कुश्ती का खेल भारत में सदियों से खेला जा रहा है। अगर पुराणों को उठा कर देखा जाए तो पता चलता है कि कुश्ती का खेल रामायण और महाभारत काल से ही भारत में मल्लयुद्ध के नाम से प्रचलित था। जहां रामायण काल में बाली और सुग्रीव को सबसे वीर मल्ल योद्धा कहा गया, वहीं महाभारत काल में बलराम, भीम, दुर्योधन, जरासंध आदि कुछ ऐसे महावीर थे, जिन्हें मल्लयुद्ध में हराना एक चुनौती था। 

मगर भारत के इतिहास में और भी कई पहलवान हुए, जिनमें गामा पहलवान, दारा सिंह, टाइगर जीत सिंह, द ग्रेट खली, सुशील कुमार आदि का नाम भी स्वर्ण अक्षरों में लिखा गया है। मगर इन सभी नामों में एक भी नाम आपको किसी महिला का नहीं दिख रहा होगा। इसकी सबसे बड़ी वजह है कि कुश्‍ती को हमेशा से ही भारत में पुरुषों का खेल कहा गया है। मगर ऐसा नहीं है कि महिलाओं ने इस खेल में अपने हाथ नहीं आजमाए। 

महिलाओं ने कुश्ती के खेल में हाथ भी आजमाए और कई इतिहास भी रचे हैं। आप सोच रहे होंगे कि हम आज कुश्‍ती पर इतनी बात क्यों कर रहे? दरअसल, टोक्यो ओलंपिक में इस बार भारत से 4 महिला पहलवानों को भेजा गया है। इतना ही नहीं, हंगरी के बुडापेस्‍ट में हुई विश्व कैडेट कुश्‍ती  चैम्पियनशिप में 25 जुलाई 2021 को ही पहलवान प्रिया मलिक ने बेलारूस की पहलवान को 5-0 से पराजित कर स्वर्ण पदक अपने नाम कर लिया है। 

ऐसे में महिला कुश्ती में भारत का इतिहास और उपलब्धियां जानने का क्रेज तो आपको भी जरूर होगा, तो चलिए आज हम आपको भारतीय महिला पहलवानों के बारे में बताते हैं, जिनके नाम केवल देश में ही नहीं बल्कि विश्‍व स्‍तर पर मशहूर हैं। साथ ही हम आपको महिला कुश्ती में भारत को अब कितनी उपलब्धियां हासिल हो चुकी हैं? यह भी बताएंगे। 

इसे जरूर पढ़ें: Tokyo Olympics 2021: निशानेबाज राही सरनोबत के बारे में कुछ रोचक बातें जानें

भारत की होनहार महिला पहलवान 

indian  women  Wrestler

1. सोनिका कालीरमन-

जब भारत की महिला पहलवानों की बात होती है तो सोनिका कालीरमन का नाम भी हमेशा याद किया जाता है। कुश्‍ती में सोनिका ने करियर की शुरुआत 1998 में की थी। इसी वर्ष उन्होंने नेशनल रेसलिंग चैंपियनशिप में सिल्वर मेडल जीता था, साथ ही वह देश की पहली महिला पहलवान थीं जिन्हें एशियन गेम्स में हिस्सा लेने का मौका मिला था। वर्ष 2001 में सोनिका ने भारत केसरी का टाइटल भी जीता था और यह टाइट जीतने वाली वह पहली महिला पहलवान थीं। 

2. गीता फोगाट- 

गीता फोगाट भी भारत की एक होनहार महिला फ्रीस्टाइल पहलवान है। गीता भारत की पहली महिला पहलवान हैं, जिन्हें 2012 में ओलंपिक में हिस्सा लेने का मौका मिला था। इतना ही नहीं 2010 में राष्ट्रमंडल खेलों में गीता ने भारत के लिए गोल्ड मेडल जीता था और यह उपलब्धि अपने नाम कराने वाली वह पहली भारतीय महिला पहलवान थीं। 

इसे जरूर पढ़ें: Olympic Tokyo 2021: भारतीय महिला निशानेबाज अपूर्वी चंदेला के बारे में जानें ये 5 रोचक बातें

Olympics  indian  women  Wrestlers team

3. साक्षी मलिक- 

महिला पहलवानों में साक्षी मलिक का नाम बहुत ही शान से लिया जाता है। साक्षी ने ब्राजील के रियो डि जेनेरियो में वर्ष 2016 में हुए ओलंपिक में 58 किग्रा में ब्रॉन्ज मेडल जीता था। भारत के लिए ओलंपिक में मेडल जीतने वाली वह पहली महिला पहलवान थीं। 

टोक्यो ओलंपिक में महिला कुश्ती दल की डिटेल 

Olympics  indian  women  Wrestler vinesh phogat

1. विनेश फोगाट- 

लीडिंग स्‍पोर्ट्स वेबसाइट 'द ब्रिज' के अनुसार विश्व रैंकिंग में विनेश फोगाट का 53 किग्रा भार में स्थान नंबर-1 है। वर्ष 2019 में विश्‍व कुश्‍ती चैंपियनशिप में ब्रॉन्ज जीत कर विनेश ने टोक्यो ओलंपिक में अपना स्थान पक्का कर लिया था। इसके अलावा एशियन चैंपियनशिप में वह 1 गोल्‍ड मेडल, 3 सिल्‍वर मेडल और 4 ब्रॉन्ज मेडल जीत चुकी हैं।

2. सीमा बिस्ला-

एक लीडिंग वेबसाइट की रिपोर्ट के अनुसार विश्व रैंकिंग में सीमा बिस्ला का 50 किग्रा भार में स्थान नंबर-7 है। ओलंपिक्‍स डॉट कॉम के मुताबिक टोक्यो ओलंपिक में अपना स्थान पक्का करने के लिए सीमा ने बुल्गारिया के सोफिया में आयोजित विश्व ओलंपिक खेलों के क्वालीफायर राउंड में पहुंच कर पोलैंड की अन्‍ना लुकासीक को हराया था। 

Olympics  indian  women  Wrestler anshu malik

3. अंशु मलिक-

लिविंग स्पोर्ट्स वेबसाइट 'द ब्रिज' के अनुसार विश्व रैंकिंग में अंशु मलिक का 57 किग्रा में स्‍थान नंबर-3 है। अंशु मलिक ने वर्ष 2021 में अल्माटी में हुए एशियाई ओलंपिक क्वालीफायर्स कुश्‍ती चैम्पियनशिप में गोल्‍ड जीत कर टोक्यो ओलंपिक में अपना स्थान पक्का किया था। 

4. सोनम मलिक-

62 किग्रा भार वर्ग में इस बार भारत की ओर से टोक्यो ओलंपिक में सोनम मलिक को हिस्सा लेने का अवसर दिया गया है। हालांकि वर्ल्‍ड रैंकिंग में टॉप-10 में सोनम मलिक का नाम अभी नहीं आता है। इस टोक्यो ओलंपिक में भारतीय कुश्ती दल की सबसे युवा खिलाड़ी सोनम ही हैं। सोनम ने विश्व कैडेट कुश्ती चैम्पियनशिप में 2 गोल्‍ड मेडल जीते हैं। 

टोक्यो ओलंपिक में महिला कुश्ती के खेल का शेड्यूल-  

  • 3 अगस्त- महिला फ्रीस्टाइल कुश्ती 62  किग्रा क्वार्टर फाइनल राउंड 
  • 3 अगस्त- महिला फ्रीस्टाइल कुश्ती 62  किग्रा सेमी फाइनल मैच 
  • 4 अगस्त- महिला फ्रीस्टाइल कुश्ती 62  किग्रा फाइनल मैच 
  • 4 अगस्त- महिला फ्रीस्टाइल कुश्ती 57 किग्रा क्वार्टर फाइनल राउंड 
  • 4 अगस्त- महिला फ्रीस्टाइल कुश्ती 57 किग्रा सेमी फाइनल मैच 
  • 5 अगस्त- महिला फ्रीस्टाइल कुश्ती 57 किग्रा फाइनल मैच 
  • 5 अगस्त- महिला फ्रीस्टाइल कुश्ती 53 किग्रा सेमी फाइनल मैच 
  • 6 अगस्त- महिला फ्रीस्टाइल कुश्ती 53 किग्रा ब्रॉन्ज मेडल मैच 
  • 6 अगस्त- महिला फ्रीस्टाइल कुश्ती 53 किग्रा फाइनल मैच 
  • 6 अगस्त- महिला फ्रीस्टाइल कुश्ती 50 किग्रा क्वार्टर फाइनल राउंड 
  • 6 अगस्त- महिला फ्रीस्टाइल कुश्ती 50 किग्रा सेमी फाइनल मैच 
  • 7 अगस्त- महिला फ्रीस्टाइल कुश्ती 50 किग्रा फाइनल मैच 

उम्मीद है महिला कुत्ते से जुड़ी यह जानकारी आपको रोचक लगी होगी। इसी तरह टोक्यो ओलंपिक से जुड़ी और भी बातें जानने के लिए पढ़ती रहें हरजिंदगी।