भारत में जब भी पहलवानी का जिक्र होता है दारा सिंह का नाम जरूर लिया जाता है। पहलवानी से लेकर एक्टिंग और राजनीति के क्षेत्र में खास जगह बनाने वाले दारा सिंह का जन्मदिन 19 नवंबर को होता है। उनका पूरा नाम दारा सिंह रंधावा था। वह पहले ऐसे स्पोर्ट्स पर्सन थे, जिन्हें राज्यसभा में निर्वाचित किया गया था। यही नहीं ऑनस्क्रीन शर्ट उतारने का ट्रेंड भी दारा सिंह ने ही शुरू किया था। वहीं पहलवानी के क्षेत्र में उन्होंने कई इंटरनेशनल खिताब अपने नाम किए हैं। 

84 साल की उम्र में दुनिया को अलविदा कहने वाले दारा सिंह पांच सौ अधिक मुकाबलों में हिस्सा ले चुके हैं, लेकिन कभी हारे नहीं। उनकी शानदार पारी को देखते हुए उन्हें रुस्तम-ए-हिंद का खिताब दिया गया था। आइए जानते हैं उनकी लाइफ से जुड़ी कुछ दिलचस्प बातों के बारे में जिससे आप अब तक अंजान है।

दारा सिंह की जबरन हुई थी शादी

dara singh birthday

पहलवान बनने से पहले दारा सिंह खेतों में काम किया करते थे। घरवालों ने कम उम्र में ही जबरन उनकी शादी बचनो कौर से करवा दी थी। उस वक्त उनकी उम्र सिर्फ 14 साल थी और बचनो कौर उनसे काफी बड़ी थी। ऐसे में घरवालों को चिंता होती कि दारा कमजोर न निकल जाए, ऐसे में उनकी खुराक बढ़ा दी गई। दूध-दही के अलावा उनकी डाइट में अधिक मात्रा में बादाम को भी शामिल किया गया। बता दें कि दारा सिंह सिर्फ 17 साल की उम्र में पिता बन गए थे।

ऐसे बने थे पहलवान 

dara singh champion

दारा सिंह की हाइट 6 फीट दो इंच थी। वहीं, उनका वजन 132 किलो था। बहुत कम उम्र में ही कुश्ती करने के लिए उन्हें प्रोत्साहित किया गया था। पहले वह गांव के मेलों और समारोह में होने वाली कुश्ती में हिस्सा लिया करते थे। कुश्ती में उनकी शैली को पहलवानी कहा जाता, जो 100 सालों से भारतीय कुश्ती की पॉपुलर तकनीक है। फाइट में हिस्सा लेने के लिए दारा सिंह ने एशियाई देशों का दौरा किया था। साल 1947 में वह सिंगापुर गए थे, जहां उन्होंने तरलोक सिंह को हराया था, जिसके बाद उन्हें मलेशिया के चैंपियन का ताज पहनाया गया था। सिर्फ 26 साल की उम्र में दारा सिंह नेशनल रेसलिंग चैंपियन बन गए थे।

इसे भी पढ़ें:सर्दियों में बना रही हैं शादी का प्लान तो ये हैं भारत के 5 सबसे खूबसूरत वेडिंग डेस्टिनेश

 

हनुमान बनकर हुए थे पॉपुलर

dara singh hanuman

दारा सिंह ने हिंदी के अलावा कई पंजाबी फिल्मों में भी काम किया है। शुरुआती दिनों में वह फिल्मों में स्टंट मास्टर की भूमिका में काम करते थे, लेकिन धीरे-धीरे उन्होंने एक्टिंग की तरफ रुख किया। बतौर एक्टर उनकी पहली फिल्म संगदिल थी जो 1952 में रिलीज हुई थी। इसके अलावा सिकंदर ए-आजम, वतन से दूर, दारा, रुस्तम ए-बगदाद, शेर दिल जैसी कई फिल्मों में उन्होंने काम किया। फिल्मों में एक्टिंग करने के साथ-साथ वह टीवी शो में भी काम कर चुके हैं। पॉपुलर सीरियल रामायण में हनुमान का किरदार निभाकर उन्होंने काफी पॉपुलैरिटी हासिल की थी। 

इसे भी पढ़ें:इन वेडिंग थीम में से आपको कौन सी है पसंद

राजनीति में भी आजमाया हाथ

w w e dara singh

खेल, अभिनय के अलावा दारा सिंह ने राजनीति में भी हाथ आजमाया। देश के वे पहले ऐसे खिलाड़ी थी, जिन्हें राज्यसभा में निर्वाचित किया गया था। साल 2003 से लेकर 2009 तक भारतीय जनता पार्टी ने उन्हें राज्य सभा का सदस्य बनाया था। 

अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी है तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।