हिंदू धर्म के लोग सालभर कई त्‍यौहार मनाते हैं, मगर इन त्‍यौहारों कि शुरुआत हमेशा हिंदी कैलेंडर के पहले महीने चैत्र से होती है। चैत्र माह के शुक्‍ल पक्ष के दिन हिंदू धर्म को मानने वाले लोग नव वर्ष मनाते हैं और इसी दिन से शुरू होती हैं नवरात्र। वैसे तो सालभर में दो गुप्‍त नवरात्र, चैत्र नवरात्र और शारदीय नवरात्र आती हैं। चैत्र के महीने में पड़ने वाली नवरात्र को चैत्र नवरात्र कहा जाता है। 

हिंदू कैलेंडर के हिसाब से यह साल का पहला त्‍यौहार होता है, जो 9 दिन तक मनाया जाता है। उज्‍जैन के पंडित कैलाश नारायण कहते हैं, ' चैत्र का महीना बेहद शुभ होता है क्‍योंकि इस माह में कई धार्मिक गतिविधियां हुईं है और इसलिए इस महीने में कई त्‍यौहार आते हैं, उनमें से सबसे महत्‍वपूर्ण त्‍यौहार नवरात्र का होता है।'

इतना ही नहीं, पंडित जी इस नवरात्र कलश स्‍थापना का शुभ मुहूर्त, महत्‍व, विशेष योग और राशिफल भी बताते हैं- 

Chaitra  Navratri    Puja  Vidhi

चैत्र नवरात्र 2021 में कलश स्‍थापना का शुभ मुहूर्त 

वर्ष 2021 में चैत्र नवरात्र 13 अप्रैल से आरंभ हो रही हैं और यह 21 अप्रैल तक मनाई जाएंगी। 13 अप्रैल को ही आप घट स्‍थापना कर सकते हैं। इसके लिए शुभ मुहूर्त सूर्यदय से लेकर सुबह 8:46 तक रहेगा। यदि आप नवरात्र में कलश स्‍थापना करते हैं तो इसकी तैयारी आप एक दिन पूर्व ही कर सकते हैं और घट स्‍थापना के वक्‍त केवल कलश पूजन कर लें।  

इसे जरूर पढ़ें: Astro Tips: चैत्र के महीने में करेंगे ये 5 काम तो बन जाएंगे धनवान

चैत्र नवरात्र का महत्‍व जानें 

भारत में शारदीय नवरात्र की तरह ही चैत्र नवरात्र को भी धूमधाम से मनाया जाता है। पंडित जी कहते हैं, ' चैत्र के महीने में देवी दुर्गा का अवतरण हुआ था। इस माह में ही ब्रह्मा जी ने सृष्टि की रचना की थी। इतना ही नहीं, जगतपिता भगवान विष्‍णु के प्रथम मत्स्य अवतार का जन्‍म भी चैत्र के महीने में ही हुआ था। चैत्र नवरात्र के 9वें दिन रामनवमी का पर्व मनाया जाता है। इस दिन भगवान विष्‍णु के 7वें अवतार भगवान श्रीराम का जन्‍मदिन होता है।'

चैत्र नवरात्र 2021 की विशेषता जानें 

देवी दुर्गा का प्रमुख वाहन शेर है। मगर माता वार के हिसाब से अपने वाहन बदलती रहती हैं। मंगलवार के दिन देवी दुर्गा का वाहन घोड़ा होता है। इस बार नवरात्र मंगलवार के दिन से शुरू हो रही हैं। इसलिए देवी दुर्गा भी घोड़े पर सवार हो कर आ रही हैं। घोड़ा युद्ध का संकेत होता है, इसलिए इस नवरात्र को बहुत अधिक शुभ नहीं कहा जा सकता है।

Ghatasthapana  muhura 

चैत्र नवरात्र 2021 का राशिफल 

मेष- इस नवरात्र आर्थिक स्थिति मजबूत होगी। अधिकारियों से सहयोग प्राप्‍त होगा। सेहत का ध्‍यान जरूर रखें।

वृषभ- धन लाभ के योग हैं। कार्यक्षेत्र में तरक्‍की होगी। मकान खरीदने में रुकावटें आ सकती हैं। 

मिथुन- सेहत कमजोर रहेगी। काम में मन नहीं लगेगा। परिवार के सदस्‍यों से नोक-झोक हो सकती है। 

कर्क- जीवनसाथी के साथ मनमुटाव हो सकता है। कार्यक्षेत्र में भी अधिकारियों से बहस हो सकती है। नवरात्र के अंतिम दिन शुभ समाचार मिलेगा। 

सिंह- व्‍यापारियों को लाभ मिलेगा। धन कमाने के नए अवसर प्राप्‍त होंगे। सेहत से जुड़ी समस्‍याएं बनी रहेंगी। 

कन्‍या- व्‍यर्थ का तनाव न लें। कार्यक्षेत्र में स्थितियां आपके पक्ष में होंगी। आर्थिक तंगी महसूस कर सकते हैं।

तुला- संतान की तरफ से जो परेशानियां आप महसूस कर रहे हैं वह दूर हो जाएंगी। नए काम की तलाश वालों को नौकरी मिलेगी। व्‍यापारियों के काम में अधिकता रहेगी।

इसे जरूर पढ़ें: Vastu Expert Tips: इन चीजों का फर्श पर गिरना होता है अशुभ

Recommended Video

 

वृश्चिक- आलस्‍य की वजह से आपके बनते काम बिगड़ जाएंगे। भाई-बहन की तरफ से आपको परेशानियों का समना करना पड़ सकता है। 

धनु- परिवार के साथ मिल कर रहने में ही आपकी भलाई है। कार्यक्षेत्र में स्थिति सामान्य बनी रहेगी। धन लाभ हो सकता है। 

मकर- जमा-पूंजी में वृद्धि होगी। काम की अधिकता के कारण शारीरिक और मानसिक तनाव रहेगा। 

कुंभ- धन संबंधित समस्‍याएं दूर हो जाएंगी। कार्यक्षेत्र में अपने अधिकारियों से मेल-जोल बढ़ाएं। अपनी सेहत का भी ध्‍यान रखें। 

मीन- अपनी आय और आर्थिक स्थितियों को लेकर मन में तनाव बना रहेगा। हो सकता है कि आपका मन लक्ष्‍य से भटक जाए। 


यह लेख आपको अच्‍छा लगा हो तो इसे शेयर और लाइक जरूर करें और साथ ही इसी तरह के और भी आर्टिकल्‍स पढ़ने के लिए जुड़ी रहें हरजिंदगी से। 

Image Credit: Freepik