नौकरी लगते ही, सबसे पहले दिमाग में सेविंग्स ही आता है। लेकिन जिनकी नौकरी कम है, वो कैसे बचत करें। महिलाओं को अक्सर यह शिकायत होती है कि तमाम चीजों पर खर्चा होने के बाद उनके हाथ में पैसा बचता ही नहीं। लेकिन कुछ भी सेविंग्स तो जरूरी हैं। किसी मुश्किल समय के लिए आपके पास कुछ पैसा इकट्ठा होना ही चाहिए। मगर कम सैलरी और ज्यादा खर्चों के बीच अपने वित्त को संभालना थोड़ा कठिन लग सकता है। आपकी सैलरी कितनी भी हो, लेकिन आप कुछ चीजों की मदद से धीरे-धीरे काफी सेविंग कर सकती हैं। कैसे?आइए जानेें।

बजट रखें

make budget

एक बजट तैयार करना और वास्तव में उस पर टिके रहना वाकई में महत्वपूर्ण है। इससे आपको पता चलता है कि आपके पास कितना पैसा है और आपने कितना पैसा खर्च किया है। अगर आप बजट नहीं बना सकती, तो आप कभी भी अपने फाइनेंस पर नियंत्रण नहीं कर पाएंगी। इसलिए, अपने लिए एक बजट बनाएं और उस पर टिके रहने की कोशिश करें। 

अपनी जरूरतों को क्लासीफाई करें

make your needs

अगर आप तनख्वाह मिलने से पहले हीअपना पैसा बांट कर रख देंगी, तो आपको अपने बजट पर रहना आसान हो जाएगा। अलग-अलग चीजों के लिए पैसे आवंटित करने की एक स्ट्रॉन्ग स्ट्रैटेजी बनाएं और उसके हिसाब से काम करें। उदाहरण के लिए, अब यह पहले ही प्लान कर सकती हैं कि आपकी सैलरी का 20 प्रतिशत आप इंवेस्ट करेंगी और बचाने की कोशिश करेंगी। 50 प्रतिशत आपके किराए, बिल और अन्य जरूरी चीजों पर चला जाएगा और बचा हुआ 30 प्रतिशत आप अपने खर्चे के लिए रख सकती हैं। लेकिन यह स्ट्रैटेजी आप अपनी जरूरतों के हिसाब से बनाएं और उनके हिसाब से ही सारे पैसे को आवंटित करें।

इसे भी पढ़ें :इन टिप्स की मदद से समय और चीज़ों की बर्बादी बचाएं

मुश्किल समय के बचाएं पैसा

save money

हममें से अधिकांश को इमरजेंसी फंड के बारे में जानकारी ही नहीं होती। और अगर होती भी है, तो हम इस पर ध्यान ही नहीं देते। हमें लगता है कि इसकी हमें क्या जरूरत। मगर हमें यह समझना चाहिए कि कल के बारे में हम आज नहीं सोच सकते। जीवन अनिश्चितताओं से भरा है। आप कभी नहीं जान सकते कि आपको कब  इमरजेंसी फंड की जरूरत पड़ जाए। वैसे तो आपको अपनी तीन महीने की सैलरी को सेविंग अकाउंट में इमरजेंसी फंड के तौर पर रखना चाहिए। लेकिन अगर आपकी सैलरी कम है, या शुरू में पैसा बचाने में मुश्किलें आ रही हैं, तो धीरे-धीरे कम प्रतिशत से शुरुआत करें। 

इसे भी पढ़ें :पार्टनर से मनी टॉक करते समय इन छोटी-छोटी बातों को ना करें नजरअंदाज

Recommended Video

सोच समझकर इंवेस्ट करें

invest money

अगर आप इंवेस्ट करने के बारे में सोच रही हैं, तो इस बात को जानना बेहद जरूरी है कि आपका पैसा कब और कहां जा  रहा है। और उससे आपको कितना फायदा मिलेगा। बाजार को देखकर ही बंद आंखों से इंवेस्ट न करें। पहले शेयर मार्केट की बारीकियां सीखें और फिर निवेश करें। क्रिप्टोकरेंसी के चलन को देख या फिर बढ़े हुए शेयर मार्केट को देख पैसा निवेश करने से बचें। पहले अपना समय यह समझने के लिए निवेश करें कि यह क्या है, देखें कि यह क्या है? आपको यह पसंद आया कि नहीं और अगर आपको यह पसंद है तो ही इसमें निवेश करें।

बीमा करना है आवश्यक

policy is important

ज्यादातर युवा लोग बीमा को गंभीरता से नहीं लेते हैं। मेरा मानना है कि हर किसी के पास अपनी बीमा पॉलिसी होनी चाहिए। अगर आपको भविष्य में किसी स्वास्थ्य समस्या या किसी परेशानी का सामना करना पड़ता है तो यह आपकी बैकअप योजना है। हम समझौता करने का जोखिम नहीं उठा सकते हैं। हमारा स्वास्थ्य और एक चिकित्सा आपात स्थिति के दौरान अपनी मेहनत की कमाई खर्च करना या किसी से उधार लेना आपकी समस्याओं को बढ़ा सकता है। सुनिश्चित करें कि आप उन सभी महंगी चीजों के लिए बीमा लें जो आपको अनिश्चित परिस्थितियों से खुद को बचाने के लिए हैं।

अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया हो तो इसे लाइक और शेयर करें। अन्य आर्टिकल पढ़ने के लिए जुड़ी रहें हरजिंदगी के साथ।

 

Image Credit : freepik images