वह आपसे बेहद कम बातें ही शेयर करें। (रिलेशन में पर्सनल स्पेस बनाने के लिए रखें इन बातों का ध्यान) कभी-कभी आपको उनकी लाइफ में होने वाली चीजों के बारे में उनके सबसे अच्छे दोस्तों से जानकारी मिले। अगर ऐसा होता है तो आप उन्हें थोड़ा स्पेस देना शुरू करें। साथ ही उन्हें यह भी कहें कि वह आपको दोस्त मानकर अपनी सारी बातें शेयर कर सकते हैं। हालांकि इसके लिए उन पर किसी तरह का दबाव ना बनाएं।

बदलता व्यवहार

 personal space inside

बच्चों का बदलता व्यवहार भी अनजाने ही आपसे काफी कुछ कह जाता है। मसलन, अगर अब तक आप उन्हें सार्वजनिक जगहों पर गले लगाती होंगी या फिर उन्हें गले लगाती होंगी। लेकिन हो सकता है कि अब वह ऐसा करने से आपको रोकें या फिर आपसे कहें कि मम्मी बाल खराब हो जाएंगे। यह संकेत है कि अब आपका बच्चा बड़ा हो गया है।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit: freepik